Menu
blogid : 312 postid : 1218

नबंर वन का ताज बचाने के लिए आखिरी मौका

आज के टेस्ट मैच में इंग्लैण्ड से मिली लगातार दो हार और लगातार घायल होते खिलाड़ियों से टूट चुकी भारतीय टीम के पास नंबर वन का ताज बचाने का एक आखिर मौका है. वहीं इंग्लैण्ड तीसरे टेस्ट को भी अपने नाम करके भारत से टेस्ट क्रिकेट की बादशाहत छिनना चाहेगा.


India vs Englandचार मैचों की सीरीज में 0-2 से पिछड़ी भारतीय टीम यदि इंग्लैण्ड से यह मैच हार जाती है तो नंबर वन की रैंकिंग भी गंवा देगी. इंग्लैण्ड को शीर्ष पर पहुंचने के लिए दोनों मैच ड्रा कराने हैं या उनमें से एक जीतना है. इंग्लैंड के मौजूदा फार्म और भारतीय खेमे की फिटनेस समस्याओं को देखते हुए महेंद्र सिंह धोनी एंड कंपनी की वापसी आसान नहीं लगती. तेज गेंदबाज जहीर खान भी चोट के कारण सीरीज से बाहर होने वाले खिलाडि़यों की जमात में शामिल हो गए हैं. धोनी को अपने सलामी बल्लेबाजों से अच्छी शुरुआत की उम्मीद होगी.


टीम प्रबंधन को एजबेस्टन के हालात को देखते हुए टीम संयोजन में बदलाव करना होगा. हरभजन सिंह के बाहर होने के बाद लेग स्पिनर अमित मिश्रा को मौका मिल सकता है. तेज आक्रमण की कमान ईशांत शर्मा, प्रवीण कुमार और मुनाफ पटेल संभालेंगे. भारत की सबसे सफल सलामी जोड़ी वीरेंद्र सहवाग और गौतम गंभीर पर इंग्लैण्ड के नई गेंद के आक्रमण का सामना करने की जिम्मेदारी होगी. इंग्लैण्ड में सलामी जोड़ी की कामयाबी के बिना कोई टीम सफल नहीं हो सकी है लिहाजा दिल्ली के इन दो धुरंधरों पर नंबर वन का दर्जा और मैच बचाने की महती जिम्मेदारी होगी.


Dravid eyes Bradman's Recordइस मैच में कई रिकॉर्ड भी बनने की उम्मीद है. अगर द्रविड़ को दूसरे खिलाड़ियों का साथ मिला तो वह एक बड़ा रिकार्ड बना सकते हैं. टेस्ट क्रिकेट में सर डॉन ब्रैडमेन के अलावा कोई भी बल्लेबाज इंग्लैण्ड दौरे पर लगातार तीन टेस्ट शतक नहीं जमा सका है. द्रविड़ ने 2002 में भी ऐसा किया था और अब पहले दो टेस्ट में शतक जमाकर वह फिर से इस रिकॉर्ड को बनाने की दहलीज पर हैं. इसके अलावा सचिन तेंदुलकर भी सौवें अंतरराष्ट्रीय शतक से एक शतक दूर हैं.धोनी भी अगर एजबेस्टन टेस्ट में तीन कैच लपकते हैं तो 198 शिकार के पूर्व विकेटकीपर सैयद किरमानी के भारतीय रिकार्ड से आगे निकल जाएंगे.


तो वहीं इंग्लैण्ड को भी कम आंकने की भूल भारतीय खिलाड़ी नहीं कर सकते. इंग्लैण्ड के गेंदबाजों ने पिछले 16 टेस्ट की 32 पारियों में सिर्फ तीन बार विरोधी टीम को 400 से अधिक रन बनाने का मौका दिया है. इनमें से 11 मैचों में इंग्लैण्ड ने जीत दर्ज की और सिर्फ दो गंवाए. इन सभी टेस्ट में इंग्लैण्ड के गेंदबाजों का औसत 30 से कम रहा. भारतीय यदि इंग्लैण्ड की गेंदबाजी से बच गए तो उसके बल्लेबाज भी कम खतरनाक नहीं है.


10 अगस्त से लेकर 14 अगस्त तक चलने वाले इस मैच पर एक दिन पहले तक लंदन में फैली हिंसा का असर पड़ने की उम्मीद थी लेकिन अब वहां सब ठीक-ठाक है. दोनों टीमें टेस्ट में बेस्ट बनने के लिए कुछ ही देर में मैदान पर आमने-सामने होंगी.


संभावित टीमें :

भारत: महेंद्र सिंह धौनी [कप्तान], गौतम गंभीर, अभिनव मुकुंद, राहुल द्रविड़, सचिन तेंदुलकर, वीवीएस लक्ष्मण, सुरेश रैना, प्रज्ञान ओझा, प्रवीण कुमार, आरपी सिंह, ईशांत शर्मा, अमित मिश्रा, मुनफ पटेल, रिद्धिमान साहा, एस श्रीसंथ.


इंग्लैण्ड : एंड्रयू स्ट्रॉस [कप्तान], एलिस्टर कुक, जोनाथन ट्राट, केविन पीटरसन, इयान बेल, ईयोन मोर्गन, मैट प्रायर, स्टुअर्ट ब्रॉड, ग्रीम स्वान, जेम्स एंडरसन, क्रिस ट्रेमलेट, टिम ब्रेसनन.


Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *