Menu
blogid : 14887 postid : 1139722

172 बार जहरीले सांपों ने काटा, 60 साल तक जहर को किया इंजेक्ट और 100 साल जिया

International Affairs

  • 94 Posts
  • 5 Comments

प्रकृति में अनेक प्रकार के जीव- जंतु ,प्राणियों का समूह पाया जाता है. जहाँ  एक तरफ हम कुछ प्राणियों को अपने निजी जीवन में शामिल कर मानवता को दर्शाते हैं, वहीं दूसरे क्षण कुछ प्राणियों की झलक  मात्र  हमारे ह्रदय में भय उत्पन्न कर देती है. इसी श्रृंखला में  सांपों को भी शामिल किया जा सकता है.  सामान्यतः  हमने साँपों को सपेरों के इशारों पर नाचते देखा होगा ,परंतु कोई व्यक्ति इन जहरीले प्राणियों को पकड़ता ही नहीं, बल्कि इनको हमेशा के लिए अपने साथ रखने को तत्पर रहता है जो एक आश्चर्य चकित करने वाला कार्य है. यह कार्य करने वाले “बिल हास्ट” न्यू जर्सी के नागरिक थे. जिन्होंने अपनी 100  वर्षों की आयु में 172  बार सर्पदंश (साँप का काटना) की पीड़ा को महज अपने शौक के लिए सहन किया.


bill the snake king

Read : सांप के जहर की ऐसी असलियत जो आपके होश उड़ाने के लिए काफी है, देखिए क्या हुआ जब इंसान के खून में मिला जहरीले नाग का जहर

मात्र 15 वर्ष की आयु में बिल हास्ट अनेक विषैली प्रजातियों वाले सर्पों के जहरीले चिपचिपे पदार्थ को निकालने का कार्य बड़ी निपुणता के साथ करते थे. उनका मानना था कि इस विषैले पदार्थ का सेवन उनके लिए संजीवनी का कार्य करेगा जो उनको एक लम्बी और स्वस्थ्य जिन्दगी जीने में मददगार होगी. 1948  में “मियामी सरपेंट्रियम लैब” में उन्होंने 32  प्रकार के साँपों के विषाक्त पदार्थ को मिलाकर एक सीरम बनाया जिसको इंजेक्शन के रूप में 1984  तक ग्रहण करते रहे ,जो हास्ट के रक्त की प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि करता था और जहर को शरीर में फैलने से रोकने में भी सहायक होता था.


Bill-Haast (2)

Read : बाप रे! भारत में कहाँ से आया उड़ने वाला सांप ?

1940 मे, एक कोबरा द्वारा डसे जाने पर हास्ट को अनुभव हुआ कि पोलियो जैसे बीमारी का समाधान साँपों के विष के साथ किया जा सकता है, जिसके लिए हास्ट ने 400  कोबरा साँपों के सीरम को एकत्रित कर “मियामी रिसर्च यूनिवर्सिटी ” में  एक बन्दर के ऊपर प्रयोग किया. यह खोज काफी हद तक सफल थी ,लेकिन “जोंस शल्क ” ने अप्रैल 1955 में , हास्ट के प्रथम किये गए प्रयासों को सफल बनाते हुए “कोबरा” के जहर को एक चामत्कारिक औषधी के रूप में विकसित किया.

bill3

हास्ट ने “लेथल सर्प” के विष की मदद से गठिया और उसके जैसे अनेक बीमारियों के समाधान को खोज निकला. 2003 में, मलेशिया के गड्ढों में रहने वाले नाग ने हास्ट को डसा, जिसकी वजह से उनके हाथ हमेशा के लिए शिथिल हो गए.”बिल हास्ट”,सांपों की दुनिया के  एक प्रतिष्ठित व्यक्ति थे -“फॉब ”  के मतानुसार ” कौन सा इंसान होगा जो अपने ऑफिस में कोबरा के साथ हांस्ट की फोटो लगाएगा  ,जिन्होंने दुनिया में सबसे अधिक समय तक साँपों के साथ रहकर सर्पदंशों का विचित्र रिकॉर्ड कायम किया…Next

Read more :

यहां घोसले में परिंदे नहीं रहते हैं इंसान, यह है विश्व का अनोखा गांव

इस जगह पर ‘पैसों का पेड़’ देखते ही लोगों ने कर डाली ऐसी हरकत

भारत में है दुनिया का वर्ल्ड बेस्ट होटल, एक रात रूकने के लिए खर्च करने पड़ेंगे 44,987 रुपए

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply