नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। अगर बैंक से जुड़ा आपका कोई काम हो तो उसे निपटा लें, क्योंकि इस महीने के आखिरी सप्ताह में बैंक चार दिन लगातार बंद रहेंगे। दरअसल, 26 और 27 सितंबर को विभिन्न मांगों को लेकर बैंक कर्मचारी हड़ताल पर रहेंगे। इस दौरान बैंक बंद रहेंगे। 28 सितंबर को महीने का चौथा शनिवार होने से बैंक नही खुलेंगे। जबकि 29 सितंबर को रविवार की छुट्टी है। इस तरह लगातार चार दिन बैंक बंद रहेंग। 30 सितंबर को बैंक की हाफ इयरली क्लोजिंग है। इस दिन बैंक खुलेगा, लेकिन कामकाज और नकद लेनदेन नहीं होंगे। वहीं, 1 अक्टूबर को बैंक से जुड़े कार्य तो होंगे, लेकिन 2 अक्टूबर को गांधी जयंती होने की वजह से बैंक में ताले लटके रहेंगे।

हड़ताल को केंद्रीय ट्रेड यूनियन का समर्थन

केंद्रीय ट्रेड यूनियन ऑल इंडिया ट्रेडर्स यूनियन कांग्रेस ने बैंकों के विलय के खिलाफ बैंक ऑफिसर्स यूनियन्स की दो दिन की प्रस्तावित हड़ताल के समर्थन का शुक्रवार को एलान किया है। एआटीयूसी ने बयान जारी कर कहा है कि बैंकों के मर्जर के जरिए सरकार का लक्ष्य निजी क्षेत्र के बैंकों के लिए अवसर पैदा करना है और संगठन इसके खिलाफ है।

श्रमिक संगठन की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि दस बैंकों का विलय कर चार बैंक बनाने की सरकारी की घोषणा के बाद से आम लोग एवं बैंक अधिकारी और कमर्चारी इस फैसले का विरोध कर रहे हैं। एआईटीयूसी ने इस बात की ओर इशारा किया है कि अब तक के दो मर्जर से किसी तरह का ठोस फायदा नहीं हुआ है क्योंकि फंसे हुए कर्ज में कोई कमी नहीं आई है।

10 सरकारी बैंकों का मेगा मर्जर

30 अगस्त 2019 को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 10 सरकारी बैंकों के मेगा मर्जर (विलय) की घोषणा की थी। 10 बैंकों का विलय कर चार बैंक बनाए गए हैं। पंजाब नेशनल बैंक (PNB), ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स (OBC) और यूनाइटेड बैंक का विलय किया गया है। यूनियन बैंक ऑफ इंडिया, आंध्रा बैंक और कॉर्पोरेशन बैंक को एक में मिलाकर देश का पांचवां सबसे बड़ा बैंक बनाया गया है। इंडियन बैंक और इलाहाबाद बैंक का विलय कर देश का सातवां सबसे बड़ा बैंक बनाया गया है। केनरा बैंक और सिंडिकेट बैंक का विलय कर इसे देश का चौथा सबसे बड़ा बैंक बनाया गया है।

Posted By: Nitesh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप