नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। किसी भी बैंक या अन्य वित्तीय संस्थान से लोन लेने के लिए एक अच्छा क्रेडिट स्कोर आवश्यक होता है। आमतौर पर 900 में से 750 CIBIL स्कोर अच्छा माना जाता है। किंतु, कभी-कभार 750 से अधिक के क्रेडिट स्कोर के बावजूद आपकी लोन रिक्वेस्ट अस्वीकार हो सकती है। आइए जानते हैं कि इसके क्या-क्या कारण हो सकते हैं।

आय के 50 फीसद से ज्यादा ना हो ईएमआई की राशि

यदि आपकी वर्तमान ईएमआई आपकी आय के 50 फीसद से ज्यादा है, तो आपका लोन आवेदन अस्वीकार किया जा सकता है। उदाहरण के तौर पर, अगर आपका वेतन 60,000 रुपये महीना है और आपने एक होम लोन ले रखा है जिसके लिए आप 24,000 रुपये महीने की ईएमआई चुकाते हैं। साथ ही आपके पास एक कार लोन भी है जिसके लिए आप 8,000 रुपये महीने की ईएमआई भर रहे हैं। ऐसे में अगर अब आप पर्सनल लोन के लिए आवेदन करते हैं, तो आपका आवेदन खारिज हो सकता है। इसका कारण यह है कि आपकी कुल ईएमआई 32,000 रुपये हो रही है, जो कि आपके कुल मासिक वेतन के 50 फीसदी से ज्यादा है।

बैंक इस तरह तय करते हैं लोन की पात्रता

लोन की पात्रता तय करते समय बैंक सबसे पहले आपकी कुल मासिक आय का 50 फीसद हिस्सा अलग करते हैं। बैंक इस हिस्से को आपके रहने का खर्च मानते हैं। आपकी आय के शेष 50 फीसद हिस्से से ही आपकी लोन लेने की पात्रता तय होती है। यदि आपके पास पहले से ही कोई लोन है, तो उस लोन की ईएमआई को 50 फीसद हिस्से से निकाल कर आपकी अतिरिक्त लोन की पात्रता तय की जाती है।

लोन स्टैकिंग भी बन सकता है वजह

आपके लोन आवेदन के रद्द होने की एक वजह लोन स्टैकिंग भी हो सकती है। यह वह स्थिति होती है जब व्यक्ति एक ही समय में एक से अधिक ऋणदाताओं के साथ एक से अधिक लोन प्राप्त करने का प्रयास करता है। बता दें कि, जब भी आप लोन के लिए आवेदन करते हैं, तो ऋणदाता CIBIL पर आपकी क्रेडिट हिस्ट्री की जांच करता है। आपकी क्रेडिट हिस्ट्री में एक से अधिक पूछताछ दर्शाती है कि आप लोन के लिए भूखे हैं और भविष्य में आप ऋण दायित्व को पूरा करने में विफल हो सकते हैं। इसलिए कई उधारदाताओं के पास आवेदन करने के बजाय बाजार में उपलब्ध सबसे अच्छे विकल्प की तलाश कर वहीं आवेदन करना चाहिए।

Posted By: Pawan Jayaswal

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप