नई दिल्ली, जेएनएन। होम लोन (Home Loan) लेने के इच्छुक ग्राहकों के लिए अच्छी खबर यह है कि देश के चार नामी बैंक भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआइ), कोटक महिंद्रा बैंक, बैंक आफ बड़ौदा (बीओबी) और पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) होम लोन के लिए ब्याज दर घटा चुके हैं। कई अन्य बैंक त्योहारी सीजन में अपनी लोन दरें घटाने की तैयारी में हैं। कोटक महिंद्रा ने अपनी होम लोन ब्याज दर में 0.15 फीसद की कटौती की घोषणा की है। बैंक अब 6.50 फीसद की दर पर होम लोन उपलब्ध कराएगा। हालांकि 6.50 फीसद की दर पर होम लोन, त्योहारों के दौरान की पेशकश है और केवल आठ नवंबर तक उपलब्ध होगी। इस घटी दर पर कर्ज वेतनभोगी वर्ग से आने वाले उच्च क्रेडिट स्कोर वाले ग्राहकों को दिया जाएगा।

6.70 फीसद पर एसबीआइ से लें कितना भी कर्ज

भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआइ) ने होम लेने वाले नए ग्राहकों के लिए 6.70 फीसद की घटी ब्याज दर पर त्योहारी पेशकश की घोषणा की है। बैंक ने पहली बार होम लोन की निचली दर के लिए लोन रकम की ऊपरी सीमा खत्म ही है। अब तक बैंक 75 लाख रुपये से कम लोन के लिए ही करीब पौने सात फीसद की दर रखता था। उससे अधिक लोन पर 7.15 फीसद ब्याज देना होता था। बैंक ने कहा है कि 0.45 फीसद की कमी से कर्ज लेने वाले को 30 वर्षों के लिए 75 लाख रुपये के कर्ज पर आठ लाख रुपये से अधिक की बचत होगी। बैंक ने वेतनभोगी और गैर-वेतनभोगी ग्राहकों के बीच ब्याज में 0.15 फीसद का अंतर भी खत्म कर दिया है।

बीओबी ने ब्याज दर में 0.25 फीसद की कमी की

बैंक आफ बड़ौदा ने खुदरा कर्ज लेने वालों के लिए ब्याज में छूट देने समेत अन्य त्योहारी पेशकश की हैं। बैंक ने बड़ौदा होम लोन और बड़ौदा कार लोन की मौजूदा दर में 0.25 फीसद की कमी की है। बैंक के होम लोन की ब्याज दर 6.75 फीसद और आटो लोन की सात फीसद से शुरू होती है। इसके अलावा बैंक ने होम लोन प्रोसेसिंग फीस में भी छूट की घोषणा की है।

50 लाख से ज्यादा लोन लेने वालों को पीएनबी का तोहफा त्योहारी सीजन को देखते हुए पंजाब नेशनल बैंक ने 50 लाख रुपये से ज्यादा के होम लोन पर ब्याज दर को आधा फीसद यानी 0.50 फीसद घटाकर 6.60 फीसद कर दिया है। यह दर कर्ज लेने वाले के क्रेडिट स्टोर से जुड़ी होगी। इसका मतलब यह होगा कि अगर किसी का क्रेडिट स्कोर अच्छा नहीं है तो उसे इस दर पर लोन नहीं मिलेगा।

बैंक और उनके होम लोन की दर

होम लोन को ऐसे करें दूसरे बैंक में ट्रांसफर

इस वक्त होम और आटो लोन की जो दरें हैं, उसे देखते हुए चार-पांच वर्ष पहले लोन ले चुके ग्राहकों के लिए अपना लोन दूसरे बैंक में ट्रांसफर कर लेना बेहद फायदे का सौदा हो सकता है। खासतौर पर जिन ग्राहकों ने तीन-चार वर्ष पहले नौ फीसद या उससे अधिक की दर पर होम लोन लिया, उन्हें किसी अन्य बैंक से वर्तमान में सात फीसद के आसपास की निचली दर पर लोन मिल सकता है और वे लोन अमाउंट किसी अन्य बैंक में ट्रांसफर कराकर बड़ा फायदा उठा सकते हैं।

ऐसे लिया जा सकता है यह फायदा

1. सबसे पहले उस बैंक को एक एप्लीकेशन के माध्यम से सूचित करना होगा, जहां से अभी आपका लोन चल रहा है। इस पत्र के साथ एक फार्म भरना होगा और लोन ट्रांसफर के कारण बताने होंगे।

2. प्रारंभिक औपचारिकताएं पूरी करने के बाद बैंक आपको एनओसी देगा।

3. एनओसी मिलने के बाद आप नए बैंक में संपर्क करें। एनओसी, केवाईसी और प्रापर्टी के कागजात सहित लोन बैलेंस स्टेटमेंट, ब्याज स्टेटमेंट और भरे हुए एप्लीकेशन फार्म की कापी जमा करनी होगी।

4. सभी दस्तावेज नए बैंक में जमा करने के बाद अपने लोन अकाउंट को बंद करने से संबंधित अंतिम स्वीकृति की प्रतीक्षा करें।

5. एक बार स्वीकृति मिलने पर आपको नए बैंक के साथ करार करना होगा और बकाया फीस का भुगतान करना होगा। इसके पूरा होने पर आप अगले महीने से ईएमआइ नए बैंक को चुका सकते हैं।

5,000 रुपये तक कम कर सकते हैं अपनी EMI

मान लीजिए आपने आज से चार साल पहले यानी 2017 में होम लोन लिया था, तब होम लोन पर ब्याज दरें 9.25 फीसद थीं। अब आप होम लोन को किसी नए बैंक में शिफ्ट में करके सात फीसद पर ले जाते हैं तो आपकी ईएमआइ में कितना फर्क पड़ेगा, आइए अब इसको समझते हैं।

Edited By: Ankit Kumar