Menu
blogid : 312 postid : 1390985

टी20 मैच शुरू होने से पहले घुटनों पर बैठेंगी खिलाड़ी, खास मकसद के लिए जर्सी पर लगेगा खास लोगो

Rizwan Noor Khan

21 Sep, 2020

सोशल कॉज या अन्य किसी मुहिम को सपोर्ट करने के लिए क्रिकेटर्स और उनकी टीमें हमेशा से ही आगे आती रही हैं। इसी तरह अब टी20 मुकाबला खेलने जा रहीं दो धाकड़ टीमें मैदान पर पहले घुटनों के बल बैठेंगी और अमेरिका समेत अन्य देशों में नस्लभेद के खिलाफ ब्लैक लाइव्स मैटर मूवमेंट का समर्थन करेंगी।

West Indies Women T20 Skipper Stafanie Taylor.

अलग अलग तरीकों से समर्थन या विरोध करती रही हैं टीमें
क्रिकेट टीमें अकसर मैदान पर मैच शुरू होने से पहले या मैच के दौरान किसी खास मकसद को सहयोग करने या उसका विरोध करने के लिए बाजू में पट्टी बांधने और खास तरह के पोज देती रही हैं। अब इंग्लैंड में शुरू होने जा रही वुमेंस टी20 सीरीज चर्चा में है। 21 सितंबर यानी आज से वेस्टइंडीज और इंग्लैंड की महिला टीमें एक दूसरे के सामने होंगी।

टी20 सीरीज में नस्लभेद के खिलाफ उठेगी आवाज
5 टी20 मैचों की यह श्रंखला इंग्लैंड में खेली जाएगी और इसका पहला मैच काउंटी क्रिकेट ग्राउंड डर्बी में खेला जाएगा। मैच शुरू होने से पहले दोनों टीमों के प्लेयर मैदान पर अपने घुटनों पर बैठ जाएंगे। ऐसा करने का मकसद अमेरिका समेत दुनियाभर में नस्लभेद का विरोध करना होगा।

वेस्टइंडीज और इंग्लैंड की क्रिकेटर्स घुटनों पर बैठेंगी
इएसपीएनक्रिकइंफो के मुताबिक वेस्टइंडीज की कप्तान स्टैफनी टेलर ने बताया कि इंग्लैंड टीम की कप्तान हीथर नाइट ने उन्हें इस अनोखे काम में हिस्सा लेने के लिए आमंत्रण दिया है, जिसे उन्होंने स्वीकार कर लिया है। स्टैफनी के मुताबिक ब्लैक लाइव्स मैटर के समर्थन पर सभी खिलाड़ी कुछ वक्त के लिए मैदान में घुटनों पर बैठेंगी।

जर्सी पर BLM आंदोलन के समर्थन में लोगो भी रहेगा
स्टैफनी टेलर ने बताया कि घुटनों पर बैठकर विरोध करने का तरीका सिर्फ पहले मैच नहीं होगा, बल्कि आने वाले सभी मैचों में दोनों टीमों के प्लेयर घुटने पर बैठेंगे। स्टैफनी के मुताबिक इसके अलावा दोनों टीमों के प्लेयर अपनी जर्सी पर ब्लैक लाइव्स मैटर के समर्थन वाला लोगों भी लगाएंगे।

Stafanie Taylor (Left) And Heather Knight (Right).

अमेरिका में अश्वेत की हत्या के बाद से चल रहा BLM आंदोलन
बता दें कि अमेरिका के मेनियोपोलिस में 25 मई को अश्वेत नागरिक जार्ज फ्लॉयड को स्थानीय पुलिस के तीन आफिसर्स ने अमानवीय तरीके से उनकी गर्दन पर घुटना रखकर उनकी जान ले ली थी। उसके बाद से अमेरिका, इंग्लैंड समेत कई देशों में अश्वेत नागरिकों के समर्थन में लोग सड़कों पर उतर आए। मई से दुनियाभर में लोग अपने अपने तरीके से नस्लभेद के खिलाफ नाराजगी जाहिर कर रहे हैं। इसी कड़ी में महिला क्रिकेट टीमें भी यह कदम उठा रही हैं।

Read More :  भारत ने पाकिस्तान को बॉल आउट में दी थी सबसे शर्मनाक हार

वुमेन क्रिकेट की सचिन कही जाती है ये क्रिकेटर

एक इंच के फासले से ली गई कैच ने हरा दिया मैच

बास्केटबॉल स्कोरर को दिल दे बैठे ईशांत शर्मा

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *