Menu
blogid : 312 postid : 977

खिलाड़ियों! इनसे ज़रा संभलकर

जीत एक ऐसा दर्पण है जिसमें सभी अपना हँसता हुआ चेहरा देखना चाहते हैं और खेल के मैदान में जीत हासिल करने के लिए खिलाड़ी कुछ भी कर गुजरते हैं. परन्तु इन सब के बीच कुछ खिलाड़ी ऐसे होते हैं जो किसी की नहीं सुनते. उनका आदर्श होता है जो भी करो अपने मन की करो. लेकिन क्या यह जो भी करते हैं हमेशा सही होता है. शायद नहीं इसीलिए तो इन्हें हम घमंडी कहते हैं और तभी तो हिदायत देते हैं कि “इनसे ज़रा संभलकर.”

आइए नज़र डालें खेल के मैदान के दस घमंडी खिलाड़ियों पर

Yuvraj-Singh1. युवराज सिंह – कुछ समय पूर्व इन्हें टीम इंडिया का युवराज कहा जाता था. स्टुअर्ट ब्रॉड के खिलाफ़ लगाए गए एक ओवर में छः छक्के उनके दमखम के परिचायक थे. मैदान में वह हमेशा टशन में रहते थे लेकिन आज यही टशन या घमंड उन्हें ले डूबा है. पहले जहां वह इंडियन क्रिकेट टीम के अभिन्न हिस्से थे वहीं आज उन्हें टीम में जगह बनाने के लिए जूझना पड़ रहा है. शायद 2010 के आईपीएल में यही घमंड था जिसके कारण किंग्स इलेवन पंजाब की इतनी दुर्दशा हुई थी.

2. केविन पीटरसन – घमंडी खिलाड़ियों की लिस्ट में दूसरा नाम भी क्रिकेटर का है. यह हैं इंग्लैंड के पूर्व कप्तान पीटरसन. एक समय था जब क्रिकेट में पीटरसन का नाम ऊँचाई पर था. लेकिन घमंड के चलते उन्हें कई बार खामियाजा भी भुगतना पड़ा है. हाल ही में एशेज सीरीज में खेल से पहले मेलबोर्न पिच की बुराई करना उनके घमंडी व्यक्तित्व का परिचायक है.

muhammad-ali3. मोहम्मद अली – इस लिस्ट में तीसरा नाम है सदी के महान बॉक्सर मोहम्मद अली का. भले ही बॉक्सिंग रिंग में वह सबसे बेहतरीन थे लेकिन उसके बाद भी वह दूसरे बॉक्सरों को अपने गुरूर का परिचय देते थे. मैच से पहले बयान और बॉक्सिंग रिंग के अंदर या बाहर उनकी करतूतें उनका घमंड बयां करती थीं.

4. माइकल जॉर्डेन – एक साधारण परिवार से उठकर विश्व का सबसे बेहतरीन बॉस्केटबॉल खिलाड़ी बनना आसान नहीं होता लेकिन माइकल जॉर्डेन ने यह कारनामा कर दिखाया. शोहरत के साथ-साथ उन्होंने पैसा भी कमाया लेकिन जितना पैसा आता गया उनका घमंड उतना बढ़ता गया.

jose-mourinho5. जोस मॉरिन्हो – अगर 2003 में पोर्टो और 2010 में इंटर मिलन ने यूईएफए चैम्पियन लीग जीती तो उसके पीछे सबसे बड़ा हाथ उनके कोच जोस मॉरिन्हो का था. इतनी कम उम्र में जो कारनामे उन्होंने किए हैं वह वाकई बेमिसाल हैं, लेकिन इसके अलावा उनको एक अहंकारी कोच के रूप में भी जाना जाता है, जिसे कई बार खेल के दौरान निष्कासित किया गया है.

6. निक फॉल्डो – गोल्फ जगत में निक फॉल्डो का नाम बहुत बड़ा है. नौ गोल्फ ओपन कपों के इस विजेता ने तीन दशक से गोल्फ की दुनिया में बहुत सुनहरे पल देखे. लेकिन इसके अलावा चाहे वह खेल हो या निज़ी जिंदगी निक हमेशा से सुर्खियों में रहते हैं. गुस्सा उनकी नाक पर रहता है और वह किसी भी जीत को खूब ज़ोर-शोर से मनाते हैं और दूसरों के सामने अपना घमंड प्रकट करने से बिल्कुल नहीं कतराते हैं.

lebron-james7. लेब्रोन जेम्स – कहा जाता है कि बॉस्केटबॉल का यह खिलाड़ी अगर अपना घमंड छोड़ दे तो वह दुनिया का सबसे अच्छा खिलाड़ी हो जाएगा. हाल में उनके एक वक्तव्य ने सनसनी भी फैलाई थी जबकि उन्होंने एक निज़ी टीवी चैनल में यह बयान दिया था कि वह अपना क्लब छोड़ना चाहते हैं. इस बयान को इस बार टाइम्स मैगज़ीन में साल के टॉप टेन स्पोर्टिंग इवेंट में भी शुमार किया गया है.

8. माइकल विक – अमेरिकी फुटबॉल में फिलाडेल्फिया के लिए खेलने वाले विक पहले एफ्रो-अमेरिकी खिलाड़ी थे जिसे एनएफ़एल ड्राफ्ट में शामिल किया गाया था. एनएफ़एल में विक दूसरे क्वाटरबैक हैं जिन्होंने सबसे ज़्यादा यार्ड (स्कोर) दौड़ा है. लेकिन इतनी उपलब्धियों के बावजूद कभी डॉग फाइटिंग तो कभी दिवालियापन के कारण सुर्खीयों में रहते रहे हैं. जानने वालों का कहना है कि यह उनका घमंड है जो उनको मुश्किल में डालता रहा है.

Floyd9. फ्लॉयड मेवेदर – नौ बार विश्व चैम्पियन बॉक्सर फ्लॉयड मेवेदर दूसरे बॉक्सर हैं जो इस लिस्ट में शामिल हैं. रिंग के अंदर विरोधियों के हौसले पस्त करने वाले इस खिलाड़ी को अपने बर्ताव के लिए घमंडी कहा जाता है.

10. बैरी बॉन्डस – बेसबॉल की दुनिया में बैरी बॉन्डस का वही नाम है जो क्रिकेट में सचिन का लेकिन वह सचिन जैसे जेंटलमैन नहीं हैं. साथ बार मोस्ट वेल्यूएबल खिलाड़ी चुने गए बॉन्डस को बेसबॉल का जेम्स बॉंड कहा जाता है. लेकिन कभी स्टेरॉयड कांड तो कभी झूठी गवाही और न्याय प्रक्रिया में बाधा पहुँचने के लिए वह सुर्खियों में भी रहे हैं.

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *