नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। देश की अग्रणी पेंट कंपनियों में शुमार एशियन पेंट्स कोविड-19 के इस समय में हेल्थ और हाइजिन सेग्मेंट भी नए और इनोवेटिव प्रोडक्ट्स पेश करने की दिशा में काम कर रही है। जागरण न्‍यू मीडिया के #NayaBharat सीरीज में कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अमित सिंगले ने बताया कि लोगों को सुरक्षित पेंटिंग का अनुभव देने के लिए सेफ पेंटिंग कंपेन चला रही है। इसके अलावा कंपनी ने 'सैन एश्योर' सेवा भी शुरू की है। इस सेवा के तहत कंपनी लोगों को घर, दुकान और ऑफिस इत्यादि सैनेटाइज करने की सुविधा उपलब्ध करा रही है। कंपनी ने 'रॉयल हेल्थ शील्ड' नाम से एक एंटी-बैक्टीरियल पेंट भी पेश किया है और सिंगलेे के मुताबिक पिछले दो साल से इसकी काफी अधिक मांग देखने को मिल रही है।

पेश है #NayaBharat सीरीज के तहत एशियन पेंट्स के सीईओ अमित सिंगले (Amit Syngle) से जागरण न्यू मीडिया के सीनियर एडिटर (न्यूज) प्रत्यूष रंजन से बातचीत के संपादित अंश :

प्रश्नः कोविड का समय चल रहा है। पहली तिमाही निकल गई है, दूसरी तिमाही चल रही है। आपकी नजर में बाजार की क्या स्थिति है और भारतीय अर्थव्यवस्था पर क्या असर पड़ा है? हम किस प्रकार इस समय से आगे निकलकर आएंगे?

उत्तरः पहली तिमाही काफी असाधारण रही। हमने कभी सोचा भी नहीं था कि यह तिमाही ऐसे रहने वाली है। पूरा अप्रैल का महीना वॉश आउट हो गया क्योंकि हम मार्च से ही लॉकडाउन में थे। हालांकि, मई में हमने देखा कि काफी डिमांड थी मार्केट में और इस वजह से हम अच्छा बिजनेस कर पाए, खासकर टीयर-3 और टीयर-4 शहरों में। पिछले साल मई के मुकाबले इस साल मई में हमारा बिजनेस 80 फीसद के आसपास रहा। जून में लोग कोविड को लेकर थोड़ा सहज हुए, तो कुछ नई डिमांड निकलकर सामने आई। ये डिमांड मुख्य रूप से टीयर-2, टीयर-3 और टीयर-4 के शहरों से निकलकर आई। इसके लिए हमने कई तरह की चीजें भी की। इसी क्रम में हमने 'सेफ पेंटिंग कंपेन' भी किया, जिससे हम ग्राहक के दिमाग से डर निकाल सकें कि ताकि वे घर में पेंटर्स और कॉन्ट्रैक्टर्स को लेकर आ सकते हैं। तो हम देखें तो जून का महीना अच्छा रहा और हमने लगभग दोहरे अंकों में वॉल्यूम ग्रोथ हासिल किया। तिमाही आधार पर देखें तो हम कहेंगे कि पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही के मुकाबले हमने इस साल लगभग 60-65 फीसद तक की बिक्री की। हमारी यही सोच है कि अगर कोविड का कहर आने वाले समय अगर हमें थोड़ी राहत देता है और परिस्थितियां नियंत्रण में आती हैं तो निश्चित रूप से यह वृद्धि आगे भी जारी रहनी चाहिए।

प्रश्नः एशियन पेंट्स की सेफ पेंटिंग सर्विस घर और पर्यावरण के लिहाज से कितने सुरक्षित हैं?

उत्तरः आज के समय में लोगों के मन में डर है। वे यह सोचते हैं कि जो लोग बाहर से घर में आएंगे और हमारे घर को पेंट करेंगे, वह कितना सुरक्षित होगा। सेफ पेंटिंग कंपेन के जरिए सबसे पहले हम उस डर को हम दूर करते हैं क्योंकि जो पेंटर और कॉन्ट्रैक्टर्स आते हैं, वे पूरी तरह से एशियन पेंट्स की ओर से प्रशिक्षित हैं। वे लोग पूरे उपकरण और सेफ्टी प्रोसिजर के साथ आते हैं। इसके तहत वो मास्क, फेस शील्ड या ग्‍लव्‍स और सेनिटाइजर्स के साथ आते हैं और हर दिन आपको विश्वास दिलाते हैं कि वे जो काम कर रहे हैं, वो पूरी तरह से सेफ है और आपको इस बात की चिंता करने की जरूरत नहीं है कि आपके घर में किसी भी प्रकार से वायरस आ सकता है। सेफ पेंटिंग सर्विस दिमाग से वायरस को लेकर भय निकालती है। यह एशियन पेंट्स का ब्रांड प्रॉमिस है।

यह पर्यावरण के लिहाज से भी बिल्कुल सुरक्षित है क्योंकि ज्यादातर इसमें सेफ्टी उपकरणों का उपयोग होता है। हम कई प्रकार के एंटी-बैक्टीरियल पेंट करते हैं या सेनेटाइजेशन करते हैं, वो भी सेफ है, क्योंकि उसमें कोई ऐसी चीज नहीं है जो पर्यावरण को नुकसान पहुंचा रही है।

इस तरह की खबरें आई थी कि एशियन पेंट्स हेल्थ और हाइजिन सेक्टर में भी प्रवेश कर रहा है। क्या इस संदर्भ में आप किसी तरह की जानकारी देना चाहेंगे?

उत्तरः हेल्थ और हाइजिन सेक्टर में हम पिछले दो-तीन साल से काम कर रहे हैं। हमारा पहले से एक प्रोडक्ट है 'रॉयल हेल्थ शील्ड।' यह एक एंटी-बैक्टीरियल पेंट है। पिछले दो साल से इस प्रोडक्ट का काफी प्रचलन रहा है। कोविड आने के बाद स्वास्थ्य मंत्रालय और मिनिस्ट्री ऑफ केमिकल्स के कहने पर हमने सैनिटाइजर्स भी मार्केट में उतारे। इनमें हमने कई इनोवेटिव प्रोडक्ट रखे- हैंड सैनिटाइजर, सैनिटाइजर स्प्रे, डिसइन्फैक्ट सैनिटाइजर। काफी अलग-अलग तरह के हमने प्रोडक्ट रखे ताकि हम कस्टमर्स को सेफ्टी को लेकर आश्वस्त कर सकें। इसके साथ-साथ ही हमने सैनिटाइजेशन की सर्विस शुरू की, जिसका नाम है 'San Assure', इस सर्विस के जरिए आप अपनी दुकान या ऑफिस इत्यादि को सैनिटाइज करा सकेंगे। हाल में हमने एक नया प्रोडक्ट लांच किया है, जिसका नाम है 'रॉयल हेल्थ शील्ड क्लियर।' इस क्षेत्र में कई कंपनियां काम कर रही हैं और आने वाले समय में यह कैटेगरी काफी महत्वपूर्ण रहने वाली है।

प्रश्नः मौजूदा परिस्थितियों में एशियन पेंट्स अपने डीलर्स की मदद कैसे कर रहा है?

उत्तरः हम हमेशा से अपने विक्रेताओं, रिटेलर्स को पार्टनर मानते रहे हैं। जैसे-जैसे जिस शहर में लॉकडाउन खुलता है, हम अपने डीलर्स की दुकान को फ्री में सैनिटाइज करते हैं। इससे डीलर्स और उनके यहां काम करने वाले लोगों को सेफ्टी का अहसास होता है। हमने उनको नया क्रेडिट लेयर भी दिया है ताकि एकदम से अगर मार्केट में घुसना है और पैसे की थोड़ी तकलीफ है तो वो थोड़ा क्रेडिट का भी सहारा ले सकते हैं। काफी जगहों पर काफी विक्रेताओं के यहां काम करने वाले लोगों को भी हमने इंश्योरेंस की सुविधा दी है। इससे वे इस बात को लेकर आश्वस्त रहते हैं कि कोई भी ऐसी परिस्थिति आती है तो एक मेडिकल इंश्योरेंस उनके साथ है। इसी तरह हमने उनको बिजनेस लीड्स भी दिए हैं ताकि उन्हें लगे कि उनका बिजनेस आगे बढ़ रहा है। यह चलते रहने वाली प्रक्रिया है जो एशियन पेंट्स कर रही है। मौद्रिक तरीके से भी हमने कई रिटेलर्स की मदद की है। हमारा मानना है कि यह लगातार चलते रहने वाली चीज है, जो आगे भी जारी रहेगी।

प्रश्नः पेंट्स कंपनियां बड़े पैमाने पर नई टेक्नोलॉजी का भी सहारा ले रही हैं। एशियन पेंट्स इस तरह के फील्ड में किस तरह के कदम उठा रहा है, जो आने वाले समय में आपको और कंज्यूमर को मदद पहुंचा सकता है?

उत्तरः सबसे पहले इंडस्ट्री लीडर के तौर पर हमारी यह कोशिश है कि जो पेंटिंग का प्रोसेस है, उसमें टेक्नोलॉजी की मदद से हम मेकेनाइजेशन लेकर आएं। हमने काफी तरह के मेकेनाइज्ड टूल्स मार्केट में रखे हैं, जो कि आज तक मार्केट में नहीं थे। इस कड़ी में आप स्प्रेयर्स को देख सकते हैं। यह स्प्रे करने का मैकेनाइज्ड तरीका है। इसी तरह हमने सैंडिंग मशीन पेश की है। हमने कई तरह के टूल्स मार्केट में दिए हैं, जिससे कि मैकेनाइजेशन आए और लोगों की प्रोडक्टिविटी बढ़े। हमने विजुअलाइजेशन तकनीक भी कंज्यूमर्स के लिए रखी है। इसके तहत कस्टमर अपना घर पेंट होने से पहले ही देख सकेंगे, कि पेंट होने के बाद उनका घर कैसा दिखेगा। इससे कस्टमर को एक तरह का आइ़डिया मिल जाता है। इस तरह के कई टेक्नोलॉजी के कई माध्यम हम इंट्रोड्यूस कर रहे हैं, क्योंकि आने वाले समय में टेक्नोलॉजी काफी काम में आएगी। हम समझते हैं कि किसी भी अग्रणी कंपनी के लिए टेक्नोलॉजी को अपनाना बहुत जरूरी है और आगे बढ़ने के लिए बहुत अहम है।

प्रश्नः घरेलू बाजार में डेकोरेटिव पेंटिंग सेग्मेंट में एशियन पेंट्स काफी अच्छी हिस्सेदारी भी रखता है। इस सेग्मेंट में कैसे और कंज्यूमर्स आएं और इस श्रेणी में हिस्सेदारी बढ़ाने को लेकर आपकी क्या योजना है?

उत्तरः कस्टमर को नई-नई चीजों से आकर्षित करने की हमारी कोशिश हमेशा रहती है। नए प्रोडक्ट या डेकोरेशन के मामले में इनोवेशन का स्थान हमेशा रहता है। आज के समय में घर में काफी वक्त व्यतीत होता है तो घर बहुत महत्वपूर्ण हो जाता है। ऐसे में ग्राहकों को नई-नई चीजें या टेक्स्चर दिखाना बहुत अहम है। हमने नए-नए इनोवेशन और प्रोडक्ट से बाजार को लगातार बढ़ाने की कोशिश में लगे हैं क्योंकि भारत में पेंट की प्रति व्यक्ति खपत पश्चिमी देशों से काफी कम है। इसी को लेकर हमारी निरंतर यह कोशिश रहती है कि हम पेंटिंग साइकिल को और कैसे बढ़ा सकते हैं।

प्रश्नः अमित जी आपको काफी लंबा अनुभव है। ऐसे में कोविड-19 की स्थिति और इकोनॉमी की स्थिति को देखते हुए आप सरकार को किस प्रकार के सलाह देना चाहेंगे?

उत्तरः हम सरकार से पॉलिसी में निरंतरता बनाए रखने का आग्रह करते हैं क्योंकि आज के समय में कई जगहों पर लॉकडाउन लागू होता, फिर उसमें छूट दी जाती और फिर लॉकडाउन लगता है। इससे इंडस्ट्री को काफी दिक्कत पेश आती है। दूसरी चीज अगर हम देखें कि कोविड के प्रसार को रोकने के लिए इंडस्ट्री पर बहुत अधिक नियंत्रण है, ऐसे में अगर थोड़ा और स्पष्ट तरीके से सरकार की ओर संवाद किया जाए तो काफी अच्छा रहेगा। इसके अलावा अगर हम ग्राहकों के हाथ में ज्यादा पैसे दे पाते हैं तो वो बहुत ही अच्छा रहेगा। उसके लिए सरकार अगर जीएसटी में तब्दीली करती है या किसी और चीज में बदलाव करते हैं ताकि कस्टमर्स के पास ज्यादा पैसा रहे। हालांकि, कुछ चीजें ऐसी भी हैं जो सरकार के हाथ में नहीं हैं। अगर हम कोविड को नियंत्रित नहीं कर पाते हैं तो सबके लिए बहुत मुश्किल हो जाएगा, इस वातावरण में काम करना।

Watch: Interview of Amit Syngle (MD & CEO, Asian Paints) with Pratyush Ranjan (Senior Editor, Jagran New Media)

प्रश्नः वैश्विक कारोबार में अपनी हिस्सेदारी बढ़ाने के लिए आपकी आगे की क्या योजना है?

उत्तरः वैश्विक कारोबार के संदर्भ में अगर हम बात करें तो हमारा पिछला क्वार्टर, भारत के क्वार्टर से बेहतर रहा है। इसकी वजह है कि मिडिल ईस्ट और अफ्रीका की अर्थव्यवस्थाओं में लॉकडाउन का असर थोड़ा कम रहा है और बिजनेस भी थोड़ा बेहतर रहा है। वहां पर हमारे क्वार्टर का प्रदर्शन अच्छा रहा है। इन सभी देशों में भी हम नए प्रोडक्ट्स पेश कर रहे हैं और स्थानीय स्तर पर उत्पादन के जरिए हम अपनी कीमतों को नियंत्रण में रख रहे हैं, ताकि हमें इम्पोर्ट और एक्सपोर्ट का सहारा ना लेना पड़े। हमारी कोशिश यह है कि जिस देश में भी हम प्रवेश करें, वहां हम अच्छा बिजनेस कर सकें और शीर्ष दो या तीन कंपनियों में अपना नाम शामिल कर सकें।

प्रश्नः टीयर-टू और टीयर-थ्री शहरों में अपनी हिस्सेदारी बढ़ाने के लिए आपके पास कोई खास रणनीति है?

उत्तरः श्रेणी-तीन और श्रेणी-चार के शहरों में एशियन पेंट्स की पहुंच हमेशा से अच्छी रही है, जहां हमारे विक्रेताओं की संख्या काफी अच्छी है। हमें उन क्षेत्रों में सिर्फ पहुंच बढ़ाने की चिंता नहीं है। इन शहरों में हमारा डिस्ट्रूब्यूशन सिस्टम और पहुंच बहुत बढ़िया है। इन शहरों में हमने नई प्रैक्टिसेज की शुरुआत की है। जैसे- इन शहरों में हमने 'सेफ पेंटिंग कंपेन' की बहुत मजबूत तरीके से शुरुआत की है। वाटरप्रूफिंग के नए-नए प्रोडक्ट्स हमने मार्केट में रखे हैं। डेकोरेशन के लिए नई-नई चीजें जैसे वॉलपेपर, टेक्स्चर्स को मार्केट में रखा है, तो हमारी कोशिश है ये है कि श्रेणी तीन और चार के शहर किसी भी मामले में मेट्रो और टीयर-1 शहरों से पीछे ना रहें। हम जो चीजें मेट्रो और टीयर-1 में दे रहे हैं, उन्हें श्रेणी तीन और चार में देना चाहेंगे क्योंकि ग्राहक की मांग और जिज्ञासा हर जगह एक जैसी है। उसे हम पूरा करना चाहते हैं।

Posted By: Manish Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस