Menu
blogid : 312 postid : 1394497

निधन: 1983 वर्ल्डकप में यशपाल शर्मा थे दूसरे सर्वाधिक रन स्कोरर, अंपायर, कोच, कमेंटेटर, सेलेक्टर और रेफरी भी रहे

1983 वर्ल्डकप में भारत को विश्वविजेता बनाने में अहम भूमिका निभाने वाले यशपाल शर्मा अब हमारे बीच नहीं रहे। 13 जुलाई की सुबह कार्डिएक अरेस्ट से उनका निधन हो गया। यशपाल शर्मा विश्वकप में भारत के लिए सर्वाधिक रन बनाने वाले दूसरे बल्लेबाज थे। तीन से ज्यादा टीमों के लिए खेलने वाले यशपाल ने अपने क्रिकेट के सफर में लगभग हर तरह का रोल निभाया। वह बल्लेबाज, गेंदबाज के अलावा, कमेंटेटर, सेलेक्टर, अंपायर, रेफरी और कोच भी रहे।

Rizwan Noor Khan
Rizwan Noor Khan 13 Jul, 2021

66 साल की उम्र में दुनिया को अलविदा कहा
भारतीय क्रिकेट के सफलतम बल्लेबाजों में शुमार यशपाल शर्मा 66 साल के थे। एएनआई के मुताबिक सुबह 7:40 बजे उन्होंने इस दुनिया को अलविदा कह दिया। वह अपने पीछे पत्नी, बेटा और दो बेटियां छोड़ गए हैं। यशपाल शर्मा को 1983 वर्ल्डकप में खेली गईं शानदार पारियों और भारतीय क्रिकेट को दिए उनके योगदान के लिए उन्हें हमेशा याद किया जाएगा।

Yashpal Sharma. Image courtesy- ANI


173 रन की पारी खेलकर मचाया था तहलका

पंजाब के लुधियाना में 11 अगस्त 1954 को जन्मे यशपाल शर्मा दाहिने हाथ के बल्लेबाज, मीडियम फास्ट गेंदबाज और विकेटकीपर भी थे। 1977 में दिलीप ट्रॉफी के मैच में नार्थ जोन के लिए यशपाल शर्मा ने शानदार 173 रन की पारी खेलकर तहलका मचा दिया। उन्हाेंने साउथ जोन के गेंदबाजों की जमकर धुनाई की थी। इसी पारी के बाद वह नेशनल सेलेक्टर्स की नजरों में आ गए और अक्टूबर 1978 में पाकिस्तान टूर में वह वनडे टीम का पहली बार हिस्सा बने।

वर्ल्डकप में दूसरे सर्वाधिक रन स्कोरर थे
अगस्त 1979 में यशपाल शर्मा ने इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट क्रिकेट में डेब्यू किया। वह 1979 से 1983 तक टीम इंडिया के नियमित मिडिल ऑर्डर बैट्समैन रहे। 1983 वर्ल्डकप में यशपाल शर्मा कपिल देव (303) के बाद सबसे ज्यादा रन बनाने वाले भारतीय बल्लेबाज रहे। यशपाल ने वर्ल्डकप के 8 मैच खेले और 240 रन बनाए और हाईएस्ट स्कोर 89 रन रहा। वर्ल्डकप में उन्होंने 2 अर्धशतक जड़ने के साथ कुछ महत्वपूर्ण पारियां खेलकर टीम को वर्ल्डकप दिलाने में कामयाब रहे।

Yashpal Sharma. Image courtesy- ANI

वनडे और डॉमेस्टिक क्रिकेट मे रहा जलवा
यशपाल शर्मा ने अपने करियर में पंजाब, हरियाणा और रेलवे के लिए खेलते हुए नेशनल टीम का हिस्सा बने। ईएसपीएन क्रिकइंफो के आंकड़ों के अनुसार यशपाल शर्मा ने इंटरनेशनल करियर में कुल 79 वनडे और टेस्ट मैच खेले। जिनमें 2 शतक और 13 अर्धशतक लगाकर 2400 से ज्यादा रन बनाए। उन्होंने वनडे और टेस्ट में 35 से ज्यादा ओवर भी डाले। वहीं, डॉमेस्टिक क्रिकेट में उन्होंने 220 से ज्यादा मैच खेले और 10 हजार से अधिक रन भी बनाए। इन मैचौं में उन्होंने बल्लेबाजी के अलावा गेंदबाजी और विकेटकीपिंग भी की। फर्स्ट क्लास क्रिकेट में उनके नाम नाबाद दोहरा शतक (201) रन के अलावा 21 शतक और 46 अर्धशतक भी दर्ज हैं।

Yashpal Sharma. Image courtesy-ESPNcricinfo


अंपायर, रेफरी, कोच और कमेंटेटर भी रहे

1983 वर्ल्डकप के हीरो यशपाल शर्मा ने जनवरी 1985 में इंग्लैंड के खिलाफ आखिरी वनडे मैच खेला था। इसके बाद उन्होंने सन्यास ले लिया। लेकिन, इसके बाद भी वह क्रिकेट से जुड़ रहे और 2 वुमेंस वनडे इंटरनेशनल मैचों समेत कई मैचों में अंपायर रहे। वह 15 से ज्यादा लिस्ट ए, टी20 मैचों में मैच रेफरी भी रहे। साल 2005 और 2008 में वह नेशनल टीम के सेलेक्टर भी रहे। उन्होंने कई मैचों में कमेंट्री भी की और कोच भी रहे। अभी के दिनों में वह दिल्ली क्रिकेट की एडवाइजरी कमेटी का हिस्सा थे।…Next

 

 

ये भी पढ़ें : 

खेल रत्‍न और अर्जुन अवॉर्ड के लिए लिस्‍ट में इन 5 क्रिकेटर्स के नाम

ICC Ranking:  रोहित शर्मा टेस्‍ट में दुनिया के नंबर वन ओपनर

BCCI ने कहा- भारत में नहीं यूएई में खेला जाएगा T20 वर्ल्‍डकप 

तीरंदाजी विश्वकप में पति-पत्नी की जोड़ी ने रचा इतिहास

फुटबॉलर सुनील छेत्री ने लिओनेल मेसी का रिकॉर्ड तोड़ा

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *