Menu
blogid : 316 postid : 1392092

आज 4 शुभ योग जो बनाएंगे धनवान, जानिए इस सप्‍ताह के व्रत पर्व और शुभ तिथियां

Rizwan Noor Khan

16 Mar, 2020

हिंदू पंचांग के अनुसार आज यानी 16 मार्च को 4 खास संयोग बन रहे हैं। मान्‍यताओं के अनुसार शुभ योग किसी को भी धनवान बना सकते हैं। इसके अलावा अगले 7 दिनों में भी कई खास तिथियां और शुभ फलदायी योग, व्रत पर्व आ रहे हैं। वर्तमान में चल रहे खरमास के दौरान इन शुभ तिथियों और पर्वों का खास महत्‍व बताया गया है।

 

 

 

 

धनवान बनाने वाले 4 मुहूर्त
हिंदू कैलेंडर के अनुसार चैत्र माह के कृष्‍ण पक्ष की अष्‍टमी तिथि है। पुराणों और शास्‍त्रों में इ‍स तिथि को बेहद फलदायी और विशेष स्‍थान दिया गया है। इस अष्‍टमी को 4 विशेष संयोग बन रहे हैं। भगवान कृष्‍ण के लिए अर्पित यह तिथि चैत्र कृष्‍ण अष्‍टमी कहलाती है। इसके अलावा आज यानी अष्टमी को शीतला माता की पूजा और बसोड़ा मुहूर्त भी बन रहा है। जबकि आज ही जैन धर्म के लिए प्रमुख वर्षी तप आरंभ हो रहा है। ऐसी मान्‍यता है कि इस दिन शीतला माता की पूजा से कोई भी व्‍यक्ति धनवान बन सकता है।

 

 

 

 

शीतला अष्टमी, बसोड़ा
शीतला माता को समर्पित यह व्रत चैत्र मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि यानी आज है। इस दिन को शीतलाष्टमी भी कहा जाता है। इसमें व्रत रखने वाले एक दिन पूर्व ही भोजन बना लेते हैं। बासी खाना अष्टमी के दिन मां शीतला को अर्पित किया जाता है। इस बासी खाने को ही बसौड़ा कहते हैं। बासी खाने को प्रसाद स्वरुप ग्रहण किया जाता है। इस व्रत की अवधि 12 घंटे 1 मिनट है। जो 16 मार्च की दोपहर 03:19 बजे से 17 मार्च दोपहर 02:59 बजे तक रहेगा।

 

 

 

 

रामदास जयंती
अमृतसर को बसाने वाले सिखों के चौथे गुरु श्री रामदास की जयंती 17 मार्च दिन मंगलवार को है। गुरु रामदास जी ने लोगों को हिंसा और पाप का रास्‍ता छोड़ अच्छे गुणों को अपनाने का संदेश दिया था।

 

 

 

 

पापमोचनी एकादशी
चैत्र मास के कृष्ण पक्ष की एकादशी तिथि को पापमोचनी एकादशी व्रत है। भगवान विष्णु को समर्पित इस तिथि के नाम से ही पता चलता है कि इस व्रत के पालन से समस्त पापों क नाश हो जाता है। 19 मार्च दिन गुरुवार को पापमोचनी एकादशी पड़ रही है। इस दिन विष्‍णु के चतुर्भुज रूप की पूजा करने का विधान है।

 

 

 

 

शनि प्रदोष व्रत और मधुश्रवा त्रयोदशी
चैत्र मास के कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी तिथि को प्रदोष व्रत का मुहूर्त बन रहा है। इस बार इसका मुहूर्त शनिवार 21 मार्च को होगा। इस दिन शाम के समय भगवान शिव की पूजा अर्चना करने का विधान है।

 

 

 

 

शब-ए-मेराज
इस्‍लामिक कैलेंडर के इस त्‍योहार का खासा महत्‍व है। इस बार यह 23 मार्च को है। ऐसी मान्यता है कि इस दिन ही पैगंबर मोहम्मद साहब की मुलाकात खुदा से हुई थी। इसके बाद मोहम्‍मद साब ने दुनिया के लोगों को नेक रास्‍ते पर चलने के लिए प्रेरित किया था।…NEXT

 

 

 

Read More:

Coronavirus : सीएम योगी ने कोरोना वायरस पर क्‍या ऐलान किया, वीडियो देखें

मालिक से कुत्‍ते में पहुंचा कोरोना वायरस, जांच के रिजल्‍ट से खलबली मची

कोरोना वायरस से बचने के ये 3 सबसे आसान तरीके, WHO से लेकर भारत सरकार भी कर रही प्रमोट

कोरोना वायरस : हेल्‍पलाइन नंबर पर तकलीफ बताइये तुरंत आएगी मेडिकल टीम

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *