Menu
blogid : 312 postid : 519

जारी है लाज बचाने की कोशिश [Commonwealth Games Blog]

soniag3_fix-1_1282212019_mराष्ट्रमंडल खेलों से संबंधित कार्यो और घटनाक्रमों से जुड़ते हुए आज कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने दोषियों के खिलाफ़ सशक्त कार्रवाई करने को कहा. परन्तु इससे पहले उन्होंने खेलों के सफल आयोजन के लिए सभी को साथ आने की जरूरत पर जोर दिया. सोनिया गाँधी ने कांग्रेस संसदीय दल की बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि यह ऐसा समय है कि हम एक साथ मिलकर खेलों की सफलता सुनिश्चित करें क्योंकि खेलों की सफलता देश की सफलता है किसी व्यक्ति विशेष की सफलता नहीं.

वहीँ दूसरी तरफ़ प्रवर्तन निदेशालय राष्ट्रमंडल खेल आयोजन समिति के संयुक्त महानिदेशक एम जयचंद्रन और उप महानिदेशक सुधीर वर्मा को पिछले साल लंदन में क्वीन्स बेटन रिले से संबंधित जांच के संबंध में फिर से समन जारी करेगा. इससे पहले प्रवर्तन निदेशालय संयुक्त महानिदेशक टीएस दरबारी और निलंबित किए गए संजय महेंद्रू से गहन पूछताछ कर चुका है.

Fraser19-1_1282219819_mफ्रेजर की अपील ठन्डे बस्ते में

राष्ट्रमंडल खेलों में लिप्त घोटालों और भ्रष्टाचार का फायदा अब दूसरे लोग भी उठाने लग गए हैं तभी तो आस्ट्रेलिया की महान तैराक डॉन फ्रेजर ने भी मौका पाते हुए आरोपों की झड़ी लगा दी. फ्रेजर ने तो यहाँ तक कह दिया कि दिल्ली में हो रहे राष्ट्रमंडल खेल में आतंकवादी हमले की आशंका है अतः इसका बहिष्कार करना चाहिए. हालांकि, इस अपील को आस्ट्रेलियाई राष्ट्रमंडल खेल संघ (एसीजीए) के मुख्य कार्यकारी अधिकारी पैरी क्रासव्हाइट ने खारिज कर दिया.

commonwealthg-1_1282215018_mएनटीपीसी व पावरग्रिड ने दिया खेलों को झटका

सार्वजनिक क्षेत्र की दो प्रमुख बिजली कंपनियां एनटीपीसी तथा पावरग्रिड ने राष्ट्रमंडल खेलों के विवादास्पद आयोजन और तैयारियों को एक और झटका देते हुए प्रायोजन से हटने का फैसला कर लिया है.

इन दोनों पीएसयू कंपनियों ने इस आयोजन के लिए 60 करोड़ रुपये की प्रतिबद्धता जताई थी, लेकिन विवादों के चलते अब इन्होंने 40 करोड़ रुपये की राशि अपने पास ही रोक रखने का फैसला किया है. इससे पूर्व यह दोनों पीएसयू कंपनियां फरवरी में 20 करोड़ रुपये दे चुकी हैं. लेकिन कंपनी अब राष्ट्रमंडल खेलों की आयोजन समिति को दी गई इस राशि की सरकार द्वारा नियुक्त एजेंसी से आडिट की मांग कर रही है.

इसके अलावा एलजी तथा गोदरेज ग्रुप जैसी निजी कंपनियों ने इस आयोजन से दूरी बनाए रखने का फैसला किया है.

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *