Menu
blogid : 312 postid : 193

अब दुनिया देखेगी, धुरंधरों का महासंग्राम

मैसी की धार, रोनाल्डो की ललकार

कका का वर्चस्व, टोरेज़ का दृढ़संकल्प

रूनी का ज़ज्बा, रिबेरी का क्रोध

अब होगा अफ्रीका में एक युद्ध,

जो कहलाएगा महासंग्राम.

सिर्फ 11 दिन और, फिर शुरू होगा “एक महाकुंभ अफ्रीका में”. जहाँ होगी विश्व की बेहतरीन टीम जो दुनिया की सबसे ख्यातिप्राप्त प्रतियोगिता में शिरकत करेंगी. आइए हम भी इस खेल के साथ जुड़ जाएं जो बहता है संगीत की तरह, भावनाओं के सागर में हम खो जाते हैं इसके दीवाने होकर और तैरने लगते हैं इसकी लहरों में सब सुध-बुध छोड़.

2010 का फीफा विश्व कप अब तक का 19 वां फीफा विश्व कप होगा जो कि अफ्रीका महाद्वीप के देश दक्षिण अफ्रीका में 11 जून से 11 जुलाई तक आयोजित होगा. फीफा द्वारा आयोजित सभी प्रतियोगिताओं में से यह सबसे  प्रमुख अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल प्रतियोगिता है. यह पहली बार होगा कि यह प्रतियोगीता अफ्रीका महाद्वीप के किसी देश में आयोजित होगी. फीफा की चक्रीय प्रणाली के तहत इस बार का फुटबॉल विश्व कप अफ्रीका के किसी देश में होना था. विश्व कप के आयोजन के लिए कुल मिलाकर पाँच देशों ने आवेदन किया जिसमें दक्षिण अफ्रीका ने मोरक्को को 10 के मुकाबले 14 वोटों से हरा कर 2010 में विश्व कप आयोजित करने का गौरव हासिल किया.

2010-logoक्वालिफाइंग का संघर्ष

फुटबॉल विश्व का सबसे लोकप्रिय खेल होने के साथ-साथ सबसे ज़्यादा देशों द्वारा खेला जाता है. 2010 फुटबॉल विश्व कप के लिए विश्व के कुल 207 फुटबॉल खेलने वाले देशों में से 204 देशों ने भाग लिया. पहले दौर के क्वालिफाइंग मैच 25 अगस्त 2007 से खेले गए जो 18 नवम्बर 2009 तक चले यानी कुल मिलकर 848 मैच खेले गए जिसमें 2337 गोल हुए. इन खेले गए क्वालिफाइंग मैचों में कुल मिला कर 31 टीमों ने विश्व कप के लिए क्वालिफाई किया. मेज़बान देश होने के कारण दक्षिण अफ्रीका स्वतः क्वालिफाई कर गया.

henry-hand-ballहेनरी का हैण्डबाल विवाद

फ्रांस और आयरलैंड के मध्य हुए दूसरे प्ले-ऑफ मैच के दौरान फ्रांस के कप्तान थिएरी हेनरी ने प्लेंटी बाक्स के अन्दर दो बार जानबूझकर हैण्डबाल किया जिसे रेफरी नहीं देख पाया और विलियम गलास ने गोल कर फ्रांस को जीत दिलायी. फ्रांसीसी कप्तान के द्वारा किये गए हैण्डबाल से उठे विवाद के कारण फीफा के पारदर्शी खेल के नियमों पर अंगुली उठने लगी और आयरलैंड ने दुबारा मैच करने का आह्वान किया परन्तु इसे नियम के विरुद्ध पाया गया और अंततः फ्रांस ने विश्व कप के लिए क्वालिफाई किया.

2010 विश्व कप दक्षिण अफ्रीका: एक झलक

विश्व कप में भाग लेने वाली टीमों की सूची

1.एशिया फुटबॉल परिसंघ
int@afc

  • ऑस्ट्रेलिया
  • जापान
  • दक्षिण कोरिया
  • उत्तरी कोरिया

2.उत्तर, मध्य अमेरिका और कैरिबियन फुटबॉल एसोसिएशन परिसंघ.

  • होन्डुरस
  • मेक्सिको
  • संयुक्त राज्य अमेरिका

3.यूरोप (यूईएफए).
memberstates_en-uefa_logo-1

  • डेनमार्क
  • इंग्लैंड
  • फ्रांस
  • जर्मनी
  • ग्रीस
  • इटली
  • निदरलैंड
  • पुर्तगाल
  • सर्बिया
  • स्लोवाकिया
  • स्लोवेनिया
  • स्पेन
  • स्विट्ज़रलैंड

4.अफ्रीकी फुटबॉल परिसंघ.
caf-logo

  • अल्जीरिया
  • कैमरून
  • कोट-डि-वर
  • घाना
  • नाइजीरिया
  • दक्षिण अफ्रीका

5.दक्षिण अमेरिकी फुटबॉल परिसंघ
copa_america_2007_10_1600x1200

  • अर्जेंटीना
  • ब्राजील
  • चिली
  • पराग्वे
  • उरुग्वे.

6.ओशिनिया फुटबॉल परिसंघ

  • न्यूज़ीलैंड



इस बार फुटबॉल विश्व कप में कुल मिला कप 64 मुकाबले होंगे जो कि ब्लॉमफ़ोन्टेन, केपटाउन, डरबन, जोहानसबर्ग (दो स्थानों में), किम्बरली, नेल्स्प्रूट, ओर्कने, पोलोकवाने, पोर्ट एलिजाबेथ, प्रिटोरिया, और रसनबर्ग में खेले जाएंगे. फाइनल मुकाबला 11 जुलाई को जोहानसबर्ग के स्पोर्ट्स सिटी स्टेडियम में खेला जाएगा. 32 टीमों को कुल मिलाकर आठ ग्रुपों में बांटा गया है, प्रत्येक ग्रुप में चार टीम होंगी जो एक-दूसरे के खिलाफ़ एक-एक मुकाबला खेलेंगी. प्रत्येक ग्रुप से चोटी की दो टीमें अगले दौर के लिए क्वालफाई करेंगी. अगले दौर में हर टीम को विन और आउट के नियम के हिसाब से खेलना होगा(अगर आप हारे तो आप प्रतियोगिता से बाहर). इस तरह कुल मिला कर एक टीम को फाइनल में जगह बनाने के लिए छः मैच खेलने होंगे.

kakaदावेदारों पर नज़र
पाँच विश्व ख़िताब विजेता ब्राजील को इस बार भी प्रबल दावेदारों में से एक माना जा रहा है. जहाँ उनके पास कका जैसे मिड-फील्डर हैं, वहीं लुइस फबिआनो और रोबिनियो जैसे फारवर्ड भी हैं जो किसी भी रक्षापंक्ति को भेद सकते हैं. इस विश्व कप में ब्राजील का मुख्य रोड़ा स्पेन को कहा जा रहा है. 2008 के यूरो कप विजेता स्पेन ने क्वालफाइंग दौर में शानदार प्रदर्शन किया और अपना एक भी मैच नहीं गवांया. उसके गो़लकीपर कप्तान इकर कसिल्स विश्व के सबसे अच्छे गो़लकीपर हैं, उसके मिड-फील्डर जावि हरनेनडेज़, इनेस्टा और सेस फेब्रेगास अपने पास के द्वारा बेहतरीन खेल खेलते हैं और मैच को अपने नियंत्रण में रखते हैं. स्पेन के पास टोरेज़ और डेविड विला नाम के विश्व के सबसे खतरनाक के फारवर्ड हैं.

lionel-messi-अर्जेंटीना की दावेदारी लीअनो मैसी के कंधो पर होगी. 2009 के फीफा प्लेयर आफ़ दी ईयर को महान खिलाड़ी माराडोना का उत्तराधिकारी कहा जाता है और वह अकेले दम पर मैच का रुख बदल सकते हैं. वहीं पुर्तगाल भी इस बार विश्व कप के दावेदारों में से एक है. उनका खिलाड़ी रोनाल्डो एक बेहतरीन खिलाड़ी है जो कि कला, कौशल, और तेज़ी का धनी है. अगर हम इंग्लैंड की बात करें तो एक बार की विश्व विजेता टीम स्टार खिलाड़ियों से भरी है. रूनी, लम्पार्ड, जेर्राड, टेरी और एशले कोल उनके प्रमुख खिलाड़ी हैं, परन्तु आपसी असमंजस के कारण वह विफल होते रहे हैं. अगर उन्होंने इस पर काबू पा लिया तो शायद उनको रोकना कठिन होगा.

कप्तान माइकल ब्लैक के विश्व कप से बाहर होने के बाद भी जर्मनी को कम नहीं आंका जा सकता. निदरलैंड एक उम्दा टीम है जिनका सामंजस्य देखते बनता है. पर्सी, रोबेन, रफेअल-वेन-ड-वार्ट जैसे खिलाड़ी इसके मज़बूत स्तंभ हैं, वहीं उनके पास सबसे अनुभवी गो़लकीपर कप्तान एडविन-वेन-डर-सार हैं और यही कारण था कि उन्होंने क्वालिफाइंग दौर में ज़ोरदार प्रदर्शन करते हुए अपने ग्रुप में शीर्ष पायदान हासिल किया था. 1998 के विश्व कप का विजेता फ्रांस अपनी दावेदारी कप्तान थिएरी हेनरी, फॉरवर्ड निक्लोस अनेल्का, रिबेरी के बूते पेश करेगा. अंत में हम बात करते हैं पिछले बार की विजेता इटली की. हर बार की तरह इस बार इटली को प्रबल दावेदार तो नहीं कहा जा रहा है परन्तु चार बार की विश्व विजेता इटली ने हमेशा अपने प्रदर्शन से दूसरी टीमों को चौंकाया है कि वह कुछ भी करने में सक्षम है.

jukmeज़कुमी दी लेपर्ड

ज़कुमी इस बार के शुभंकर का नाम है जो एक तेंदुआ है. 16 जून 1994 को जन्मा ज़कुमी एक अवतारीकरण तेंदुआ है जिसके हरे बाल हैं. ज़कुमी शब्द दो शब्दों के मिश्रण से बना है. जाए जोकि दक्षिण अफ्रीका का अंतरराष्ट्रीय संक्षेपण है “कुमी” जिसका अर्थ विभिन्न अफ्रीकन भाषाओं में दस होता है. शुभंकर का रंग पीला और हरा है जोकि मेज़बान देश की पोशाक का रंग है.

फीफा का मुख्य सिद्धांत है नस्लवाद, भेद भाव को समाप्त करना. उनका मुख्य वाक्य है “से नो टू रैशिज्म” अर्थात समाज में विद्यमान काले-गोरे के बीच संघर्ष को समाप्त करना और शांति का माहौल फैलाना.

सही मायनों में फुटबॉल एक खेल से कहीं ऊपर है. चाहे छोटा आदमी हो या बड़ा या औरत सभी इस खेल के दीवाने होते हैं. यह राष्ट्र को जोड़ता है, आपसी टकराव हटाता है और प्रेम का मंत्र फैलाता है. चाहे वह ब्राज़ीलियन साम्बा हो जा फिर हिप-होप गाने सभी इस के साथ झूमते हैं और हर पल अपने-आप को रोमांच से जुड़ा पाते हैं.

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *