मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। एशियाई विकास बैंक (ADB) ने भारत और दक्षिण एशिया के आर्थिक वृद्धि के अनुमान में कटौती की है। एडीबी ने वैश्विक स्तर पर पनप रहे व्यापारिक तनाव को देखते हुए भारत के जीडीपी पूर्वानुमान को घटा दिया है।

एडीबी की एशियाई डिवेलपमेंट आउटलुक रिपोर्ट के मुताबिक इस साल भारत की जीडीपी 7.2 फीसद की दर से आगे बढ़ेगी। एडीबी ने दिसंबर के लिए 7.6 फीसद जीडीपी का अनुमान जाहिर किया था।

वहीं, दक्षिण एशियाई अर्थव्यवस्था के लिए सरकार ने ग्रोथ के अनुमान को 0.2 फीसद कम करते हुए 4.9 फीसद कर दिया है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि चीन और अमेरिका के बीच जारी व्यापारिक तनाव निवेश के प्रवाह को प्रभावित कर सकता है। वहीं, यूरोपीय यूनियन से ब्रिटेन के बाहर होने और वित्तीय बाजार में पैदा होने वाली संभावित अस्थिरता अन्य जोखिम हैं।

एडीबी की मुख्य अर्थशास्त्री यासुयुकी सावादा ने अपनी रिपोर्ट में कहा है, 'अमेरिकी राजकोषीय नीति की वजह से कई अनिश्चितताएं पैदा हो रही है। वहीं संभावित ब्रेग्जिट और विकसित अर्थव्यवस्थाओं में उम्मीद से कम की ग्रोथ रेट चीन और इस क्षेत्र की अन्य अर्थव्यवस्थाओं की गति को प्रभावित कर सकती है।'

रिपोर्ट में 2019 के लिए चीन के जीडीपी अनुमान को 6.3 फीसद ही रखा गया है, जबकि 2020 में इसे कम कर 6.1 फीसद रखा गया है।

गौरतलब है कि इससे पहले अंतरराष्ट्रीय रेटिंग एजेंसी फिच भी भारत के जीडीपी अनुमान में कटौती कर चुका है।अर्थव्यवस्था में उम्मीद से कम की रफ्तार का अनुमान लगाते हुए रेटिंग एजेंसी फिच ने वित्त वर्ष 2019-20 के लिए 6.8 फीसद जीडीपी का अनुमान लगाया है, जो पहले 7 फीसद था।

यह भी पढ़ें: फिच ने घटाया भारतीय GDP का अनुमान, कहा-उम्मीद से कम रहेगी आर्थिक रफ्तार

Posted By: Abhishek Parashar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप