नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। बढ़ती महंगाई पर लगाम लगाने के लिए आरबीआई ने अपने ब्याज दरों में वृद्धि की है। आज शुक्रवार को आरबीआई ने ब्याज दरों में 50 आधार अंकों की वृद्धि कर दी है, जिससे रेपो रेट 4.90 फीसद से बढ़कर 5.40 हो गया है। उम्मीद जताई जा रही है कि बैंकों द्वारा भी जल्द ही ब्याज दरों में वृद्धि की जा सकती है। अगर ऐसा होता है तो होम लोन और ऑटो लोन जैसे बैंकिंग लोन महंगे हो जाएंगे। आइए जानते हैं कि ऐसा होने पर आपकी ईएमआई पर कितना प्रभाव पड़ेगा।

आपकी ईएमआई पर कैसे पड़ता है सीधा प्रभाव?

आरबीआई जब भी रेपो रेट में बढ़ोतरी करता है, तो इसका सीधा प्रभाव बैंकों पर पड़ता है और बैंक भी अपने इंटरेस्ट रेट में बढ़ोतरी करने लगते हैं, जिसका सीधा प्रभाव उन लोगों पर पड़ता है, जिन्होंने बैंक से लोन ले रखा है, क्योंकि रेपो रेट बढ़ने के बाद सभी तरह के लोन महंगे होने की ज्यादा संभावना होती है।इसका सीधा असर आपकी ईएमआई पर पड़ता है। इसीलिए, आज हम यहां आपको बताने वाले हैं कि बैंक होम लोन महंगा होने के बाद आपकी ईएमआई पहले के तुलना में कितनी बढ़ जाएगी।

अगर आप 20 से 30 साल की अवधि के लिए होम लोन लेते हैं, तो उसकी राशि भी काफी भारी-भरकम होती है। उदाहरण के लिए मान लीजिए कि किसी बैंक के होम लोन की ब्याज दरें 7.60 से 8.45 फीसद के बीच हैं और रेपो रेट में अगर 50 आधार अंकों की बढ़ोतरी होती है और उसके बैंक लोन की ब्याज दर में भी 50 आधार अंकों की या 0.50 फीसद की बढ़ोतरी होती है, तो इसकी ब्याज दर 8.10 से 8.95 फीसद तक हो जाएंगी, जो पहले 7.60 फीसद से 8.45 फीसद थी। ऐसे में आपको नई ब्याज दर के मुताबिक अपनी ईएमआई भरनी होगी। इसका मतलब है कि आपको ब्याज के नाम पर पहले से ज्यादा पैसा चुकाना पड़ेगा।

Edited By: Sarveshwar Pathak