Menu
blogid : 316 postid : 1390673

गर्मियों में गैस सिलेंडर फटने की होती है ज्यादा संभावना, दुर्घटना से बचने के लिए इन बातों पर दें ध्यान

कुछ दिनों पहले सोशल मीडिया पर एक खबर बहुत वायरल हो रही थी। जिसमें कई गैस सिलेंडर फटने की आवाजें आ रही थी। आसपास आग जल रही थी और लोग एक के बाद एक सिलेंडर फटने की आवाज सुनकर भाग रहे थे। ऐसे में यह घटना एक सबक भी देती है कि गैस सिलेंडर का सही से रख-रखाव न करने पर हम किस तरह परेशानी में फंस सकते हैं।  गर्मियों में गैस सिलेंडर फटने की घटनाएं सबसे ज्यादा होती है, ऐसे में आपको कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए, जिससे आपके साथ कोई अनहोनी न होने पाए।
एक नजर सावधानियों पर।

Pratima Jaiswal
Pratima Jaiswal 3 Apr, 2019

 

 

गैस स्टोव खरीदते समय एक बुकलेट भी मिलती है, जिसपर गाइडलांइस लिखी होती है, आपको इसे ध्यान से पढ़ना चाहिए।
गैस की गंध आए तो सबसे पहले खुद को शांत रखें और पैनिक न हों।
गलती से भी किचन या घर में मौजूद इलेक्ट्रिक स्विच व अप्लायंसेस को ऑन न करें।
किचन व घर की खिड़कियां व दरवाजे खोल दें।
रेग्युलेटर को चैक करें यदि वह ऑन है तो उसे तुरंत बंद कर दें।
रेग्युलेटर बंद करने पर भी गैस लीक हो रही हो तो उसे निकालकर सेफ्टी कैप लगा दें।
नॉब को भी अच्छे से चैक करें।
गैस को बाहर निकालने के लिए फैन आदि न चलाएं।
घर में यदि कोई दीपक या अगरबत्ती जल रही हो तो उसे बुझा दें।
अपनी डीलर से संपर्क करें और उसे स्थिति के बारे में बताएं ताकि वह आपके पास जल्द से जल्द पहुंच सके।
बच्चों का खासतौर पर ध्यान रखें उन्हें अपने आसपास ही रखें और स्विच आदि से दूर रहने के लिए कहें।

 

 

आग लगने के बाद कदम
गैस लीक के कारण यदि सिलेंडर में आग लग जाए तो एक चादर या टॉवल को तुरंत पानी में भिगाएं और फिर उसे जल्दी से सिलेंडर पर लपेट दें। इससे आग तुरंत बुझ जाएगी और कोई बड़ा हादसा टाला जा सकेगा। आप इमरजेंसी नम्बर 112 भी डॉयल करके फायर ब्रिगेड को आग लगने की जानकारी दे सकते हैं।….Next 

 

Read More :

112 नम्बर डायल करने पर होंगे आपके सभी इमरजेंसी काम, 14 राज्यों में शुरू हुई इस सेवा की जानें खास बातें

फिल्मी डायलॉग नहीं सच में काम की चीज है ‘जादू की झप्पी’ आपकी टेंशन को करती है कम

इन 5 तरीकों से रोकी जा सकती है खाने की बर्बादी, पैसों की भी होगी बचत

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *