Menu
blogid : 316 postid : 1391242

सर्दियों में इन दो वस्‍तुओं को खाया तो जा सकती है जान, आपके लिए ये बातें जानना जरूरी

Rizwan Noor Khan

23 Nov, 2019

ठंड के मौसम हर किसी की थाली में भोजन की मात्रा बढ़ जाती है। विशेषज्ञ मानते हैं कि सर्दियों में खास तरह के हार्मोंस के डेवलप होने से हर तरह का भोजन आसानी से पच जाता है। लेकिन, भोजन में शामिल होने वाली दो ऐसी वस्‍तुएं हैं जो आपकी जान के लिए खतरा भी बन सकती हैं। आईए जानते हैं कौन सी वस्‍तुओं को खाने में सावधानी बरतनी चाहिए।

 

 

 

 

प्रोटीन और विटामिन की खान
यूं तो किसी भी खाद्य पदार्थ का अधिक मात्रा में सेवन करना सेहत के लिए खतरना हो सकता है। लेकिन, गरम मसाले का हिस्‍सा जायफल की थोड़ी सी भी मात्रा अधिक होने पर यह आपके लिए भारी नुकसानदायक हो सकती है। वहीं, प्रोटीन और विटामिन की खान कही जाने वाली लाल सोयाबीन को सही तरह से नहीं पकाने पर यह जान भी ले सकती है।

 

 

Image result for soybean red

 

 

सही प्रकिया से नहीं पकाया तो नुकसानदायक
कई शोध में यह बात सामने आ चुकी है कि बींस में प्रोटीन, विटामिन, फाइबर और खनिज की मात्रा खूब होती है। इसलिए चिकित्‍सक इसे खाने की सलाह भी देते हैं। लेकिन, लाल सोयाबीन अगर सही प्रक्रिया अपनाकर पकाया नहीं गया तो यह आपके पाचन तंत्र की बखिया उधेड़ सकता है। यहां तक कि जान के लाले भी पड़ सकते हैं।

 

 

Image result for food lab research

 

 

12 घंटे तक पानी में फुलाएं फिर उबालें
शोधकर्ताओं के मुताबिक लाल सोयाबीन में फाइबर, विटामिन, खनिज और प्रोटीन होने के साथ ही भारी मात्रा में वसा भी होती है। लाल सोयाबीन के सेवन के लिए इसे पकाने से 12 घंटे पहले ही पानी फुलाने के लिए रखना चाहिए और इसे उबालकर ही पकाना चाहिए। खाने में इसकी कम मात्रा ही लेनी चाहिए, अधिक मात्रा बीमार कर सकती है।

 

 

Image result for food lab research

 

 

 

थोड़ी सी भी अधिक मात्रा बीमारी का कारण
विशेषज्ञों के मुताबिक मसालों का महत्‍वपूर्ण हिस्‍सा जायफल की थोड़ी सी भी अधिक मात्रा होने पर यह तत्‍काल कई तरह की बीमारियों को बुलावा दे देता है। इंडोनेशिया में बड़ी संख्‍या में पेड़ों से निकलने वाले जायफल को नॉनवेज बनाने में इस्‍तेमाल किया जाता है। आलू समेत कुछ अन्‍य तरह की रेसीपीज में भी इसका उपयोग होने लगा है।

 

 

Image result for loose motion

 

 

पाचन तंत्र डैमेज होने का खतरा
विशेषज्ञों के अुनसार जायफल की अधिक मात्रा किसी का भी पाचन तंत्र डैमेज कर सकती है। इसके गर्म होने के चलते उल्टियां और दस्‍त शुरू हो जाते हैं। मात्रा अधिक होने पर यह दिमागी संतुलन भी बिगाड़ सकता है और सेवन करने वाले को दौरे भी आने लग सकते हैं। इसके अलावा सीने में दर्द, सांस लेने में दिक्‍कत भी होने लगती है।…Next

 

 

Read More:
हर रोज 10 में 9 लोगों की मौत फेफड़ों की बीमारी सीओपीडी से, एक साल में 30 लाख लोगों की गई जान

टॉयलेट की खोज इंग्‍लैंड के इस आदमी ने की थी, मोहनजोदाड़ो में बनाया गया था पहला ड्रेनेज सिस्‍टम

भारत समेत दुनिया भर के 420 करोड़ लोग खुले में करते हैं शौच, हर साल मरते हैं 40 हजार से ज्‍यादा

समुद्र मंथन से निकले कल्‍प वृक्ष के आगे नतमस्‍तक हुई सरकार, इसलिए बदला गया वृक्ष काटने का फैसला

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *