नई दिल्ली, आइएएनएस। भारतीय रेल महाराष्ट्र के देवलाली से बिहार के दानापुर के लिए पहली किसान स्पेशल पार्सल ट्रेन को शुक्रवार को हरी झंडी दिखाकर रवाना करेगी। केंद्रीय बजट 2020-21 में किए गए वादे के अनुसार, इसमें परिवहन योग्य सामान भेजे जाएंगे। रेल मंत्रालय के अधिकारियों ने कहा कि ट्रेन शुक्रवार को देवलाली से पूर्वाह्न् 11 बजे खुलेगी और अगले दिन शाम को 6.45 बजे दानापुर पहुंचेगी। 1519 किलोमीटर का यह सफर 32 घंटों में पूरा होगा।

इसी प्रकार से ट्रेन अपने रिवर्स ट्रिप में दानापुर से रविवार को चलेगी और अगले दिन सोमवार को देवलाली पहुंचेगी।

अधिकारी ने कहा कि मध्य रेलवे स्थित भूसावाल संभाग एक कृषि आधारित संभाग है, क्योंकि नासिक और आस पास के इलाकों में काफी मात्रा मे ताजे फल, सब्जियां, फूल, प्याज व अन्य कृषि उत्पादों का उत्पादन होता है, जोकि परिवहन योग्य है।

अधिकारी ने कहा कि इन उत्पादों को मुख्यत: पटना, इलाहबाद, कटनी और सतना जैसे क्षेत्रों में भेजा जाएगा।

अधिकारियों ने कहा कि ट्रेन का स्टोपेज नासिक रोड, मनमाड, जलगांव, भुसावल, बुरहानपुर, खंडवा, इटारसी, जबलपुर, सतना, कटनी, मानिकपुर, प्रयागराज, पंडित दिन दयाल उपाध्याय नगर और बक्सर में होगा।

अधिकारी ने इसके अलावा कहा कि परिवहन योग्य सामग्रियों को ट्रांसपोर्ट करने के लिए स्थानीय किसानों, एपीएमसी और लोगों के साथ तेजी से मार्केटिंग की जा रही है।

वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने अपने बजट भाषण में पीपीपी मॉडल के जरिए किसान रेल शुरू करने का प्रस्ताव रखा था।

किसान रेल में रेफ्रिजरेटेड कोच लगे होंगे। इसे रेलवे ने 17 टन की क्षमता के साथ नए डिजायन के रूप में निर्मित करवाया है। इसे रेल कोच फैक्ट्री कपूरथला में बनाया गया है। भारतीय रेल के पास ऐसे नौ रेफ्रिजरेटेड वैन का बेड़ा है और इसे राउंड ट्रिप आधार पर बुक किया जा सकता है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021