Menu
blogid : 312 postid : 1390944

भारत ने पाकिस्तान को बॉल आउट में दी थी सबसे शर्मनाक हार, धोनी के हर धुरंधर ने उखाड़े थे स्टंप

Rizwan Noor Khan

14 Sep, 2020

क्रिकेट की सबसे बड़ी राइवलरी भारत और पाकिस्तान के बीच रहती है। 2007 में टी20 विश्वकप का 10वां मैच पाकिस्तान के लिए अब तक सबसे शर्मनाक मैच कहा जा सकता है। भारतीय खिलाड़ियों ने पहले बल्ले से धुआंधार रन बटोरे और जब मैच टाई हुआ तो अपनी गेंदबाजी के जौहर दुनिया के सामने दिखा दिए। रोमांच की सभी सीमाएं पार करने वाला यह मैच बॉल आउट में सबसे ज्यादा स्टंप उखाड़ने पर भारत की झोली में आ गिरा।

डरबन में खेला गया सबसे रोमांचक मैच
क्रिकेट इतिहास का पहली टी20 विश्वकप दक्षिण अफ्रीका की धरती पर 2007 में आयोजित किया गया। इस टूर्नामेंट का 10वां मैच भारत और पाकिस्तान के बीच आज ही के दिन यानी 14 सितंबर को डरबन में खेला गया। मैच का टॉस जीतकर पाकिस्तान के कप्तान शोएब मलिक ने पहले गेंदबाजी चुनी और भारत को बल्लेबाजी का आमंत्रण दिया।

सस्ते में लौट आई थी भारतीय सलामी जोड़ी
भारतीय टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने सबसे पहले गौतम गंभीर और वीरेंद्र सहवाग को बल्लेबाजी के लिए मैदान पर उतारा। लेकिन यह जोड़ी कमाल नहीं दिखा सकी और गंभीर शून्य और सहवाग मात्र 5 रन बनाकर पवेलियन लौट आए। रॉबिन उथप्पा ने एक तरफ से पारी संभाली लेकिन दूसरी तरफ से युवराज 1 रन और दिनेश कार्तिक 11 रन बनाकर आउट हो गए।

उथप्पा ने संभाली पारी और 141 रन पर पहुंचाया
उथप्पा के साथ धोनी ने साझेदारी निभाई और टीम को 20 ओवर में 9 विकेट के नुकसान 141 रन पर पहुंचा दिया। अजीत अगारकार और इरफान पठान ने 20 और 14 रन की उपयोगी पारियां खेलीं। उथप्पा ने सर्वाधिक 50 रन और धोनी ने 36 रनों का योगदान दिया। इस मैच में भारत के 6 खिलाड़ी दहाई का आंकड़ा भी नहीं छू सके।

पाकिस्तान को नहीं बनाने दिया एक रन
141 रनों का पीछा करने उतरी पाकिस्तान टीम को भारतीय गेंदबाजों ने नाकों चने चबवा दिए। बावजूद पाकिस्तान टीम मिस्बाह उल हक 53 और शोएब मलिक के 20 सर्वाधिक रनों की बदौलत आखिरी बॉल तक 141 रन पहुंची। अंतिम दो गेंद पर पाकिस्तान को जीत के लिए एक रन चाहिए थे। श्रीसंत ने पांचवीं गेंद को मिस्बाह को छूने नहीं दिया। अंतिम बॉल पर मिस्बाह ने हिट किया और रन के लिए दौड़ पड़े लेकिन भारतीय खिलाड़ियों ने उन्हें रन आउट कर इस मैच को टाई करा दिया।

मैच टाई हुआ तो बॉल आउट से निकला नतीजा
मैच टाई होने पर उस समय आज की तरह सुपर ओवर का नियम नहीं था, बल्कि इसकी जगह बॉल आउट का नियम था। बॉल आउट के तहत दोनों टीमों के 5—5 गेंदबाजों को को 3 राउंड में 1—1 बॉल फेंककर स्टंप पर हिट करनी होती थी। खास बात ये थी कि इस बीच बॉल खेलने के लिए कोई बल्लेबाज नहीं होता था। विकेट के पीछे बॉल पकड़ने के लिए सिर्फ विकेटकीपर ही होता था। यानी पिच पर एक गेंद फेंकने वाला होता था और एक पकड़ने वाला।

धोनी की चतुराई से भारत को मिली सफलता
इस रोमांचकारी मैच के नतीजे के लिए स्टेडियम में दर्शकों की सांसें थम गईं। भारत की ओर से पहले गेंद फेंकने के लिए कप्तान धोनी ने वीरेंद्र सहवाग को भेजा और खुद स्टंप के पीछे बैठ गए। यहां धोनी ने अपनी चतुरता दिखाते हुए ठीक स्टंप के पीछे बैठे ताकि गेंदबाज को निशाना लगाने में आसानी हो। आमतौर पर पर विकेटकीपर मैच के दौरान आफ स्टंप के बाहर खड़ा होता है। धोनी की यह चपलता टीम के लिए फायदेमंद रही।

पहले राउंड में सहवाग ने उखाड़ा स्टंप
पहले राउंड में भारत की ओर से सहवाग ने स्टंप उखाड़ दिया। पाकिस्तान की ओर से यासिर अराफात को गेंद थमाई गई। विकेट के पीछे खड़े कामरान अकमल आम मैच की तरह इसमें भी आफ स्टंप के बाहर खड़े हो गए। इससे पाकिस्तान के गेंदबाज अराफात निशाना लगाने से चूक गए और पाकिस्तान समर्थक अपना सिर पीटने लगे। भारत ने बॉल आउट का पहला राउंड अपने नाम कर लिया।

दूसरे राउंड में हरभजन ने बिखेर दी गिल्लियां
दूसरा राउंड निर्णायक साबित होने वाला था। इसलिए धोनी ने अपने सबसे मंझे हुए स्पिनर हरभजन सिंह को गेंद डालने को कहा। हरभजन ने अपनी बलखाती स्पिन गेंद को स्टंप पर हिट कर दिया और इसके साथ ही भारत के समर्थक झूम उठे। जवाब में पाकिस्तान के लीडिंग फास्ट बॉलर उमर गुल गेंद डालने आए और उन्होंने छोटा रनअप लिया। पाकिस्तानी समर्थकों को लग हा था कि गुल जरूर स्टंप उखाड़ देंगे। लेकिन, उनकी बॉल स्टंप के दूर से गुजर गई।

तीसरे राउंड में उथप्पा ने उखाड़ दिया लेग स्टंप
तीसरे रांउड में भारत रॉबिन उथप्पा को गेंद थमाई गई। उथप्पा मैच में गेंदबाजी नहीं करते थे, लेकिन वह गेंद डालने आए और स्टंप उखाड़ दिया। उथप्पा ने अपनी टोपी उतारी और दर्शकों के प्रति सम्मान प्रकट किया। पाकिस्तान के शाहिद अफरीदी गेंद लेकर आए, लेकिन वह भी स्टंप पर निशाना नहीं लगा सके। इस तरह भारत ने तीनों राउंड जी​तकर यह रोमांचक मुकाबला अपने नाम कर लिया। पाकिस्तान का एक भी गेंदबाज स्टंप पर बॉल हिट नहीं कर सका।

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *