नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। भारत के दिग्गज उद्योगपति Gautam Adani के Adani Group की कई कंपनियों के शेयरों में पिछले चार सत्र से लगातार लोअर सर्किट लग रहा है। इससे ग्रुप की कंपनियों में निवेश करने वाले इंवेस्टर्स की चिंताएं बढ़ गई हैं। इस ताजा घटनाक्रम से Adani Group की कंपनियों में निवेश करने वाले खुदरा निवेशकों के दिमाग में लगातार यह सवाल चल रहा है कि उन्हें इन शेयरों को होल्ड करना चाहिए या फिर इन्हें घाटे में बेच देना चाहिए। निवेशकों के इन्हीं सवालों का जवाब हमने शेयर मार्केट पर करीबी निगाह रखने वाले एक्सपर्ट्स से पूछा। आइए जानते हैं एक्सपर्ट्स ने क्या जवाब दिए:

F&O की एक्सपायरी है अहम

CNI Research Limited के सीएमडी किशोर ओस्तवाल ने कहा कि निवेशकों को फ्यूचर एंड ऑप्शन (F&O) की एक्सपायरी तक इंतजार करना चाहिए। उन्होंने कहा कि जिन लोगों के पास Adani Group की कंपनियों के शेयर हैं, उन्हें फिलहाल होल्ड करना चाहिए। 24 तारीख के बाद इसके भाव में थोड़ा-थोड़ा सुधार होने की संभावना है। वहीं, जो निवेशक शेयर खरीदना चाहते हैं, उन्हें 22-23 जून के आसपास इन ग्रुप की कंपनियों के शेयर खरीदने चाहिए।

निवेशक अपनाएं सतर्क रुख

SMC Global Securities के वाइस चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर महेश सी गुप्ता ने कहा कि सोमवार को आई रिपोर्ट पर अडाणी समूह और NSE द्वारा स्पष्टीकरण दिया जा चुका है। इसके बावजूद ग्रुप की कंपनियों के शेयर लगातार गिर रहे हैं। ऐसे में निवेशकों को वेट एंड वॉच की रणनीति अपनाते हुए सतर्क रहना चाहिए। खुदरा निवेशकों को अपनी जोखिम लेने की क्षमता के हिसाब से स्टॉपलॉस लगाकर रखना चाहिए। हालांकि, ज्यादा घबराने की जरूरत नहीं है। ग्रुप की कंपनियों के शेयर कंसॉलिडेशन के चरण से गुजर रहे हैं।

इन शेयरों में लगातार लग रहा लोअर सर्किट

Adani Power के एक शेयर का मूल्य शुक्रवार (11 जून, 2018) को 148.30 रुपये पर बंद हुआ था। सोमवार को कंपनी का शेयर लुढ़ककर 140.90 रुपये पर रह गया। इसके बाद मंगलवार को Adani Power Share Price गिरकर 133.90 रुपये पर आ गया। बुधवार को कंपनी के शेयर में एक बार फिर लोअर सर्किट लगा और यह 127.25 रुपये के स्तर पर बंद हुआ। गुरुवार को एक बार फिर कंपनी के शेयर में लोअर सर्किट लगा और इसका भाव लुढ़ककर 120.90 पर आ गया।

इसी तरह Adani Total Gas Limited का शेयर 11 जून, 2021 को 1,626.20 रुपये पर बंद हुआ था। इस सप्ताह के पहले दिन यानी 14 जून, 2021 को कंपनी का शेयर लुढ़ककर 1,544.90 रुपये, 15 जून को 1,467.70 रुपये और 16 जून को 1,394.35 रुपये पर बंद हुआ।

इसी प्रकार Adani Transmission Limited का शेयर 11 जुलाई, 2021 को 1,540 रुपये पर बंद हुआ था। 14 जून को यह लुढ़ककर 1,522.50 रुपये, 15 जून को 1,446.40 रुपये और 16 जून को 1,374.10 रुपये पर बंद हुआ।

इसी तरह Adani Enterprises, Adani Green और Adani Ports के शेयरों में भी काफी उतार-चढ़ाव देखने को मिल रहा है।

जानिए क्या है मामला

दरअसल, सोमवार को एक रिपोर्ट में कहा गया था कि NSDL ने ऐसी तीन FPIs के अकाउंट को फ्रीज कर दिया है, जिन्होंने अडाणी ग्रुप की कंपनियों में काफी अधिक निवेश किया हुआ है। इसके बाद ग्रुप की कंपनियों के शेयर बिल्कुल धाराशायी हो गए। हालांकि, शाम तक अडाणी समूह ने यह स्पष्टीकरण जारी किया कि उसे लिखित में यह जानकारी मिली है कि इन अकाउंट्स को फ्रीज नहीं किया गया है। इसके बाद समाचार एजेंसी रायटर्स ने NSDL के एक सूत्र के हवाले से एक रिपोर्ट दी। इस रिपोर्ट में भी इस बात की तस्दीक की गई थी कि अकाउंट्स फ्रीज नहीं हुए हैं।

Edited By: Ankit Kumar