Menu
blogid : 27185 postid : 27

लोगों को क्रेडिट कार्ड लेने से पहले क्या समझना चाहिए?

The Filter Post

The Filter Post

  • 2 Posts
  • 0 Comment

बैंक आपके दिमाग के साथ खेलता है। आइये जानते हैं कैसे —

 

पहली बात ये कि इस कार्ड का नाम क्रेडिट कार्ड रखा गया ना की लोन कार्ड जबकि वो आपको लोन ही देता है एक तरह से कम समय के लिए ताकि आपको किसी और से पैसे ना मांगने पड़े।पर बैंक जानता है कि लोन शब्द सुन क़र लोग इससे कतराएंगे इसके लिए वो लाये एक खूबसूरत शब्द क्रेडिट कार्ड।

 

 

मेरे एक मित्र ने हाल ही मे क्रेडिट कार्ड लिया जिस पर मैंने उनसे पुछा की आपको इसकी क्यों जरुरत पड़ी जिसपर उनका कहना था —”कई बार पैसों की अचानक जरुरत पड़ जाती है और किसी से मांंगने से अच्छा है क्रेडिट कार्ड से खर्चा क़र दो और बाद मे खुद भर दो!”

 

 

बहुुत लोग इस तरह की सोच रखते हैं पर 90 फीसदी लोग कोई जायज खर्चा नहीं क़र रहे होते हैं। कितनी बार ऐसा हुआ की आपने क्रेडिट कार्ड अस्पताल या दवाइयों के खर्चो के लिए करा हो? अधिकतर समय वो ऑनलाइन शॉपिंग और जो चीजें जरुरत की नहीं हैं उनके लिए काम में लिया जाता है।

 

 

अक्सर क्रेडिट कार्ड रखने वाले लोग ये तक कहते हैं कि इससे खर्चा करने से फायदा होता है। उन्हें पॉइंट्स मिलते है जिससे वो सस्ते में टिकट्स करा सकते है और भी कई फायदे होते है।

 

 

अब आइये इस तर्क को भी दूसरे पहलु से समझते है —
क्रेड (CRED) करके एक एप्लीकेशन है जो आपको उसके द्वारा अपने क्रेडिट कार्ड का भुगतान करने पर पॉइंट्स देती है जिससे आपको चीजें मिलती हैं। लोग कहते है की ये तो फायदे वाली बात है पर वो जो बात नहीं समझते है वो है कि   —

 

 

ये सब मार्केटिंग है, जिससे वो आप के दिमाग के साथ खेलते हैं। वो आपको ये सब चीजें लुभाने के लिए देते हैं ताकी आप और फालतू का खर्चा करें पर आपके दिमाग में रहता है की मुझे ज्यादा पॉइंट्स मिल रहे हैं  और मैं फायदा उठा पा रहा हूंं। अधिकतर लोग इस छोटी सी बात को समझ नहीं पाते है और क्रेडिट कार्ड ले क़र हर महीने इएमआई (EMI) के जाल मे फंस जाते है।

Tags:   

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *