नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। एक्सिस बैंक ने अपने खाताधारकों को एक बड़ा झटका दिया है। अगर आपका खाता भी इस बैंक में है तो ये खबर पूरी पढ़ लीजिए, क्योंकि एक्सिस बैंक ने 1 जून 2022 से सेविंग अकाउंट पर लगने वाले सर्विस चार्ज को बढ़ा दिया है। अकाउंट में मिनिमम बैलेंस मेंटेन न करने पर अब आपको भारी कीमत चुकानी पड़ेगी। नए चार्जेस में बैलेंस को मेंटेन करने के लिए मंथली सर्विस फीस भी है। वहीं, NACH (National Automated Clearing House) के तहत ऑटो डेबिट फेल होने पर लगने वाला चार्ज 1 जुलाई से लागू होगा। इसके अलावा एडिशनल चेक बुक पर भी आपसे चार्ज वसूला जाएगा। तो आइए जानते हैं नए नियम...

बदल गए ये नियम

एक्सिस बैंक ने चेकबुक की फीस को 75 रुपये से बढ़ाकर 100 रुपये कर दिया है। चेक बुक की कीमत अब प्रति चेक 2.50 रुपये से 4 रुपये तक बढ़ा दी है। वहीं, बैंक ने सेमी अर्बन और ग्रामीण एरिया में औसत मासिक राशि सभी तरह के सेविंग अकाउंट पर बढ़ा दी है। सेमी अर्बन शहरों में न्यूनतम बैलेंस 15 हजार रुपये से बढ़ाकर 25 हजार रुपये या 1 लाख रुपये का टर्म डिपॉजिट कर दिया है। वहीं, लिबर्टी सेविंग अकाउंट में भी 15 हजार रुपये से बढ़ाकर 25 हजार रुपये कर दिया है। ईजी एंड इक्विवेलेंट, प्राइम, लिबर्टी, कृषि, किसान, सीनियर प्रिविलेट और प्रीमियम सेगमेंट के तहत सभी घरेलू और अनिवासी खातों के लिए चार्ज को 7.5 प्रतिशत कर दिया है।

मिनिमम बैलेंस मेंटेन न करने पर लगेगा नया चार्ज

आपको बता दें कि अकाउंट में मिनिमम बैलेंस मेंटेन न करने पर अब नया चार्ज देना होगा। इसके लिए अब मेट्रो/अर्बन वालों को 600 रुपये, सेमी अर्बन को 300 रुपये व ग्रामीण क्षेत्र में 250 रुपये चार्ज देना होगा।

1 जुलाई से लागू होगा ये नया नियम

एक्सिस बैंक ने एनएसीएच (NACH) की फीस रिवाइज कर 500 रुपये कर दी है। इससे पहले पहली बार रिटर्न होने पर 375 रुपये, दूसरी बार 425 रुपये और तीसरी बार रिटर्न होने पर इसे 500 रुपये फिक्स कर दिया गया है। पहले ऑटो डेबिट फेल होने पर पहले 200 रुपये था, इसे 50 रुपये बढ़ाकर 250 रुपये कर दिया है। ये नियम 1 जुलाई 2022 से लागू होंगे।

Edited By: Sarveshwar Pathak