Menu
blogid : 316 postid : 1396037

वैक्‍सीन लगवाने के लिए 12 पहचान पत्र मान्‍य, रजिस्‍ट्रेशन के बाद आएगा मैसेज, जानें सवालों के जवाब

पूरे देश में कोरोना टीकाकरण अभियान कल से यानी 16 जनवरी शनिवार से शुरू हो रहा है। इसके लिए पर्याप्‍त मात्रा में वैक्‍सीन की खुराक सीरम इंस्‍टीट्यूट और भारत बायोटेक से हासिल की जा चुकी हैं। वैक्‍सीन लगवाने के लिए कोविन प्‍लेटफॉर्म पर पंजीकरण कराना अनिवार्य है। टीकाकरण के लिए 12 तरह के फोटो पहचान पत्र मान्‍य किए गए हैं। आइये जानते हैं वैक्‍सीन को लेकर महत्‍वपूर्ण सवालों के जवाब।

Rizwan Noor Khan
Rizwan Noor Khan 15 Jan, 2021

कोविन पर पंजीकरण कराना अनिवार्य
स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के अनुसार 16 जनवरी को देश के 2,934 सेंटर्स पर वैक्‍सीन लगाई जाएगी। वैक्‍सीन लगवाने की प्रक्रिया में सबसे पहला चरण कोविन प्‍लेटफॉर्म पर पंजीकरण कराना है। पंजीकरण के दौरान फोटो पहचान पत्र,  मोबाइल नंबर, उम्र, पता आदि जरूरी जानकारी भरनी होगी। दिए गए मोबाइल नंबर पर पहला मैसेज आने से पंजीकरण पुष्टि की होगी। दूसरा मैसेज टीकाकरण का दिन, तारीख और जगह बताएगा।

टीकाकरण सेंटर पर आईडीकार्ड दिखाना होगा
टीकाकरण के दिन सेंटर पर फोटो पहचान पत्र लेकर जाना जरूरी होगा। इसमें अधार कार्ड, वोटर आईडी कार्ड, सर्विस आईडी कार्ड, स्‍वास्‍थ्‍य बीमा कार्ड, मनरेगा जॉब कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पैन कार्ड, बैंक पासबुक, पासपोर्ट समेत कुल 12 तरह के मान्‍य पहचान पत्र में से कोई भी एक लेकर जाना होगा। टीकाकरण के बाद सर्टिफिकेट जारी किए जाएगा।

इन लोगों को लगेगा सबसे पहले टीका
सरकार ने सबसे पहले टीकाकरण के लिए अत्यधिक जोखिम वाले समूहों को चुना है। सबसे पहले स्वास्थ्यकर्मी व फ्रंटलाइन वर्कर्स को लगेगा। इसके बाद 50 साल से अधिक उम्र के लोगों को, पहले से ही किसी बीमारी से ग्रसित लोगों को लगेगा और उसके बाद उन सभी को टीका लगेगा जिन्हें ज़रूरत है।

वैक्‍सीन पूरी तरह सुरक्षित और कारगर
नीति आयोग के सदस्‍य डॉक्‍टर वीके पॉल ने कहा कि टीके पूरी तरह से सुरक्षित हैं, असरदार हैं, आपके मन में किसी तरह की आशंका नहीं होनी
भारतीय वैक्सीन कई ट्रायल तथा परीक्षणों से गुजरी है। यह कोरोना के खिलाफ सटीक और प्रभावकारी है। इस बात का कोई प्रमाण नहीं है कि वैक्सीन यूके तथा दक्षिण अफ्रीका में मिले कोरोना के नए प्रकार के विरुद्ध कारगर नहीं है।

200 रुपये की दर से खरीदी गई है डोज
टीकाकरण अभियान के लिए सीरम इंस्‍टीट्यूट और भारत बायोटेक से कुल 1.65 करोड़ खुराक खरीदी जा चुकी हैं। सीरम इंस्‍टीट्यूट की कोवीशील्‍ड के 1.10 करोड़ डोज लिए गए हैं। जबकि, भारत बायोटेक की कोवैक्‍सीन के 55 लाख डोज खरीदे गए हैं। सरकार ने कोवीशील्‍ड की प्रति खुराक 200 रुपये की दर से और कोवैक्‍सीन की प्रति खुराक 295 रुपये की दर से खरीदी है। दोनों वैक्‍सीन की खुराक की खरीदारी जारी है।

ये भी पढ़ें: वैक्‍सीन से जुड़े सभी सवालों के जवाब यहां जानें 

वैक्‍सीन पर सबसे ज्‍यादा भरोसा भारतीयों को, 28 देशों में सर्वे

दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान 16 जनवरी से

साल 2021 में जनवरी से दिसंबर तक सेहतमंद रहने के 12 तरीके

दुनियाभर में अप्रूव हो चुकी हैं कोरोना की 10 वैक्‍सीन

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *