Menu
blogid : 316 postid : 1393866

शरीर में चकत्ते और खुजली हो तो लापरवाही न बरतें, ये कोरोना संक्रमण का संकेत, रिसर्च में दावा

Rizwan Noor Khan

15 Jul, 2020

 

 

कोरोना महामारी ने पूरी दुनिया में तबाही मचा रखी है। माना जा रहा है कि कोरोना वायरस अब खुद को विकसित करता जा रहा है। ब्रिटेन के वैज्ञानिकों ने दावा किया है कि अचानक शरीर में रैशेज होने और खुजली की समस्या कोरोना के लक्षण हैं। वैज्ञानिकों ने इस लक्षण को राष्ट्रीय स्वास्थ्य एजेंसी की लिस्ट में शामिल करने की मांग की है।

 

 

 

 

20 हजार कोरोना मरीजों पर रिसर्च
डेली मेल की रिपोर्ट के मुताबिक लंदन के किंग्स कॉलेज अकादमी ने 20 हजार कोरोना पॉजिटिव लोगों के आंकड़े पेश करते हुए बताया है कि 11 में से एक व्यक्ति शरीर में रैशेज और खुजली की समस्या से ग्रस्त पाया गया है। स्टडी के बाद वैज्ञानिकों ने ब्रिटेन की राष्ट्रीय स्वास्थ्य एजेंसी को कोरोना लक्षणों की लिस्ट में इसे भी शामिल करने की अपील की है।

 

 

 

 

9 फीसदी मरीजों में चकत्ते और खुजली की समस्या
रिपोर्ट के मुताबिक ब्रिटेन की राष्ट्रीय स्वास्थ्य एजेंसी में कोरोना लक्षणों की लिस्ट में तीन प्रमुख लक्षणों को जगह दी गई है। इनमें बुखार, लगातार खांसी और जुबान का स्वाद बदलने के साथ सूंघने की क्षमता पर असर पड़ना है। स्टडी करने वाले वैज्ञानिकों के मुताबिक 9 प्रतिशत कोरोना पॉजिटिव लोगों में चकत्ते और खुजली की समस्या देखी गई, जबकि 8 प्रतिशत मरीजों में त्वचा संबंधी समस्याएं पाई गई हैं।

 

 

 

 

कोरोना लक्षण लिस्ट में शामिल होगा
वैज्ञानिकों ने स्वास्थ्य एजेंसी से अपील करते हुए कहा कि कोरोना लक्षणों की सूची में इन नए लक्षणों को भी आधिकारिक रूप से मान्यता देकर शामिल किया जाए। ताकि इस तरह की समस्या होने पर लोग घर बैठने की बजाय सैंपल टेस्ट कराने जाएं और स्वस्थ रह सकें। ऐसा करने से देश में महामारी को काबू करने में बड़े पैमाने पर मदद हासिल हो सकेगी।

 

 

 

 

अमेरिका ने जारी की है 11 लक्षणों की लिस्ट
सबसे ज्यादा कोरोना वायरस का शिकार बने अमेरिका में कोरोना वायरस को पहचानने के 11 प्राथमिक लक्षणों की सूची तैयार की गई है। इसमें शरीर दर्द, थकान, सिरदर्द, गले में दर्द, सांस में तकलीफ, बुखार को भी शामिल किया गया है। अमेरिकी विशेषज्ञों ने माना है कि कोरोना के और भी लक्षण आगे सामने आ सकते हैं।..NEXT

 

 

 

डिस्क्लेमर: स्टोरी के टिप्स और सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन्हें किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर नहीं लें। बीमारी या संक्रमण के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

 

 

Read More :

यहां अस्पतालों से दूर भाग रहे कोरोना पेशेंट, खाली पड़े हैं कोरोना हॉस्पिटल्स के हजारों बेड

कोरोना को लिटिल फ्लू बताने वाले बोलसोनारो संक्रमित, इस देश में बेकाबू होता जा रहा कोरोना

दुनियाभर में बन रहीं कोरोना की 149 वैक्सीन, आने में लगेगा इतना समय

कोरोना ने पाकिस्तान में कहर ढाया, जुलाई और अगस्त माह होने वाले हैं सबसे खतरनाक

भारत की मदद से 150 देशों के हालात सुधरे, कोरोना महामारी का बने हैं निशाना

दुनिया के 12 देशों की सीमा लांघ नहीं पाया कोरोना, अब तक नहीं मिला एक भी मरीज

 

 

 

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *