Menu
blogid : 15457 postid : 746971

मंत्रालय संभालने के लिए शैक्षिक योग्यता जरूरी है या नेतृत्व क्षमता?

Today`s Controversial Issues

  • 88 Posts
  • 153 Comments

कभी यूपीए सरकार पर ताबड़तोड़ हमले करने वाले भाजपा के नेता आज एनडीए की सरकार बनने के बाद खुद हमले के शिकार हो रहे हैं। इसमें पहला नाम है मानव संसाधन मंत्री (शिक्षा मंत्री) स्मृति ईरानी का। कांग्रेस प्रवक्ता अजय माकन ने ट्विटर के माध्यम से मोदी कैबिनेट की मंत्री और अमेठी लोकसभा चुनाव हार चुकी स्मृति ईरानी के ‘स्नातक’ भी नहीं होने और उन्हें मानव संसाधन विकास मंत्रालय जैसा खासा अहम मंत्रालय दिए जाने को लेकर सवाल उठाया है।


स्मृति ईरानी को मानव संसाधन मंत्रालय दिए जाने पर माकन ने हैरत जताते हुए कहा कि “जिस व्यक्ति ने अपनी शैक्षिक योग्यता के बारे में स्पष्ट रूप से जिक्र नहीं किया, उसे मानव संसाधन विकास मंत्रालय का प्रभारी कैसे बनाया जा सकता है। स्मृति स्नातक भी नहीं हैं। चुनाव आयोग की वेबसाइट पर उनके हलफनामे को देखिए।“ माकन की बात का समर्थन करने वाले लोगों का कहना है कि अगर शिक्षा मंत्री कम पढ़ा-लिखा होगा तो आप सोच सकते हैं कि देश के युवाओं का भविष्य कैसा होगा!


वहीं भाजपा ने माकन की इस टिप्पणी को बेबुनियाद करार दिया है। कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने इस बारे में संवाददाताओं के सवालों के जवाब में कहा, अगर कांग्रेस प्रवक्ता ने ऐसा कहा है तो यह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है। सारा देश स्मृति की नेतृत्व क्षमता से परिचित है। नरेंद्र मोदी ने उन्हें उनकी काबीलियत के आधार पर ही यह जिम्मेदारी सौंपी है। रविशंकर प्रसाद ने कहा कि कांग्रेस को ऐसी टिप्पणियां करने से पहले अपने अंदर झांक कर देख लेना चाहिए।


मंत्रालय संभालने के लिए शैक्षिक योग्यता जरूरी है या नेतृत्व क्षमता?

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *