धनबाद, जासं। धनबाद (Dhanbad) के सरायढेला थाना क्षेत्र (Saraidhela police station area) के तहत आने वाले बगुला बस्‍ती में सोमवार देर शाम को आयोजित एक शादी समारोह में जमीन कारोबारी अजय पासवान (Ajay Paswan) की हत्या कर दी गई, जिसकी साजिश पिछले काफी दिनों से चल रही थी। कुछ बाइक सवारों ने उसकी रेकी भी की थी। अजय के करीबियों ने बताया कि अजय का जमीन को लेकर जयमंगल से विवाद था। जयमंगल ने उसे धमकी भी दी थी कि जिस प्रकार तुम्हारे दोस्त समीर को मारा, उसी तरह तुमको भी ठिकाने लगे देंगे।

घटना से स्‍थानीय लोगों में आक्रोश

अजय के परिचितों का कहना है कि जयमंगल को मालूम था कि इस पार्टी में अजय आएगा। जयमंगल इस समारोह में नहीं था, मगर उसके दोनों शूटर प्रहलाद हाजरा और लालू हाजरा वहां मौजूद थे। प्रहलाद काफी नशे में भी था। अजय के घुसते ही हमला कर दिया गया, इससे साफ है कि हत्यारों ने पूरी तैयारी कर रखी थी। इधर इस घटना से बगुला बस्ती के लोगों में काफी आक्रोश है। स्थानीय लोगों का कहना है कि जयमंगल पर पुलिस कड़ी कार्रवाई करे। उसके मुंह में खून लग चुका है।

Sahebganj: घर में रखी नयी बाइक में अचानक लगी आग, देखते ही देखते जल गया सपनों का आशियाना, सड़क पर आया परिवार

अजय की हत्‍या ने कानून व्‍यवस्‍था पर उठाया सवाल

इधर, अजय की हत्या ने एक बार फिर से पुलिसिया कार्यशैली पर सवाल खड़ा कर दिया है। हालांकि यह नया नहीं है धनबाद में जमीन कारोबारियों की हत्या पहले से भी होते आ रही है। जमीन के लिए सबसे ज्यादा खून वासेपुर में बहा है।

जमीन विवाद से जिले में हो चुकी हैं कई हत्‍याएं

इससे पहले साल 2012 में सोनू आलम की हत्या जमीन विवाद को लेकर की गई थी। इस हत्या का आरोप फहीम एंड कंपनी पर लगा था। उसी वर्ष आरा मोड़ के पास आमीर जान की हत्या भी जमीन विवाद में कर दी गई थी।

वर्ष 2014 में फहीम खान के साले टुन्ना खान की हत्या भी जमीन के लिए ही की गई थी। वर्ष 2017 में जमीन करोबारी पप्पू पाचक को पुराना बाजार में गोलियों से छलनी कर दिया गया था। बाद में इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई थी।

वासेपुर के शाहजादा खान की फरवरी, 2021 में हत्या की गई। उसका शव रेलवे ट्रेक के पास मिला था। इसका आरोप फहीम के चचेरे भाई शेर खान सहित कई लोगों पर लगा था।

वर्ष 2021 में वासेपुर के बड़े जमीन कारोबारी मो. अशरफ अल हसन उर्फ लाला खान की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। इसका आरोप अमन का खास छोटू और मिस्टर खान पर लगा था। आशीष उर्फ छोटू इसी हत्या के बाद से फरार चल रहा है।

अजय की पत्‍नी ने दी थी शादी में न जाने की सलाह

इधर, शादी वाले दिन अजय पासवान की पत्नी अंजली पासवान ने बताया कि उसने अजय को पार्टी में अकेले जाने से मना किया था। उसने बताया कि उसके पति को पहले से ही जान से मारने की धमकी मिल चुकी थी इसलिए वह कहीं भी अपने पति को अकेले नहीं जाने देती थी। अजय की पत्नी ने यह भी कहा था कि वह दुश्मन का इलाका है। इसलिए वहां नहीं जाएं। इस पर अजय ने कहा कि वह तुरंत वापस आ जाएगा। घबराने की जरूरत नहीं है, लेकिन थोड़ी देर के बाद ही पत्नी को सूचना मिली कि उसके पति को गोली मार दी गई है।

पुलिस ने देर रात तक की छापेमारी

अजय पासवान की हत्या के बाद सरायढेला थाने की पुलिस निरंजन हाजरा के घर बगुला बस्ती पूछताछ करने के लिए गई। वहीं, प्रहलाद उर्फ मतला और लालू हाजरा की तलाश में पुलिस ने कई जगहों पर छापेमारी की। पुलिस जयमंगल हाजरा की गिरफ्तारी के लिए उसके घर भी गई थी। हत्या के बाद से तीनों फरार है। इसके अलावा पुलिस उसके गैंग के बाकी साथियों की तलाश भी कर रही है।

सरायढेला थाना प्रभारी वीर कुमार ने बताया कि हत्या किसने की है, यह साफ हो गया है। हत्या का कारण भी जमीन विवाद बताया जा रहा है। हालांकि, अब आरोपितों की गिरफ्तारी के बाद ही आगे की पूरी कहानी पता चला पाएगा। जयमंगल हाजरा समीर मंडल की हत्या में बेल पर बाहर है।

गोली चलते ही भागने लगे थे लोग

पार्टी में मौजूद प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि अजय को गोली लगी तो पहले लोगों को लगा कि पटाखा फूटा है। मगर जैसे ही लोग उसे जमीन पर देखा तो हड़कंप मच गया। गोली चलने की बात सुनते ही पार्टी में मौजूद लोग वहां से भागने लगे। दूल्हा-दुल्हन तुरंत घर चले गए। वहीं, पार्टी में मौजूद घर के दूसरे सदस्य भी घर चले गए। थोड़ी ही देर में ऐसा लग रहा था मानों यहां कोई शादी पार्टी हुई ही नहीं है।

Dhanbad Crime: पप्‍पू के घर में हुई फायर‍िंंग में पुल‍िस कंफ्यूज... शक क‍िसी और पे ज‍िम्‍मेवारी ले रहा कोई और

Edited By: Arijita Sen

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट