नई दिल्‍ली, बिजनेस डेस्‍क। भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने अपने डिजिटल 2.0 कार्यक्रम के तहत प्राइवेट बैंक HDFC Bank की नई डिजिटल व्यवसाय-उत्पादक गतिविधियों पर प्रतिबंध हटा दिया है। एक एक्सचेंज फाइलिंग में बैंक ने कहा, "आरबीआई ने 11 मार्च, 2022 को एक लेटर के जरिए बैंक के डिजिटल 2.0 कार्यक्रम के तहत बिजनेस बढ़ाने वाली गतिविधियों पर प्रतिबंध हटा दिया है। निदेशक बोर्ड के सदस्यों ने आरबीआई के उस पत्र का संज्ञान लिया है।"

आरबीआई की सिफारिशों को हमेशा मानने के लिए प्रतिबद्ध

एचडीएफसी बैंक ने कहा कि वह आरबीआई की सिफारिशों को हमेशा मानने के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध है। बैंक ने कहा कि हमने इस दौरान अपने ग्राहकों की उभरती डिजिटल जरूरत को पूरा करने के लिए लघु, मध्यम और दीर्घकालिक योजनाओं को तैयार किया है। हम आने वाले दिनों में इन फीचर्स को शुरू करेंगे। हमें खुशी है कि हम एक बार फिर ग्राहकों को सर्विस देने में सक्षम होंगे। हमने अपने ग्राहकों को अपनी श्रेणी में बेहतर सर्विस का पूरा Suit पेश करने के लिए सिस्‍टम तैयार किया है।

रिजर्व बैंक ने दिसंबर 2020 में रोकी थी सर्विस

बता दें कि रिजर्व बैंक ने दिसंबर 2020 में एचडीएफसी बैंक से कहा था कि वह अपने डेटा सेंटर में बार-बार दिक्‍कत आने के बाद अपनी आगामी डिजिटल बिजनेस-जनरेटिंग गतिविधियों और नए क्रेडिट कार्ड ग्राहकों की सोर्सिंग के सभी लॉन्च को रोक दे। इससे बैंक का परिचालन प्रभावित हुआ था। इसके अलावा, आरबीआई ने बैंक बोर्ड को खामियों की जांच करने और जवाबदेही तय करने का भी निर्देश दिया था।

अगस्‍त में मिली थी नए क्रेडिट कार्ड जारी करने की इजाजत

पिछले साल अगस्त में, आरबीआई ने एचडीएफसी बैंक पर नए क्रेडिट कार्ड जारी करने की अनुमति देने से आंशिक रूप से प्रतिबंध हटा दिया था। प्राइवेट बैंक ने तब कहा था कि उसने आंशिक रूप से प्रतिबंध हटाने के बाद एक रिकॉर्ड क्रेडिट कार्ड जारी किया था।

Edited By: Ashish Deep

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट