Menu
blogid : 316 postid : 1393805

यहां अस्पतालों से दूर भाग रहे कोरोना पेशेंट, जानिए क्यों खाली पड़े हैं कोरोना हॉस्पिटल्स के हजारों बेड

Rizwan Noor Khan

13 Jul, 2020

 

 

कोरोना से जंग लड़ने के लिए दुनियाभर के कई मुल्कों ने स्पेशल हॉस्पिटल्स और व्यवस्थाएं कर रखी हैं। इसी कड़ी में बांग्लादेश में भी तैयारियां हैं, लेकिन यहां के कोरोना पेशेंट अस्पतालों में इलाज कराने से दूर भाग रहे हैं। कोरोना मरीजों का कहना है कि वह अस्पताल में मरने से अच्छा घर में मरना पसंद करेंगे।

 

 

 

 

बांग्लादेश के बिगड़ रहे हालात
भारत का पड़ोसी देश बांग्लादेश इन दिनों कोरोना महामारी के खतरे से जूझ रहा है। बांग्लादेश में लगातार नए संक्रमित मामलों में तेजी से इजाफा हो रहा है। रिपोर्ट के मुताबिक यहां हर दिन 3 हजार से ज्यादा नए मामले आ रहे हैं। बांग्लादेश में अब तक 183,795 लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं।

 

 

 

13 हजार से ज्यादा खाली पड़े हैं बेड
अलजजीरा के मुताबिक बांग्लादेश सरकार ने कोरोना से जंग के लिए आईसोलेशन वार्ड और स्पेशल कोरोना हॉस्पिटल्स का इंतजाम किया है। राजधानी ढाका में दो अस्पतालों के करीब 11 हजार से ज्यादा बेड उपलब्ध कराए गए हैं। जबकि, कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित शहरों में शामिल चिटगांव में 2 हजार बेड का अस्पताल है।

 

 

 

 

 

 

स्पेशल कोरोना मरीजों के लिए बने हैं अस्पताल
रिपोर्ट के मुताबिक कोरोना मरीज इन अस्पतालों में इलाज कराने से दूर भाग रहे हैं। कोरोना के लिए स्पेशल तैयार कराए गए इन अस्पतालों के लगभग सभी बेड खाली पड़े हैं। बांग्लादेश का स्वास्थ्य विभाग भी इस बात को स्वीकार करता है। स्वास्थ्य विभाग की उप प्रमुख नसीमा कहती हैं कि कोरोना पेशेंट के अस्पतालों में नहीं आने के पीछे की वजह घर घर तक पहुंचाई जा रही टेलीमेडिशिन सुविधा हैं।

 

 

 

 

अस्पताल में मरने की बजाय घर में मरने की चाह
रिपोर्ट के अनुसार कोरोना पेशेंट का कहना है कि अस्पतालों में सुविधाओं की कमी है। उन्हें नहीं लगता है कि वहां पर उनकी अच्छी देखभाल होगी और बेहतर इलाज मिलेगा। इसी वजह से वह अस्पताल में मरने की बजाय अपने घरों में मरना पसंद करेंगे। वहीं, सरकारी अधिकारी इसके पीछे की वजह पेशेंट में हॉस्पिटल फोबिया को बता रहे हैं।..NEXT

 

 

 

 

 

Read More :

कोरोना को लिटिल फ्लू बताने वाले बोलसोनारो संक्रमित, इस देश में बेकाबू होता जा रहा कोरोना

दुनियाभर में बन रहीं कोरोना की 149 वैक्सीन, आने में लगेगा इतना समय

कोरोना ने पाकिस्तान में कहर ढाया, जुलाई और अगस्त माह होने वाले हैं सबसे खतरनाक

भारत की मदद से 150 देशों के हालात सुधरे, कोरोना महामारी का बने हैं निशाना

दुनिया के 12 देशों की सीमा लांघ नहीं पाया कोरोना, अब तक नहीं मिला एक भी मरीज

 

 

 

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *