Menu
blogid : 312 postid : 1366596

किसान की बेटी ने रचा इतिहास, देश के लिए जीता एशियाई चैम्पियनशिप में ‘गोल्ड’

पांच बार की वर्ल्ड चैंपियन, तीन बच्चों की मां भारतीय महिला मुक्केबाज एमसी मैरीकॉम ने एशियाई मुक्केबाजी चैम्पियनशिप में गोल्ड मेडल जीत लिया है। 34 साल की उम्र में भी बॉक्सिंग रिंग के अंदर मैरी कॉम की फिटनेस और तेजी देखने लायक होती है। पांच बार की वर्ल्ड चैंपियन, लंदन ओलंपिक गेम्स में ब्रॉन्ज मेडलिस्ट और एशियन गेम्स में पहला गोल्ड जीतने वाली मैरीकॉम की कहानी बेहद खास है।


cover marry

गरीब किसान परिवार में हुआ मैरीकॉम का जन्म

1 मार्च 1983 को मणिपुर के एक गरीब किसान परिवार में हुआ था। उनके मन में बॉक्सिंग का आकर्षण 1999 में उस समय उत्पन्न हुआ जब उन्होंने खुमान लम्पक स्पो‌र्ट्स कॉम्प्लेक्स में कुछ लड़कियों को बॉक्सिंग रिंग में लड़कों के साथ बॉक्सिंग के दांव-पेंच आजमाते देखा था। तब ही उन्‍होंने ठान लिया था कि वे हर हाल में बॉक्‍सर बनेंगी।



marry com

भारतीय बॉक्सिंग का अनोखा इतिहास हैं मैरीकॉम

मैरीकॉम ने बुधवार को भारतीय बॉक्सिंग में एक और इतिहास लिख दिया। वियतनाम के हो चिन मिन्ह सिटी में हुई एशियाई चैंपियनशिप में अपना पांचवां स्वर्ण पदक जीता और यह कारनामा करने वाली वह पहली महिला बॉक्सर बनी। उन्होंने 48 किलो लाइट फ्लाइवेट वर्ग के फाइनल में उत्तर कोरिया की किम हयांग मि को एकतरफ मुकाबले में 5-0 से शिकस्त दी।



mc marry kom


राज्यसभा सांसद ने रिंग में जीता गोल्ड

मैरीकॉम ने करीब एक साल बाद मुक्केबाजी रिंग में गोल्डन वापसी की है। राज्यसभा सांसद मैरी कॉम पांच साल तक 51 किलो में भाग लेने के बाद 48 किलोवर्ग में लौटी हैं। बता दें कि गोल्ड मेडल्‍स की चमक हासिल करने के लिए मैरी कॉम कड़ी मेहनत करती हैं। उन्‍हें ‘सुपरमॉम’ के नाम से भी जाना जाता है। उनके तीन बच्चे हैं, लेकिन इसके बावजूद उन्होंने बॉक्सिंग करना नहीं छोड़ा।


Mary Kom



‘मैग्नीफिशेंट मैरी कॉम’ की उपाधि से हैं सम्मानित

2008 में इस महिला मुक्केबाज को ‘मैग्नीफिशेंट मैरी कॉम’ की उपाधि दी गई थी। उन्‍होंने 2000 में अपना बॉक्सिंग करियर शुरू किया था। मैरी कॉम ने जब बॉक्सिंग शुरू की थी, तो उन्हें अपने घर से समर्थन नहीं मिला था। घर वाले मैरी कॉम के बॉक्सिंग के खिलाफ थे, लेकिन कड़ी मेहनत और लगन ने उनके घर वालों को भी मना लिया।



Mary-Kom



कई गोल्ड मेडल की हैं विजेता

लंदन ओलिंपिक ब्रॉन्ज मेडल विजेता मैरी कॉम ने एशियन चैंपियनशिप में अपना पांचवां गोल्ड मेडल जीत लिया। 34 साल की मेरी कॉम ने 2003, 2005, 2010 और 2012 में गोल्ड मेडल जीते थे।



marry medal


मैकॉम पर बन चुकी है फिल्म

मैरी कॉम पर बॉलीवुड में फिल्म भी बन चुकी है। इस फिल्म में प्रियंका चोपड़ा ने मैरी कॉम का किरदार निभाया था। गौरतलब है कि मैरी कॉम को पद्मश्री, अर्जुन अवॉर्ड और राजीव गांधी खेल रत्न जैसे अवॉर्ड्स से सम्मानित किया जा चुका है।…Next


Read More:

भारत के अमीर क्रिकेटरों में शामिल हैं गंभीर, शहीदों के बच्चों की पढ़ाई का उठाते हैं खर्च

इस क्रिकेटर के साथी खिलाड़ी ने दिया था धोखा, पत्नी की वजह से आज भी है दुश्मनी

कभी 400-500 रुपये के लिए दूसरे गांव जाते थे दोनों भाई, आज हैं स्टार खिलाड़ी

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *