नई दिल्ली। मुनाफे में चल रही देश की विमानन कंपनी एयर इंडिया ने 10 हजार करोड़ रुपए के कर्ज का पुनर्गठन कराने की योजना बनाई है, जो कि आरबीआई की ओर से शुरू की गई डूबे कर्ज के स्वस्थ पुनर्गठन की योजना का हिस्सा है।

यह भी पढ़ें- एयर इंडिया को हुआ 105 करोड़ रुपए का परिचालन लाभ, 10 साल में पहली बार हुआ ऐसा

दरअसल, केंद्रीय बैंक ने स्कीम फॉर सस्टेनेबल स्ट्रक्चरिंग ऑफ स्ट्रेस्ड एसेट्स (एस4ए) योजना शुरू की है। इसके तहत दबाव में फंसे बैंकों के कर्जदारों (संपत्तियों) की कर्ज चुकाने की क्षमता बढ़ाने के साथ-साथ जो इकाइयां बैंकों के कर्ज निपटान से जुड़ी व्यवस्थाएं देखती हैं उनको दोबारा व्यवस्थित किया जाना है।

इस साल जून में एस4ए योजना को पेश किया गया था। इस योजना को बैंकिंग प्रणाली में बढ़ते एनपीए की चिंता के बीच पेश किया गया है। सूत्रों के मुताबिक एयर इंडिया सक्रिय तरीके से एस4ए योजना का फायदा उठाने की तैयारी कर रही है जिससे कम से कम 10 हजार करोड़ रुपए के कर्ज का पुनर्गठन किया जा सके।

यदि इस प्रस्ताव को मंजूरी मिल जाती है तो यह पहला ऐसा अवसर होगा जब सार्वजनिक क्षेत्र की कोई इकाई इस योजना का लाभ उठाएगी। पिछले कई वर्षों से नुकसान में चल रही एयर इंडिया ने बीते वित्त वर्ष में 105 करोड़ रुपए का परिचालन लाभ कमाया था। आप को बता दें कि एक दशक में एयर इंडिया को पहली बार परिचालन लाभ हुआ था। कंपनी अपने ओवरऑल कर्ज के बोझ को भी कम करने की कोशिश कर रही है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस