नई दिल्ली [जागरण ब्यूरो]। एयर इंडिया पायलटों ने एक बार फिर हड़ताल की धमकी दी है। पायलटों के एक धड़े इंडियन पायलट गिल्ड ने सरकार को चेतावनी दी है कि यदि उनके वेतन-भत्तों का जल्द भुगतान नहीं किया गया तो पहली अप्रैल से उन्हें मजबूरन फिर हड़ताल पर जाना पड़ेगा।

इंडियन पायलट गिल्ड [आइपीजी] ने इस संबंध में नागरिक उड्डयन मंत्री अजित सिंह, श्रममंत्री मल्लिकार्जुन खड़गे, उड्डयन सचिव नसीम जैदी, डीजीसीए ईके भारतभूषण और एयर इंडिया के सीएमडी रोहित नंदन को चिट्ठी लिखी है।

चिट्ठी में कहा गया है कि वेतन-भत्तों का भुगतान न होने से उसके सदस्य पायलटों को आर्थिक संकट का सामना करना पड़ रहा है। इससे पायलटों के लिए ठीक से ड्यूटी करना मुश्किल हो गया है और उनकी कार्यक्षमता प्रभावित हो रही है। गिल्ड के मुताबिक पायलटों को पिछले साल दिसंबर से मूल वेतन तथा ले-ओवर भत्ते नहीं मिले हैं। जबकि नवंबर से फरवरी के उड़ान भत्तों का भुगतान भी नहीं किया गया है।

आइपीजी के अध्यक्ष जितेंद्र अवहद ने पत्र में लिखा है कि यदि प्रबंधन ने पायलटों के सभी बकाया भत्तों का भुगतान नहीं किया तो उनके लिए 1 अप्रैल 2012 से काम पर आना संभव नहीं होगा। अवहद ने दोनों केंद्रीय मंत्रियों से इस मामले में तत्काल हस्तक्षेप करने की गुहार लगाई है। एयर इंडिया में आइपीजी व इंडियन कॉमर्शियल पायलट एसोसिएशन [आइपीसीए] दो पायलट यूनियनें हैं। आइपीजी एयर इंडिया [मुख्यत: अंतरराष्ट्रीय उड़ानें], जबकि आइपीसीए पूर्ववर्ती इंडियन एयरलाइंस [मुख्यत: घरेलू उड़ानें] का प्रतिनिधित्व करती है। इनमें करीब 200 पायलट आइपीजी, जबकि 1400 आइसीपीए के सदस्य हैं।

इस साल यह दूसरा मौका है जब इंडियन पायलट गिल्ड ने वेतन-भत्ते के मसले पर हड़ताल की धमकी दी है। पिछली बार धमकी पर नागरिक उड्डयन मंत्री अजित सिंह ने वादा किया था कि वह जल्द ही पायलटों व कर्मचारियों को वेतन-भत्तों का भुगतान करवाएंगे। बाद में इसके लिए एयर इंडिया को सरकार की ओर से 700 करोड़ रुपये की रकम जारी करने का फैसला भी कैबिनेट की बैठक में हुआ था। लगता है वह रकम अभी तक एयर इंडिया को प्राप्त नहीं हुई है।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप