नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। हर किसी को फाइनेंशियल तौर पर अच्छे भविष्य के लिए सेविंग करनी चाहिए। बाजार में बहुत से सेविंग ऑप्शन मौजूद हैं, जिनमें सेविंग करके आप पैसों को एक उचित ग्रोथ दे सकते हैं। निवेश करते वक्त यह देखना होता है कि आपको अधिक सुरक्षित जगह पर निवेश करना है। या फिर आप रिस्‍क लेकर अपने में ज्‍यादा ग्रोथ के लिए निवेश ऑप्‍शन की तलाश कर रहे हैं। अगर आप निवेश की प्लानिंग कर रहे हैं और सुरक्षित निवेश विकल्प सर्च कर रहे हैं तो आज हम आपको 5 ऐसे निवेश विकल्पों के बारे में बता रहे हैं जहां पर पैसा सबसे ज्यादा सुरक्षित रहेगा और पैसों को ग्रोथ भी मिलेगी।

ये भी पढ़ें: इन 5 बचत योजनाओं में मिलता है आकर्षक ब्याज, साथ ही टैक्स सेविंग का लाभ

1. फिक्स्ड डिपॉजिट (FD): फिक्स्ड डिपॉजिट निवेश का सुरक्षित ऑप्शन हैं, जिसमें सेविंग अकाउंट के मुकाबले ज्यादा ब्याज दर की पेशकश होती है। इन अकाउंट को एक तय अवधि के लिए शुरू किया जाता है। एफडी पर ब्याज दरें साधन के कार्यकाल के आधार पर तय की जाती हैं। कमर्शियल छोटे फाइनेंशियल बैंक, पोस्ट ऑफिस और नॉन बैंकिंग फाइनेंस कंपनियों में एफडी शुरू की जा सकती है।

ये भी पढ़ें: न्यूनतम बैलेंस नहीं रखा तो लगेगी पेनल्टी, जानें SBI, PNB और ICICI Bank के नियम

2. आवर्ती जमा (RD): आरडी एक ऐसा सेविंग ऑप्शन है, जिसमें प्रति माह एक तय अमाउंट सेव किया जाता है उस पर ब्याज मिलता है। देश भर के सभी प्रमुख वित्तीय संस्थान आरडी अकाउंट खोलने की सुविधा देते हैं।

3. पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF): पब्लिक प्रॉविडेंट फंड या पीपीएफ अकाउंट रिटायरमेंट के लिए शुरू किया जाता है। इस पर ब्याज दर तिमाही आधार पर केंद्र सरकार की तरफ से निर्धारित की जाती है। वर्तमान में 8 फीसद की सालाना ब्याज दर है। ब्याज की गणना महीने के 5वें दिन और अंत के बीच न्यूनतम शेष राशि पर की जाती है और हर साल 31 मार्च को पेमेंट होती है।

4. मंथली इनकम स्कीम (MIS): वर्तमान तिमाही के लिए एमआईएस अकाउंट में 7.7 फीसद की ब्याज दर मिल रही है। इस स्कीम की मैच्योरिटी 5 साल में पूरी होती है। इस अकाउंट में अधिकतम 4.5 लाख रुपये और ज्वाइंट अकाउंट में 9 लाख रुपये तक जमा किए जा सकते हैं।

5. नेशनल पेंशन सिस्टम (NPS): एनपीएस सरकार की तरफ से प्रायोजित रिटायरमेंट प्लानिंग स्कीम है जिसे पेंशन फंड नियामक और विकास प्राधिकरण (PFRDA) के जरिए रेगुलेट किया जाता है। इस स्कीम नौकरी के दौरान सेविंग की जाती है और रिटायरमेंट के बाद पेंशन के जरिए पैसा मिलता है।  

Posted By: Sajan Chauhan

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप