नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। क्रेडिट कार्ड किसी व्यक्ति या उद्योग की बुनियादी आवश्यक्ताओं में से एक होता है, क्योंकि सभी आवश्यकताओं को हमेशा नकदी के माध्यम से पूरा नहीं किया जा सकता। क्रेडिट कार्ड धारक का एक क्रेडिट प्रोफाइल या क्रेडिट स्कोर होता है। जब भी आप क्रेडिट कार्ड, पर्सनल लोन, ओवरड्राफ्ट सुविधा या होम लोन के जरिए कर्ज लेना शुरु करते हैं, तो क्रेडिट रेटिंग कंपनियां आपकी क्रेडिट प्रोफाइल बनाना शुरू कर देती हैं। किसी व्यक्ति का क्रेडिट प्रोफाइल या क्रेडिट स्कोर कई चीजों पर निर्भर करता है। आपके अनियमित व्यवहार हमेशा आपके क्रेडिट स्कोर को प्रभावित करते हैं।

किसी व्यक्ति की क्रेडिट प्रोफाइल उसके पुनर्भुगतान व्यवहार, आय क्षमता, रोजगार और आय के स्रोतो की स्थिरता जैसे कारकों पर निर्भर करती है। यहां हम आपको वे तीन गलतियां बताने जा रहे हैं, जो किसी के भी क्रेडिट स्कोर को खराब कर सकती है।

पुनर्भुगतान में गलती या देरी

अदायगी समय सीमा के बाद देरी के साथ पुनर्भुगतान करना या पुनर्भुगतान में एक बड़ी गलती आपके क्रेडिट स्कोर को बड़े पैमाने पर खराब कर सकती है। कई शेड्यूल्ड वाणिज्यिक बैंक और क्रेडिट कंपनियों ने लोन चुकाने में की जाने वाली धोखाधड़ी और देरी जैसे मामलों को देखते हुए पुनर्भुगतान में देरी और गलतियों के खिलाफ बहुत कड़े नियम-कानून बनाए हुए हैं। निश्चित तारीख के बाद क्रेडिट कार्ड के बिल में देरी आपके क्रेडिट स्कोर में करीब 50 से 100 अंकों की कमी कर सकता है।

कई क्रेडिट खातों का फायदा उठाना

एक साथ कई क्रेडिट अकाउंट खोलना भी किसी व्यक्ति के क्रेडिट स्कोर को खराब करता है। बहुत अधिक क्रेडिट सुविधाएं और लोन आपकी आय क्षमता पर कर्ज का भार डाल देते हैं। होम लोन और 2-3 क्रेडिट कार्ड वाला कोई व्यक्ति, जिसकी सीमा समाप्त हो गई हो, तो उसे कभी आसानी से पर्सनल लोन नहीं मिलेगा। बैंक और अन्य वित्तीय संस्थाएं ऐसे में पर्सनल लोन की एप्लिकेशन को अस्वीकर कर देंगें।

उच्च क्रेडिट उपयोग अनुपात

उच्च क्रेडिट उपयोग अनुपात व्यक्ति के लिए अच्छा नहीं होता, क्योंकि यह कर्ज पर निर्भरता को दर्शाता है। जब आप एक से अधिक कर्ज ले लेते हैं या एक से अधिक क्रेडिट कार्ड्स से कई कर्ज लेते हैं तो आपका क्रेडिट उपयोग अनुपात गड़बड़ा जाता है। क्रेडिट एजेंसी इसे नोट करती है और आपका क्रेडिट स्कोर गिरा देती है। इसलिए इससे बचना चाहिए।

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Pawan Jayaswal