नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) के खाताधारकों के लिए एक बुरी खबर है। अगर आप एसबीआई में चल रहे बैंक खाते को बंद करवाने का विचार बना रहे हैं तो आपको 500 रुपये के शुल्क के साथ जीएसटी का भी भुगतान करना होगा। आपसे यह शुल्क एवं जीएसटी उस सूरत में वसूला जाएगा जब आप अपना खाता 14 दिन से लेकर एक साल के भीतर बंद करवाएंगे।

एसबीआई ने यह जानकारी अपनी कार्पोरेट वेबसाइट एसबीआई डॉट को डॉट इन (sbi.co.in) पर उपलब्ध करवाई है। अगर ग्राहक बैंक खाता खुलवाने के 14 दिनों के भीतर उसे बंद करवाने के लिए आवेदन करता है तो उसे कोई चार्ज नहीं देना होगा। इसके अलावा भी कुछ अन्य शर्तें होती हैं जब एसबीआई खाताधारकों को बैंक खाता बंद करवाने के लिए कोई शुल्क नहीं देना होता है।

एसबीआई खाताधारकों को 14 दिन के फ्री लॉक इन पीरियड के साथ अकाउंट खोलने की अनुमति देता है, जिसमें खाताधारक बिना किसी शुल्क के इस अवधि के दौरान अपना खाता बंद करवा सकता है। एसबीआई की वेबसाइट के मुताबिक इस अवधि के भीतर अगर कोई खाताधारक अपना खाता बंद करवाता है तो उसे निल चार्ज पर खाता बंद करवाने की सुविधा मिलती है। ऐसा BCSBI कोड के अंतर्गत होता है। बैंकिंग कोड्स एंड स्टैंडर्ड बोर्ड ऑफ इंडिया एक ऑटोनॉमस बॉडी है, जिसके सदस्यों में एसबीआई का भी प्रतिनिधित्व होता है।

एक साल बाद एसबीआई खाता बंद करवाने की सूरत में:

  • बैंक वेबसाइट के मुताबिक एक साल से पुराने बैंक खाते को बंद करवाने की सूरत में कोई भी शुल्क नहीं वसूला जाता है।
  • इसके अलावा बैंक से जुड़े बेसिक सेविंग बैंक डिपॉजिट अकाउंट खाताधारकों की ओर से रेगुलर सेविंग बैंक अकाउंट बंद करवाने पर भी कोई शुल्क नहीं देना होता है।

यह भी पढ़ें: SBI की 9 ब्रांच पर लगेगा ताला, जानिए कहीं इनमें आपका भी बैंक तो नहीं

SBI, HDFC और PNB: जानिए कौन दे रहा है बेहतर एजुकेशन लोन

Posted By: Praveen Dwivedi