Menu
blogid : 316 postid : 1389746

1 जून से बदल गए हैं पार्सपोर्ट और आधार को लेकर ये नियन, जानें क्या हैं बड़े बदलाव

Shilpi Singh

2 Jun, 2018

कल यानि 1 जून से पार्सपोर्ट और आधार कार्ड को लेकर कुछ नियमों में बड़ा बदलाव आया है। सरकार की तरफ से जारी आदेश में उन बदले हुए नियमों को कल से लागू कर दिया गया है। इसके साथ ही विदेश मंत्रालय अब एक और कैटेगिरी में पार्सपोर्ट को लॉन्च करने की तैयरी करेगा, साथ ही पते के प्रूफ्र के तौर पर इसका प्रयोग नहीं किया जा सकेगा। आधार की बात करें तो आपको अपना नंबरो वाला आधार नहीं दिखाना बल्कि इसकी जगह आपको 16 अंकों वाला वर्चुअल आधार नंबर मिलेगा जिसे आप हर जगह इस्तेमाल में ला सकते हैं, ऐसा इसलिए किया दा रहा है ताकि लोगों की सुरक्षा बनी रही।

 

 

नहीं होगा पासपोर्ट पर पते का जिक्र

विदेश मंत्रालय की गाइडलाइन के अनुसार, अब पासपोर्ट की बुकलेट पर आखिरी पन्ने पर पते की डिटेल्स नहीं होगी। इसके स्थान पर एक बारकोड होगा, जिसको स्कैन करके अधिकारी को जानकारी मिल जाएगी। हालांकि यह डिटेल्स पासपोर्ट बुकलेट की नई सीरिज पर होगी। जब तक रीजनल पासपोर्ट ऑफिस के पास पुरानी बुकलेट का स्टॉक मौजूद रहेगा, तब तक आखिरी पन्ने पर पता लिखा जाएगा लेकिन यह अब पते के प्रूफ के तौर पर इसका प्रयोग नहीं किया जा सकेगा।

 

 

आधार नंबर देने की जरूरत नहीं

आज से आपको अपने 12 अंकों का आधार नंबर किसी को देने की जरूरत नहीं है। इसकी बजाय एक वर्चुअल नंबर जनरेट कर सकेंगे, जिससे आप किसी भी तरह का सरकारी वैरीफिकेशन करा सकेंगे। आधार नंबर देने से निजी जानकारी उजागर होने का खतरा रहता था। आप घर बैठे मात्र आसान से तीन स्टेप्स को फॉलो करके अपना 16 अंकों वाला वर्चुअल आधार नंबर जेनरेट कर सकेंगे। हालांकि आधार ने वर्चुअल आईडी के लिए समय सीमा 1 महीने बढ़ाकर 1 जुलाई कर दिया है।

 

 

फॉलो करें यह स्टेप्स

सबसे पहले आपको आधार की वेबसाइट https://uidai.gov.in/ पर जाना होगा। इसके बाद होम पेज पर नीचे की तरफ आधार सर्विस टैब के अंदर वीआईडी जेनरेटर ऑप्शन पर क्लिक करना होगा। क्लिक करने के बाद आपको अपना आधार नंबर, कैप्चा कोड फीड करना होगा और सेंड ओटीपी पर क्लिक करना होगा। इसके बाद आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर ओटीपी कोड आएगा।

 

 

आएंगे दो ऑप्शन

ओटीपी सबमिट करने के बाद आपके पास दो तरह के ऑप्शन आएंगे। पहला नई वीआईडी जेनरेट करने के लिए और दूसरा पहले से जेनरेट की गई वीआईडी को रिट्राइव करने के लिए। आप दोनों में से किसी भी ऑप्शन को क्लिक कर सकते हैं। इसके बाद आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर वीआईडी कोड एसएमएस के जरिए पहुंच जाएगा।…Next

 

Read More:

दूसरे बैंक का ATM यूज करना पड़ सकता है महंगा, जानें क्‍या है वजह

कैश की किल्लत से हैं परेशान, तो इन 4 तरीकों से मिल सकती है राहत

गाड़ियों पर छाए सिंदूरी हनुमान के स्टीकर, जानें क्या है राज!

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *