Menu
blogid : 5617 postid : 704451

*यादों में*

शब्दस्वर

  • 85 Posts
  • 344 Comments

*यादों में*
—————.spring

आज फिर,
यादों में कोई आ गया है।
.
अलविदा कहकर,
गया था मैं जिसे।
भूलने की,
लाख कोशिश की उसे।
.
फूलों में शायद,
महकता वह रह गया है।
.
साथ उसका,
ही सुहाता था मुझे।
रूप का वह भाव,
भाता था मुझे।
.
मुस्कुराता फूल,
फिर कुछ कह गया है।
.
स्वप्न की दुनिया में,
जीना छोड़कर।
यथार्थ से ही,
आज नाता जोड़कर।
.
आंख से आंसू,
टपकता कह गया है।

——————-
-सुरेन्द्रपाल वैद्य।

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *