नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। निजी विमानन कंपनी जेट एयरवेज की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। सूत्रों ने बताया कि रविवार को कंपनी को 14 उड़ानें रद्द करनी पड़ी, क्योंकि वेतन नहीं मिलने से नाराज पायलटों में से कुछ ने बीमारी का बहाना बनाकर ड्यूटी पर आने से इन्कार कर दिया। इन पायलटों को सितंबर के वेतन का कुछ ही हिस्सा मिला है, जबकि अक्टूबर और नवंबर का पूरा वेतन बकाया है।

इस बीच, रविवार को जेट एयरवेज ने कहा कि वह इस महीने खाड़ी देशों के सात मार्ग पर सेवा बंद करेगी। एक सूत्र के मुताबिक कंपनी विभिन्न शहरों से दोहा, मस्कट, अबू धाबी और दुबई के लिए प्रति सप्ताह संचालित 39 सेवाओं को जारी नहीं रखेगी। कंपनी कोच्चि, कोङिाकोड और तिरुअनंतपुरम से दोहा, लखनऊ और मंगलुरु से अबूधाबी और मंगलुरु से दुबई मार्ग पर सेवा पांच दिसंबर से बंद करेगी। दिल्ली-मस्कट मार्ग पर भी इस महीने से सेवा बंद की जाएगी। 

जेट एयरवेज के प्रवक्ता ने बताया कि पायलटो की ओर से खुद को बीमार बताए जाने की खबर के बाद 14 जेट फ्लाइट को कैंसिल कर दिया गया। इसे लेकर मैनेजमेंट और पायलटों के बीच लगातार बातचीत जारी है ताकि वेतन सहित चल रहे कई विवादित मुद्दों पर चर्चा कर समाधान निकाला जा सके।

Posted By: Nitesh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस