Menu
blogid : 316 postid : 1394826

लड़की से रोज ऑनलाइन गेम में हारता था, खुन्नस में लड़के ने उठा लिया खौफनाक कदम

Rizwan Noor Khan

8 Sep, 2020

समाज में पहले ऐसी घटनाएं सामने आती थीं कि महिलाओं और लड़कियों के टैलेंट से ईर्ष्या में लोग उन्हें आगे बढ़ने से रोकने के लिए हद पार कर देते थे। आज भी कभी कभार ऐसी घटनाएं सामने आ जाती हैं। ऐसा ही एक मामला मध्यप्रदेश में देखने को मिला है जब एक लड़की से रोज ऑनलाइन गेम में हारने वाला 11 साल लड़का यह बर्दाश्त नहीं कर सका और साजिश रचते हुए खौफनाक घटना को अंजाम दे दिया।

Image courtesy : REUTERS

मध्यप्रदेश के इंदौर की घटना
एएनआई की रिपोर्ट के अनुसार मध्यप्रदेश के इंदौर के 11 साल के लड़के और 10 साल की लड़की में दोस्ती थी। दोनों लसूडिया मुहल्ले में रहते थे और साथ में रोज ऑनलाइन गेम भी खेलते थे। अपने टैलेंट की वजह से लड़की ऑनलाइन गेम में हर बार जीत जाती थी। कई दिनों से लगातार हार रहा लड़का इसे बर्दाश्त न कर सका।

लड़की पर पत्थर से हमला किया
लड़के ने मिलने के बहाने पड़ोस में रहने वाली उस लड़की को बुला लिया। जब लड़की आ गई तो लड़के ने उसके सिर पत्थर दे मारा। लड़की जब तक संभलती लड़के ने कई बार पत्त्थर मारकर उसका सिर कुचल दिया। पत्थर से गहरी चोट लगने से लड़की की मौके पर ही मौत हो गई।

हार से बेइज्जती महसूस करता था
इंदौर के आईजी हरिनारायण चारी मिश्रा ने बताया कि लड़का कई दिन से ऑनलाइन गेम में लड़की से हार रहा था। एक लड़की के हाथों वह अपनी हार झेल न सका और उसने इस खौफनाक घटना को अंजाम दे दिया। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक लगातार हारने से लड़का खुद को बेइज्जत महसूस करता था।

लड़की पालतू चूहे को भी मार चुका है लड़का
पुलिस के मुताबिक लड़की 5वीं और लड़का क्लास 6 में पड़ता है। दोनों के परिवार हाउसिंग सोसाइटी में रहते हैं। लड़की जीत से नाराज लड़के ने कुछ दिन पहले ही लड़की के पालतू चूहे को भी मार दिया था। पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज के जरिए लड़के की पहचान कर ली है। लड़के ने जुर्म कुबूल किया है। नागालिग बच्चे की इस खौफनाक हरकत से लोग हतप्रभ हैं।

Symbolic image courtesy : REUTERS

सोशल मीडिया पर छाया है मामला
सोशल मीडिया पर इस घटना को लेकर लोगों ने तीखी प्रतिक्रिया दी है। लोगों का कहना है कि इतनी कम उम्र में बच्चों का इस तरह के कदम उठाना उनकी परवरिश, माता पिता के व्यवहार पर भी सवाल उठाता है। सोशल मीडिया पर लोगों ने पैरेंट्स से बच्चों के स्मार्ट गैजेट्स का सही इस्तेमाल करने पर निगरानी रखने की जरूरत है।…NEXT

 

Read More:

फेक कोरोना रिपोर्ट जारी कर ऐंठते थे मोटी रकम, डॉक्टर समेत 3 गिरफ्तार

इस गांव में 16 अगस्त तक एक भी मरीज नहीं था पर अब हर चौथा शख्स पॉजिटिव

40 फीसदी लोगों को इस साल कोरोना वैक्सीन आने की उम्मीद

कोरोना के इलाज में फेल हुई दवा, ट्रायल्स में नहीं मिली सफलता

म्यूजियम से 132 करोड़ की पेंटिंग चोरी

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *