Menu
blogid : 312 postid : 526

बॉस की लड़ाई में ना रह जाए अधूरी तैयारी [Commonwealth Games Blog]

Suresh kalmadi Hindi Common Wealth Blogs‘मैं हूं बॉस’ और राष्ट्रमंडल खेलों को सुचारू ढंग से करना मेरी जिम्मेदारी है अतः भ्रष्टाचार के आरोप इस समय मुझे पद छोड़ने के लिए बाध्य नहीं कर सकते. यह शब्द थे दिल्ली 2010 राष्ट्रमंडल खेलों की कार्यकारणी और आयोजन समिति के अध्यक्ष सुरेश कलमाड़ी के जिन्होंने साफ़ कर दिया कि खेलों का सफल आयोजन करना उनके लिए एक चुनौती है जिसे उन्होंने अपने कंधो पर ली है और और पद छोड़ने का सवाल ही नहीं उठता क्योंकि उन्होंने कुछ गलत नहीं किया.

सुरेश कलमाड़ी ने कहा कि सभी आरोपों को बढ़ा-चढ़ाकर पेश किया गया. जैसे कि टायलेट पेपर के लिए 4000 रुपये, क्या यह संभव है. यह सब गलत आरोप हैं. कलमाड़ी ने यह भी कहा कि मुझे सरकार से और अधिक समर्थन मिल रहा है और अगले एक महीने मैं पूरा एकाग्र रहूंगा और कोई मेरा ध्यान नहीं भटका सकेगा.

अधूरी है अभी भी तैयारी

आरोप प्रत्यारोप के दौर के बीच शायद सुरेश कलमाड़ी यह भूल गए हैं कि अभी भी खेलों के आयोजन में बहुत से कार्य अधूरे है जिसको पूरा करने के लिए बहुत थोड़ा समय बचा है.

Common Wealth Hindi Blogsपहले भुगतान ना होने के कारण और अब बारिश के कारण नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस-वे पर साइकिलिंग प्रतियोगिता का कार्य अभी भी अधूरा है. साइकिलिंग प्रतियोगिता के अभ्यास सत्र शुरू होने में सिर्फ पच्चीस दिन शेष हैं और हालात सुधरते नज़र नहीं आ रहे हैं. सूत्रों के अनुसार अगर खेल आयोजन समिति ने प्राधिकरण द्वारा किए गए कार्यो के खर्च का भुगतान नहीं किया तो प्राधिकरण खेल आयोजन समिति के कार्य को भी रोक देगा. डर इस बात का है कहीं यहां भी हालात दिल्ली जैसे न हो जाएं.

अधूरे कार्यों की सूची

• टाइल्स लगाने का काम अधूरा
• बिजली का लोड सुनिश्चित नहीं
• व्यू कटर और इंस्पेक्टर जोन बनने बाकी
• वाच टावर का काम शेष
• एरीना का कार्य भी नहीं हुआ शुरू
• मीडिया गैलरी व मंच भी तैयार नहीं
• पार्किंग अधूरी
• स्टार्टिग, फिनिशिंग प्वाइंट व यू-टर्न नहीं बने

commonwealth-games-2010आयोजन समिति का दावा

वहीं आयोजन समिति ने दावा किया है कि नोएडा में किए जाने वाले कार्य बरसात को ध्यान में रखकर किए जा रहे हैं. अभ्यास सत्र के लिए आवश्यक सुविधा व व्यवस्था को अभ्यास शुरू होने से पहले पूरा कर लिया जाएगा. अतः इसमें चिंता करने वाली बात नहीं है.

परन्तु कोई इन खेलों का आयोजन करने वाली समिति को समझाए चिंता तो होगी ही क्योंकि केवल 40 दिन शेष हैं. फिर पता चलेगा कि “नाक बचेगी या कटेगी.”

I am the Boss and it’s my responsibility to make Common Wealth Games Delhi 2010 a Successful Event”. These were the words of Mr. Suresh Kalmadi who denied allegations and charges against him pertaining to the Common Wealth Games corruption issue. Mr. Kalmadi also said that government is now cooperating more with him and now he is more focused as only 40 days are left to Common Wealth Games. But on another hand is Mr. Kalmadi unaware of the unfinished work on the Bicycling track on Noida-Greater Noida Express Highway for which only 25 days are remaining.

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *