नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। देशभर में परीक्षा का समय चल रहा है। अलग अलग राज्यों की बोर्ड परीक्षाएं चल रही हैं। CBSE की भी परीक्षाएं जारी हैं। ऐसे में परीक्षा खत्म होने के बाद स्टूडेंट हायर एजुकेशन के लिए जाएंगे। हर दिन शिक्षा महंगी होने की वजह से परिवार के गार्जियन के लिए सबसे बड़ी चिंता बच्चों की हायर एजुकेशन को लेकर होती है। गार्जियन के लिए चिंता का सबब यह है कि बच्चों की पढ़ाई के लिए पैसे कहां से लाएं। ऐसे वक्त में जब आप बच्चों की पढ़ाई को लेकर चिंतित हैं तो एजुकेशन लोन एक बड़ा सहारा बन जाता है। एजुकेशन लोन लेने से पहले कुछ जरूरी बातों का ध्यान रखना चाहिए।

एजुकेशन लोन लेने की प्रक्रिया

आपको यह लोन पोस्ट ग्रेजुएशन या फिर किसी प्रोफेशनल पढ़ाई के लिए मिल सकता है। जिस बैंक में आपका खाता हो उस बैंक से आप लोन के लिए बात कर सकते हैं। ऐसा एजुकेशनल इंस्टीट्यूट जो सरकार से मान्यता प्राप्त है उसके लिए आपको प्रोफेशनल कोर्स के वास्ते लोन लेने में ज्यादा मुश्किल नहीं आएगी। एजुकेशनल लोन में आपके कॉलेज की फीस, लाइब्रेरी, हॉस्टल का खर्चा और पढ़ाई के लिए कंप्यूटर तक की खरीदारी शामिल होती है।

ये डॉक्यूमेंट्स आएंगे आपके काम

छात्र की पिछली परीक्षा की मार्कशीट, कोर्स के दौरान होने वाले खर्चों के प्रमाणपत्र, आखिरी 6 महीनों का बैंक स्टेटमेंट्स, एंट्रेंस और स्कॉलरशिप के दस्तावेज और माता पिता का बीते दो वर्षों का आईटीआर प्रमाण देना होगा।

क्या हैं शर्तें

एजुकेशन लोन के लिए आवेदक का भारतीय होना जरूरी है। 16 से 35 वर्ष की आयु वाले छात्र इसके लिए आवेदन कर सकते हैं।

ब्याज भुगतान पर टैक्स छूट

आयकर अधिनियम की धारा 80E के अंतर्गत इसके ब्याज भुगतान पर टैक्स छूट के लिए क्लेम किया जा सकता है।  

Posted By: Nitesh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस