Menu
blogid : 316 postid : 1395169

किडनी पेशेंट के लिए ‘काल’ बना कोरोना, रिसर्च- सबसे ज्यादा खतरे में हैं CKD से जूझ रहे लोग

Rizwan Noor Khan

20 Oct, 2020

कोरोना महामारी ने दुनियाभर में तबाही मचाई है। ताकतवर देश अब तक कोरोना वायरस का तोड़ नहीं ढूंढ पाए हैं। वैक्सीन बनने की प्रक्रिया अभी चल रही है। इस बीच शोधकर्ताओं ने खुलासा किया है कि किडनी पेशेंट के लिए वायरस सबसे बड़ा खतरा है। शोधकर्ताओं का सुझाव है कि जो कोरोना मरीज पहले से किडनी की समस्या से पीड़ित हैं उनकी अतिरिक्त उपचार और देखभाल की जरूरत है।

Image courtesy : REUTERS

किडनी पेशेंट के लिए सबसे ज्यादा खतरा
आईएएनएस की रिपोर्ट के मुताबिक किडनी की पुरानी समस्या से पीड़ित लोगों के लिए कोरोना वायरस सबसे बड़ा रिस्क बनकर सामने आया है। रिसर्च में खुलासा हुआ है कि जो कोरोना मरीज पहले या वर्तमान में किडनी की किसी भी तरह की समस्या से जूझ रहे थे उन पर वायरस ज्यादा तीव्र गति से अटैक कर उनकी जान ले रहा है।

पेंसिलवेनिया के मेडिसिन कॉलेज में रिसर्च
पेंसिलवेनिया के पेन्न स्टेट कॉलेज आफ मेडिसिन के शोधकर्ताओं ने अपनी रिसर्च में पाया है कि chronic kidney disease (CKD) यानी गुर्दे की पुरानी गंभीर समस्या से पीड़ित लोगों की कोरोना से मौत होने का खतरा अधिक है। रिसर्च के मुताबिक जो लोग किडनी इंजरी से भी जूझ रहे हैं उनके लिए भी कोरोना काल की तरह है।

ये बीमारियां भी कोरोना पेशेंट के लिए काल
शोधकर्ताओं के मुताबिक किडनी की समस्या के अलावा भी कई गंभीर बीमारियां हैं जो कोरोना मरीजों के लिए खतरनाक बन रही हैं या बन सकती हैं। इनमें जो कोरोना मरीज ह्रदय रोग, उच्च रक्तचाप, मधुमेह, गंभीर किडनी रोग, स्ट्रोक और कैंसर जैसी समस्या से पीड़ित लोगों के लिए वायरस सबसे खतरनाक है। ऐसे मरीजों की मौत की आशंका बढ़ जाती है।

Image courtesy : REUTERS

अतिरिक्त देखभाल और उच्चस्तरीय इलाज जरूरी
शोधकर्ताओं का सुझाव कि इन गंभीर बीमारियों से ग्रसित कोरोना मरीजों का प्राथमिकता से और उच्च स्तरीय उपचार उपलब्ध कराना होगा। ताकि, कोरोना डेथ रेट को कम किया जा सके। बता दें कि दुनियाभर में अब तक 11 लाख से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। जबकि, 72 हजार से ज्यादा लोग गंभीर स्थिति में हैं, जो जिंदगी और मौत के बीच झूल रहे हैं।

अमेरिका, ब्राजील और भारत में सबसे ज्यादा मौतें
कोरोना से सबसे ज्यादा मौतें अमेरिका, ब्राजील और भारत में हुई हैं। वर्ल्डोमीटर के आंकड़ों के मुताबिक अमेरिका में अब तक कोरोना से मरने वालों की संख्या 2,25,222 पहुंच चुकी है। ब्राजील में 1,54,226 लोग कोरोना से मर चुके हैं। जबकि, भारत में कोरोना से मरने वालों की संख्या 1,15,236 के पार पहुंच गई है। सबसे ज्यादा कोरोना के सीरियस मरीज भी इन्हीं तीनों देशों में हैं।…NEXT

 

डिस्क्लेमर: स्टोरी के टिप्स और सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन्हें किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर नहीं लें। बीमारी या संक्रमण के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

 

Read More: भारत की मदद से 150 देश कोरोना संक्रमण थामने में कामयाब

इन 10 देशों में एक भी कोरोना मरीज की मौत नहीं

यूपी के 10 हजार पुलिसकर्मी हो चुके हैं कोरोना संक्रमित

नाक और मुंह मास्क से ढंके होने पर आंखों से एंट्री ले सकता है कोरोना

इस गांव में 16 अगस्त तक एक भी मरीज नहीं था पर अब हर चौथा शख्स पॉजिटिव

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *