Menu
blogid : 312 postid : 1390937

वुमेन क्रिकेट की सचिन कही जाती है ये क्रिकेटर, वनडे में सबसे पहले डबल सेंचुरी जड़ने का रिकॉर्ड

Rizwan Noor Khan

10 Sep, 2020

महिला क्रिकेट में बड़ा नाम कमाने वाली वाली बेलिंडा क्लार्क को उनके सहयोगी और प्रशंसक महिलाओं का सचिन तेंदुलकर कहते रहे हैं। क्रिकेट के ज्यादातर रिकॉर्ड उन्होंने अपने नाम किए हैं। बेलिंडा वुमेंस वनडे क्रिकेट में पहला दोहरा शतक जड़कर क्रिकेट इतिहास में नाम दर्ज कर चुकी हैं। उनके नाम दर्जनों रिकॉर्ड हैं जो कोई शायद ही कभी तोड़ पाए। वमेंस क्रिकेट की रिकॉर्ड होल्डर प्लेयर का आज जन्मदिन है। इस मौके पर जानते हैं उनके कुछ रोचक रिकॉर्ड और करियर के बारे में।

1991 में आस्ट्रेलिया वुमेन क्रिकेट टीम में चयन
आस्ट्रेलिया के न्यू साउथ वेल्स के न्यूकैशल इलाके में 10 सितंबर 1970 को जन्मी बेलिंडा क्लार्क ने कभी नहीं सोचा था कि वह क्रिकेट को अपना करयिर चुनेंगी। लेकिन, जब वह कॉलेज में थीं तो वुमेन क्रिकेट टीम का हिस्सा बनीं। इसके बाद उनका क्रिकेट सफर शुरू हो गया। उन्हें 1991 में न्यूजीलैंड के खिलाफ 3 वनडे मैचों की सीरीज के लिए आस्ट्रेलियाई टीम का हिस्सा बनाया गया।

1997 में क्रिकेट का सबसे बड़ा कारनामा रचा
मेलिंडा ने अपने करियर की पहली वनडे सीरीज में शानदार प्रदर्शन किया और जनवरी 1991 में ही टेस्ट टीम का हिस्सा भी बन गईं। कुछ ही समय में उन्होंने टीम में जगह तो पक्की ही की बल्कि उन्हें टीम की कमान भी सौंप ​दी गई। 1997 में वुमेंस क्रिकेट में बेलिंडा ने डेनमार्क के खिलाफ 155 बॉल में ताबड़तोड़ दोहरा शतक ठोक दिया।

वनडे में दोहरा शतक जड़ने वाली पहली क्रिकेटर बनीं
मुंबई में खेले गए इस मैच में बेलिंडा ने डेनमार्क के गेंदबाजी आक्रमण को तहस नहस कर दिया। वह ओपनिंग करने उतरी और अंत तक आउट नहीं हुईं। उन्होंने अपनी पारी में 22 चौकों की मदद से 229 रन बनाए। वनडे क्रिकेट में पहला दोहरा शतक बनाने वाली वह पहली क्रिकेटर बनीं।

सबसे ज्यादा वनडे खेलने का रिकॉर्ड
आईसीसी के मुताबिक बेलिंडा के नाम दर्जनों रिकॉर्ड हैं। वह दोहरा शतक जड़ने वाली दुनिया की पहली क्रिकेटर होने के साथ ही कप्तान रहते हुए सबसे ज्यादा वनडे मैच जीतने वाली महिला क्रिकेटर भी हैं। महिला क्रिकेट के एक कैलेंडर इयर में सबसे ज्यादा रन टांगने का रिकॉर्ड भी बेलिंडा के नाम दर्ज है।

दुनिया की सबसे खतरनाक खिलाड़ी बनीं
आस्ट्रेलियाई टीम की कप्तान रहते हुए बेलिंडा ने दो बार वुमेंस वनडे विश्वकप जीतने का रिकॉर्ड कामय किया। उनके बाद कोई दूसरी महिला कप्तान नहीं है जो ऐसा कर सकी है। बेलिंडा महिला वनडे क्रिकेट में सबसे ज्यादा मैचों में आस्ट्रेलिया की कप्तान भी रही हैं। वह अपने जमाने की दुनिया में सबसे धुरंधर बल्लेबाज भी रही हैं।

दर्जनों रिकॉर्ड बनाने के बाद 2005 में सन्यास
अपने धारदार खेल की वजह से क्रिकेट फैंस वुमेंस क्रिकेट में बेलिंडा को सचिन मानते हैं। वनडे और टेस्ट में 130 से ज्यादा मैच खेलने वाली बेलिंडा के नाम 5 हजार से ज्यादा रन दर्ज हैं। बेलिंडा ने अपने करियर का एकमात्र टी20 मैच खेला है। संयोग है कि उन्होंने अपने पहले वनडे और आखिरी वनडे में सेम 36 रन स्कोर किए। 1991 में क्रिकेट करियर शुरू करने वाली बेलिंडा ने 2005 में सन्यास ले लिया था।…NEXT

 

Read More :  बास्केटबॉल स्कोरर को दिल दे बैठे ईशांत शर्मा

रोहित और ईशांत शर्मा खेल पुरस्कार की घोषणा

दुनियाभर के बल्‍लेबाजों को पीछे छोड़ रोहित शर्मा वनडे क्रिकेट के सरताज बने

पृथ्‍वी शॉ ने बल्ले से बताया बैन लगाने से टैलेंट नहीं रुकता, तूफानी दोहरा शतक ठोक मचाया कोहराम

मनीष पांडे के अलावा इन क्रिकेटरों ने अभिनेत्रियों से रचाई शादी, नवाब पटौदी से हुई शुरुआत

चार टुकड़ों को जोड़कर बनती है पिंक बॉल, क्रिकेट की गुलाबी गेंद का इतिहास और तथ्‍य यहां जानिए

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *