नई दिल्ली: शुक्रवार को जारी किए गए डेटा के मुताबिक अप्रैल 2016 से फरवरी 2017 की अवधि के लिए देश का राजकोषीय घाटा 6.05 लाख करोड़ रुपये का रहा है। इसमें साल दर साल आधार पर 6 फीसद का इजाफा हुआ है। यह राजकोषीय घाटा वित्त वर्ष 2017 के 5.3 लाख करोड़ के लक्ष्य का 113 फीसद है।

वहीं इसी अवधि (फरवरी) के लिए शुद्ध कर प्राप्तियां 8.85 लाख करोड़ रुपये थी। साल दर साल आधार पर 40,600 करोड़ के मुकाबले फरवरी माह के लिए घाटा 41,400 करोड़ रुपये का रहा है। वहीं फरवरी महीने में बीते वर्ष की समान अवधि (44,600 करोड़) के मुकाबले साल दर साल आधार पर फरवरी महीने के लिए राजस्व घाटा 39,200 करोड़ रुपये रहा है।

फरवरी महीने के लिए खर्च 13 फीसद बढ़कर 1.35 लाख करोड़ रुपये (साल दर साल आधार पर) हो गया और टैक्स प्राप्तियां 19 फीसद बढ़कर 93,900 करोड़ रुपये (साल दर साल आधार पर) हो गई हैं। अप्रैल से फरवरी तक के लिए कुल व्यय 17.5 लाख करोड़ रुपए रहा है जो कि संशोधित बजट अनुमानों का 87 फीसद है।

राजस्व घाटा 4.44 लाख करोड़ रुपये पर आ गया है और अप्रैल से मार्च की अवधि के लिए प्राथमिक घाटा 2.01 लाख करोड़ रुपये रहा है।

Posted By: Praveen Dwivedi