नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। हाउसिंग डेवलपमेंट फाइनेंस कॉर्प (एचडीएफसी) ने प्राइम लेंडिंग रेट (पीएलआर) में बढ़ोतरी कर दी है। बैंक ने इन दरों में दिसंबर 2013 के बाद से पहली बार इजाफा किया है। बैंक ने 30 लाख रुपये से ऊपर के लोन की ब्याज दरों में 20 बेसिस प्वाइंट की बढ़ोतरी कर दी है, जबकि 30 लाख रुपये से कम के लोन (जिनमें निजी क्षेत्र के लोन शामिल हैं) में पांच बेसिस प्वाइंट की बढ़ोतर बढ़ा दिये हैं। यह जानकारी एचडीएफसी बैंक ने अपने बयान में दी है। जानकारी के लिए बता दें कि एक बेसिस प्वाइंट 0.01 फीसद के बराबर होता है।

एचडीएफसी का बेंचमार्क पीएलआर दिसंबर 2013 के अपने उच्चतम 16.75 फीसद से घटकर 16.15 फीसद के स्तर पर आ गया था। अब बढ़ोतरी के बाद यह 16.35 फीसद हो गया है। नई दरें एक अप्रैल से प्रभावी हो गईं हैं।

एचडीएफसी के सीईओ केकी मिस्त्री ने कहा, “यह बढ़ोतरी अक्टूबर के बाद से हमारे फंड्स की बढ़ती लागत को दर्शाता है। जुलाई 2017 से अबतक के बीच 10 साल वाले सरकारी बॉन्ड यील्ड में 100 बेसिस प्वाइंट का इजाफा आ चुका है। हालांकि फरवरी-मार्च में यील्ड में कमी आई है, लेकिन फिर भी यह अब भी ऊंची दर हैं। पीएलआर में यह इजाफा हमें हमारे मार्जिन 2.20 फीसद से 2.35 फीसद के बीच मेंटेन रखने में मदद करेगा, जो कि हमारा बीचे 10 वर्षों से ऐतिहासिक औसत रहा है।”

30 लाख रुपये से 75 लाख रुपये के बीच के लोन की ब्याज दर 8.40 फीसद से बढ़कर 8.60 फीसद कर दी गई है। वहीं, 75 लाख रुपये से ऊपर के लोन की ब्याज दर 8.50 फीसद से बढ़कर 8.70 फीसद कर दी गई है। 30 लाख रुपये तक के लोन 8.40 फीसद से बढ़कर 8.45 फीसद कर दिये गए हैं। महिलाओं को ऊपर बताए गये सभी स्लैब में पांच बेसिस प्वाइंट की रिबेट दी जाएगी।

Posted By: Surbhi Jain