नई दिल्‍ली, पीटीआइ। बायोमेट्रिक पहचान पत्र आधार (Aadhaar) अब देश की 90 फीसद से अधिक जनसंख्‍या के पास है। गुरुवार को संसद को उपलब्‍ध कराई गई जानकारी के अनुसार, फरवरी के अंत तक देश के 90 फीसद से अधिक लोगों को आधार जारी किया जा चुका है। राज्‍य सभा में दिए लिखित जवाब में इलेक्‍ट्रॉनिक्‍स एवं आईटी राज्‍य मंत्री संजय धोत्रे ने कहा कि UIDAI शहरी और ग्रामीण आधार धारकों में भेद नहीं करता है, इसलिए इससे जुड़ी सूचना उपलब्‍ध नहीं है। 

धोत्रे ने कहा, '29 फरवरी 2020 तक देश की जनसंख्‍या के 90.1 फीसद लोगों को आधार जारी किया जा चुका है।' उन्‍होंने कहा कि UIDAI देशवासियों की आर्थिक स्थिति के आंकड़े नहीं जुटाता है। 

एक अन्‍य प्रश्‍न कि राज्‍य सरकार द्वारा विभिन्‍न लोक कल्‍याणकारी योजनाओं के तहत लाभार्थियों के पहचान के लिए निजी कंपनियों के साथ आधार के आंकड़े साझा किए जाते हैं कि नहीं, के जवाब में धोत्रे ने कहा कि UIDAI के संज्ञान में ऐसी कोई घटना नहीं आई है। उन्‍होंने कहा, 'UIDAI का डाटा पूरी तरह सुरक्षित और एनक्रिप्‍टेड है। UIDAI के पास मल्‍टी लेयर बेहतरीन सुरक्षा प्रणाली है और डेटा सिक्‍योरिटी तथा इंटीग्रिटी के लिए इसे लगातार अपग्रेड किया जाता है।'

उन्‍होंने कहा कि आधार इकोसिस्‍टम का आर्किटेक्‍चर सुरक्षा और निजता को सुनिश्चित करता है, जो प्रारंभिक डिजाइन से लेकर अंतिम चरण तक सिस्‍टम का अहम हिस्‍सा है। कंप्रिहेंसिव इन्‍फॉर्मेशन सिक्‍योरिटी पॉलिसी एंड प्रोसीजर की नियमित तौर पर समीक्षा की जाती है साथ ही अपडेशन किया जाता है जो UIDAI परिसर के भीतर और बाहर लोगों, वस्‍तुओं और डाटा की गतिविधियों को निगरानी और नियंत्रण सुनिश्चित करता है। 

Posted By: Manish Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस