नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। अगर आपके पास नियमित आय नहीं है तो लोन लेना आपकी इच्छाओं को पूरा करने के लिए एक कारगर तरीका है, लेकिन अगर आप लोन की रकम सोच समझकर नहीं लेते हैं तो आगे आपको इसे लेकर तनाव हो सकता है। लोन की रकम कई तरह से कई कामों के लिए ली जा सकती है। जैस कार खरदीने के लिए लोन, घर खरीदने के लिए लोन, कोई संपत्ति लेना हो उसके लिए भी लोग लोन लेते हैं। जानकार बताते हैं कि लोन लेने से पहले आपको अपनी जरूरतों पर गौर करना चाहिए कि आपकी जरूरत क्या है। अगर आप लोन लेंगे तो उसको चुकाने के आपके पास क्या रास्ते हैं। हम इस खबर में आपको ऐसी ही कुछ बातों के बारे में बता रहे हैं कि अगर आपने लोन ले लिया है तो इन तरीकों से लोन पर तनाव लेने से बचे।

कम ईएमआई: लोन लेने से पहले यह तय कर लें कि आप उसकी रकम को कितने ईएमआई में भुगतान कर सकते हैं। साथ ही आपकी ईएमआई की रकम क्या होगी। सबसे अच्छी बात यह होगी कि आप यह तय करें कि आपके रोजाना के खर्चे से कितनी रकम बच जाती है, फिर आप उनको इकठ्ठा करेंगे तो एक आईडिया लग जाएगा कि आपके पास कितने पैसे बचते हैं। सबसे पहले तो आप यह देखें कि आपके बचत, टैक्स पर और निवेश के बाद से कितने पैसे बचते हैं। याद रखें अगर आपने ईएमआई पेमेंट में चूक कर दिया तो आपका क्रेडिट स्कोर खराब हो जाएगा।

फ्लेक्सिबल टेन्योर: आपको अपने लोन के लिए टेन्योर तय करने में फ्लेक्सिबल होना चाहिए। चूंकि आपकी आय समय के साथ बढ़ती है, इससे आपके लोन चुकाने की क्षमता बढ़ जाती है और आप आसानी से अपने शेड्यूल से पहले लोन चुका सकते हैं। अगर आपको ईएमआई चुकाने में मुश्किल हो रही है, तो अपने ऋणदाता के साथ काम करें ताकि आपकी ईएमआई कम हो जाए।

बड़े लोन के लिए बीमा लें: जब आप एक बड़े अमाउंट का लोन लेते हैं, तो पर्याप्त बीमा कवर आपको कई जोखिमों से बचा सकता है। उदाहरण के लिए विकलांगता बीमा कवर हाल ही में विकलांग व्यक्ति को अपने नियमित खर्चों के साथ-साथ अपने ईएमआई का भुगतान करने के लिए बीमा राशि प्राप्त करने में मदद कर सकता है। इसी प्रकार, जीवन बीमा पॉलिसी उधारकर्ता के परिवार के सदस्यों को लोन ईएमआई चुकाने में मदद कर सकती है अगर उधारकर्ता पॉलिसी अवधि के दौरान किसी कारण वश मर जाता है।

लोन को स्विच करने की आजादी: लोन पर ब्याज दरें पूरे लोन के दौरान समान नहीं रह सकती हैं। यदि आपका ऋणदाता मौजूदा बाजार दरों से अधिक आपका ब्याज बढ़ाता है, तो आप ईएमआई लोड को कम करने के लिए लोन को किसी अन्य ऋणदाता के पास स्विच करा लें। 

Posted By: Nitesh