Menu
blogid : 316 postid : 1398447

अगर चाय पीने के आदी हैं, तो इससे जुड़ी समस्याओं के बारे में जान लें

गर्मी के मौसम आते ही तापमान में भी काफी बदलाव होने लगता है। इसके साथ ही हमारे शरीर में भी कई तरह के बदलाव होने लगते है, जिसके चलते हमारे खान-पीन में ठंडी चीजों को शामिल करना जरूरी हो जाता है। दूसरी ओर हमारे खान पान में कुछ ऐसी चीजें शामिल रहती है, जिनके हम आदी होते है और चाय भी इन्ही में से एक है।

Geetika Sharma
Geetika Sharma12 May, 2022

अधिकतर लोगों को चाय पीने की आदत (Habit of Tea) होती है। कई लोग सुबह उठते ही सबसे पहले चाय पीना पसंद करते है। आजकल के दौर में सिटिंग जाब का चलन भी बहुत बढ़ गया है। अधिकतर काम बैठे-बैठे इंटरनेट की मदद से कंप्यूटर पर हो जाता है। ऐसे में कुछ लोगों को काम करते हुए पूरा दिन साथ में चाय पीने की आदत होती है और वह दिनभर में दस से बारह कप चाय पी जाते हैं। इससे सेहत से जुड़ी कई समस्याएं होने लगती हैं। आइए जानते हैं चाय से होने वाली समस्याओं (Tea Side Effects) के बारे में:-

tea
  • चाय पीने से पेट से जुड़ी परेशानियां होने लगती है और आपका पाचन तंत्र (Digestive System) भी खराब हो सकता है। पांचन तंत्र खराब होने से खाना पचाने की प्रक्रिया धीमी हो सकती है। आपको गैस और खट्टा पानी बनने की समस्या हो सकती है, जिससे पेट में एसिड बनने लगता है। दूसरी चाय का सेवन आपकी आंतो (intestines) को नुकसान भी पहुंचा सकता है आंतों के खराब होने का खतरा बना रहता है।

 

  • ज्यादा चाया से आपको नींद न आने की समस्या हो सकती है। चाय में कैफिन (caffeine) रहता है, जिसका असर आपके दिमाग पर पड़ता है। कई लोग शाम के समय भी चाय का सेवन करते है, जिससे उन्हे रात को समय से नींद नहीं आती। साथ ही चाय का सेवन आपके शरीर में दवाओं के असर को भी प्रभावित करती है। चाय पीने से शरीर में एंटीबायोटिक का असर भी कम होता है।

 

  • अधिक चाय पीने से दिल की धड़कन पर असर होता है और आपकी धड़कन तेज हो सकती है। दूसरी ओर चाय पीने से शरीर में कोलेस्ट्रोल (cholesterol level) बढ़ता है, जिससे खून का प्रवाह ठीक तरह से आपके दिल तक नहीं पहुंच पाता है और आपको दिल से जुड़ी परेशानियां होने लगती हैं। चाय पीने से बीपी (BP) भी प्रभावित होता है हालांकि खाली पेट चाय (bed tea) पीने से यह ज्यादा प्रभावित होता है।

 

  • डायबिटीज (diabetes) एक ऐसी बीमारी है, जिसका कोई सही इलाज नहीं है। इसे बस अपने खाने-पीने के तरीके और व्यायम से नियंत्रित किया जा सकता है। इस बीच डायबिटीज के रोगियों को चाय पीने के लिए मना किया जाता है। शरीर में कैफीन की मात्रा बढ़ने से गुस्सा, चिड़चिड़ापन और तनाव (Stress) भी बढ़ने लगता है। खासतौर से बेड टी की आदत से आपको स्ट्रेस की समस्या हो सकती है।

Read Comments

    Post a comment

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *

    CAPTCHA
    Refresh