Menu
blogid : 316 postid : 1388522

8 मार्च को ही क्यों मनाया जाता है महिला दिवस, जानें क्या है इस बार की थीम

हर साल 8 मार्च को दुनियाभर में अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस (International Women’s Day) पूरे विश्व भर में मनाया जाता है। लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि आखिर 8 मार्च ही क्यों इसे मनाने की तारीख चुनी गई और क्यों महिला दिवस के लिए एक खास दिन चुना गया।  जेहन में सवाल उठता है कि इस परंपरा की शुरुआत कब से हुई? साथ ही महिला दिवस मनाने के पीछे मकसद क्या है?

cover


कैसे हुई शुरुआत

1908 में 15000 महिलाओं ने न्यूयॉर्क सिटी में वोटिंग अधिकारों की मांग के लिए, काम के घंटे कम करने के लिए और बेहतर वेतन मिलने के लिए मार्च निकाला। एक साल बाद अमेरिका की सोशलिस्ट पार्टी की घोषणा के अनुसार 1909 में यूनाइटेड स्टेट्स में पहला राष्ट्रीय महिला दिवस 28 फरवरी को मनाया गया। 1910 में clara zetkin (जर्मनी की सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी की महिला ऑफिस की लीडर) नामक महिला ने अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाने का विचार रखा, उन्होंने सुझाव दिया की महिलाओ को अपनी मांगो को आगे बढ़ने के लिए हर देश में अंतराष्ट्रीय महिला दिवस मनाना चाहिए।

womens-day-2016


इन देशों में पहली बार मनाया गया

एक कांफ्रेंस में 17 देशो की 100 से ज्यादा महिलाओ ने इस सुझाव पर सहमती जताई और अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस की स्थापना हुई, इस समय इसका प्रमुख उद्देश्य महिलाओं को वोट का अधिकार दिलवाना था। 19 मार्च 1911 को पहली बार आस्ट्रिया डेनमार्क, जर्मनी और स्विट्ज़रलैंड में अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाया गया। 1913 में इसकी तारीख बदलकर 8 मार्च कर दिया गया और तब से इसे हर साल इसी दिन मनाया जाता है।


444-620x400


1975 में संयुक्त राष्ट्र संघ ने मान्यता दी

सबसे पहले इसे साल 1909 में मनाया गया। इसके बाद इस दिवस को सन् 1975 में संयुक्त राष्ट्र संघ ने मान्यता दी। फिर तो दुनियाभर के देशों में इसे समारोहपूर्वक मनाया जाने लगा। इस दिवस का मकसद महिलाओं के प्रति सम्मान, उनकी प्रशंसा और उनके प्रति अनुराग व्यक्त करना है। इस दिन खासकर उन महिलाओं के प्रति सम्मान प्रकट किया जाता है। जिन्होंने आर्थिक, राजनीतिक और सामाजिक क्षेत्रों में अहम उपलब्धियां हासिल की हैं। खासकर महिलाओं के संघर्ष का उल्लेख करते हुए उनकी सफलता की बानगी पेश की जाती है।


international-womens-day


बराक ओबामा ने मार्च को महिलाओं का महीनाके तौर पर मान्यता दी

इससे एक कदम आगे बढ़ते हुए सन् 2011 में अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने मार्च महीने को ‘महिलाओं का महीना’ के तौर पर मान्यता दी। इसके बाद अमेरिका में मार्च के पूरे महीने महिलाओं की मेहनत और उपलब्धियों को लेकर उन्हें सम्मानित करने की रवायत शुरू हुई।

b4a5ef263d2241d9b02cb72c75f9e1a5_18


#PressforProgress होगी इस बार की थीम

हर साल महिला दिवस के लिए कोई ना कोई थीम निर्धारित की जाती है। इस बार ये थीम है ‘प्रेस फॉर प्रोग्रेस’। इस थीम की घोषणा होते ही सोशल मीडिया पर #PressforProgress ट्रेंड करने लगा है। ये थीम महिलाओं को प्रोत्‍साहित करती है कि वो अपने अधिकारों के लिए आवाज उठाएं।…Next


Read More:

एक नहीं बल्कि तीन बार बिक चुका है ताजमहल, कुतुबमीनार से भी ज्यादा है लंबाई!

सीरिया-इराक से खत्म हो रही IS की सत्ता, तो क्या अब दुनिया भर को बनाएंगे निशाना!

अक्षय ने शहीदों के परिवार को दिया खास तोहफा, साथ में भेजी दिल छू लेने वाली चिट्ठी

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *