नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। देश के सबसे बड़े भारतीय स्टेट बैंक ने 30 लाख रुपये तक के होम लोन पर अपनी ब्याज दर में 0.10 फीसद की कमी की है। इस कदम से होम लोन लेने वालों को कुछ हद तक राहत मिलने की संभावना है। बैंक के एक बयान के अनुसार, होम लोन की नई संशोधित दरें बुधवार 10 अप्रैल से लागू होंगी। आरबीआई की ओर से हालिया मौद्रिक समीक्षा बैठक में रेपो रेट में 25 बेसिस प्वाइंट की कटौती की गई थी, जिसके बाद होम लोन की दर में कमी आई है। रेपो रेट वह ब्याज दर होती है जिस पर केंद्रीय बैंक बैंकों को पैसा उधार देता है।

SBI की ओर से होम लोन सस्ता किए जाने के बाद आपको ये 10 बातें पता होनी चाहिए:

1. 30 लाख रुपये तक के एसबीआई होम लोन पर ब्याज दर अब 8.60-8.90 फीसद की सीमा में आ गई हैं जो कि पहले 8.70-9.0 फीसद के बीच थी।

2. एसबीआई ने सभी अवधियों के लिए MCLR को 0.05 फीसद तक घटा दिया है।

3. एसबीआई के बयान के अनुसार, फंड बेस्ड लोन रेट या एमसीएलआर की ब्याज दर एक साल के लिए 8.50 फीसद पर आ गई है, जो कि 8.55 फीसद पर थी।

4. एसबीआई ने एमसीएलआर में पहली बार कटौती की है। पिछली बार बैंक ने नवंबर 2017 में एमसीेएलआर दरों को 5 बेसिस प्वाइंट घटाया था।

5. इंडियन ओवरसीज बैंक और बैंक ऑफ महाराष्ट्र के बाद लोन रेट को कम करने वाला तीसरा बैंक एसबीआई है, जिन्होंने 1 साल या उससे अधिक के लिए लोन रेट को 5 आधार अंकों तक कम कर दिया है।

6. इंडियन ओवरसीज बैंक ने 1 साल के लोन के लिए एमसीएलआर को 8.70 फीसद से घटाकर 8.65 फीसद कर दिया है। बैंक ऑफ महाराष्ट्र ने एमसीएलआर दरों में 5 आधार अंकों की कटौती की है।

7. इंडियन ओवरसीज बैंक और बैंक ऑफ महाराष्ट्र की नई लोन रेट 10 अप्रैल से लागू हो गई हैं।

8. एसबीआई के बयान के अनुसार, बैंक ने सभी नकद क्रेडिट अकाउंट और ओवरड्राफ्ट को रेपो रेट से 1 लाख रुपये से ऊपर की सीमा के साथ जोड़ा है।

9. बैंक ने कहा था कि आरबीआई की तरफ से 25 बीपीएस रेपो दर में कटौती का लाभ इस तरह के कैश क्रेडिट/ओवरड्राफ्ट ग्राहकों को पूरी तरह से मिल जाएगा।

10. 1 लाख रुपये तक के अमाउंट के लिए सेविंग बैंक रेट 3.50 फीसद होगी, जबकि 1 लाख से अधिक अमाउंट के लिए बैंक रेट 3.25 फीसद होगी जो कि 1 मई से लागू होंगी। 

Posted By: Sajan Chauhan

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप