Menu
blogid : 317 postid : 692043

फेसबुक पर लगा दी बोली गर्भ में पल रहे बच्चे की

तकनीक-ए- जहॉ

  • 174 Posts
  • 487 Comments

इंटरनेट का उपयोग कुछ भी खरीदने-बेचने के लिए किया जा सकता है. आज इंटरनेट जगत में ढेरो ऐसी वेबसाइट्स हैं जो आपके किसी भी सामान को ग्राहक तक पहुंचा सकती हैं या फिर आपको आपकी मनपसंद चीज मात्र एक क्लिक में दिलवा सकती है. सिर्फ खरीद-फरोख्त के हिसाब से ही नहीं बल्कि फेसबुक और ट्विटर के जरिए आप अपने बिछड़े दोस्तों अर रिश्तेदारों से मिल भी सकते हैं और चाहें तो नए दोस्त भी बना सकते हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं इस नई तकनीक का फायदा कुछ लोग किस तरह उठा रहे हैं?



child on facebookउल्लेखनीय है कि लॉस एंजेल्स (अमेरिका) की एक महिला ने अपने अजन्में बच्चे को ही फेसबुक पर बेच दिया. 18 वर्षीय अमेरिकी युवती करैरा चपारो को जब इस बात का पता चला कि अविवाहित होने के बावजूद वह मां बनने वाली है तो उसने परिवार के दबाव में आकर अपने अजन्में बच्चे की बोली फेसबुक पर लगा दी.


मोबाइल कंपनियों की चांदी होगी इस साल


आपको बता दें कि करैरा और उनके ब्वॉयफ्रेंड ने पहले यह निश्चित किया था कि वह ये बात किसी को नहीं बताएंगे लेकिन करैरा ने भावनाओं में आकर अपने घर पर यह बता दिया कि वह मां बनने वाली है. उसके मुंह से यह बात सुनते ही उसकी मां और बहन ने उसे कहा या तो यह बच्चा गिरा दे, किसी अनाथालय में दे दे या फिर इसे बेच दे. परिवार के दबाव में आकर करैरा ने अपने बच्चे को फेसबुक पर 1,135 डॉलर की कीमत में एक विवाहित दंपत्ति को बेच दिया. 4 नवंबर, 2013 को बच्चे का जन्म हुआ और अगले ही दिन दंपत्ति ने परिवार को पैसे थमा दिए. चपारो परिवार इस कीमत से खुश नहीं था और इस बीच पुलिस को इस डील की खबर लग गई और उन्होंने बच्चे को बेचने और खरीदने वाले दोनों ही परिवारों को गिरफ्तार कर लिया है.



सैंटियागो न्यायालय में इस केस को ले जाया गया और न्यायाधीश के अनुसार यह मामला बहुत गंभीर है लेकिन उनका यह भी कहना है कि चिली कानून के अनुसार पैसे के एवज में बच्चे को बेचना गलत नहीं है इसलिए यह मामला थोड़ा जटिल साबित हो सकता है.


अब एसएमएस खोने का डर भूल जाइए


उपरोक्त मामले को समझने के बाद यह बात स्पष्ट हो जाती है कि आजकल मानवीय भावनाओं और संबंधों का कोई मसला रह ही नहीं गया है. हो सकता है समाज के डर और लांछनों से बचने के लिए एकमां को मजबूरन अपने बच्चे को ऑनलाइन बेचना पड़ा लेकिन ऐसे हालात पैदा होने देना और संबंधों की सीमा से बाहर निकल जाना भी तो हमारी ही गलती है.


पैसे खर्च करने से पहले कुछ तो सोच लीजिए

अब चश्मे से चार्ज होगा मोबाइल

माल चीनी और दाम….. बाप रे!!!

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *