Menu
blogid : 316 postid : 1395238

नए कोरोना मरीजों से ज्यादा​ रिकवरी का रिकॉर्ड 15वें दिन भी कायम, 6 लाख एक्टिव केस बचे

Rizwan Noor Khan

28 Oct, 2020

देश में लगातार कोरोना को हराने के लिए फ्रंटलाइन वॉरियर्स जंग लड़ रहे हैं जिसे कई मोर्चों पर सफलता भी मिल रही है। मरीजों को रिकवर करने में बड़े स्तर पर कामयाबी हासिल हो रही है। पिछले 15 दिनों से नए मिलने वाले पॉजिटिव केस की तुलना में अधिक मरीजों को रिकवर किया जा रहा है। देश में अब सिर्फ 6 लाख एक्टिव केस बचे हैं।

Image courtesy : IANS

नए केस
स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के अनुसार भारत में पिछले 24 घंटे में कोराना से संक्रमित 43,893 नए केस पाए गए हैं। बीते दिन 36 हजार नए पॉजिटिव केस दर्ज किए गए थे। 24 घंटे के अंदर ही करीब 6 हजार से अधिक नए केस बढ़ गए हैं। पिछले करीब 15 दिनों से हर दिन पॉजिटिव केस में गिरावट और उछाल देखा जा रहा है।

24 घंटे में मौतें
नए कोरोना पॉजिटिव केस बढ़ने के साथ ही कोरोना से होने वाली मौतों भी बढ़ोत्तरी दर्ज की गई है। पिछले 24 घंटे में 508 मरीजों की मौत हो चुकी है। जबकि, बीते दिन यह संख्या 488 थी। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक भारत में कोरोना वायरस से प्रति दस लाख लोगों पर 87 मौतें हो रही हैं, जबकि विश्व में यह औसत 148 मौतों का है।

Image courtesy : AP

नई रिकवरी
पिछले 15 दिनों से कायम नए मरीजों से ज्यादा रिकवरी का रिकॉर्ड अब बरकरार है। पिछले 24 घंटे में 58,439 कोरोना संक्रमितों को रिकवर करने में सफलता मिली है। यह संख्या नए मिले पॉजिटिव केस से करीब 15 हजार अधिक है। मरीजों के तेजी से ठीक होने से देश का रिकवरी रेट 90.85 फीसदी पर पहुंच गया है।

कुल संख्या और एक्टिव केस
ताजा मामलों को मिलाकर देश में अब पॉजिटिव केस की संख्या 79,90,322 हो गई है। इसमें से 72,59,509 मरीजों को ठीक किया जा चुका है। वहीं, 1,20,010 कोरोना संक्रमितों की अब तक मौत हो चुकी है। 24 घंटे में एक्टिव केस में 15,054 की कमी के बाद कुल एक्टिव केस की संख्या 6,10,803 बची है।

 

Read More: ब्राजील में कोरोना वैक्सीन वॉलंटियर की मौत

भारत की मदद से 150 देश कोरोना संक्रमण थामने में कामयाब

इन 10 देशों में एक भी कोरोना मरीज की मौत नहीं

यूपी के 10 हजार पुलिसकर्मी हो चुके हैं कोरोना संक्रमित

नाक और मुंह मास्क से ढंके होने पर आंखों से एंट्री ले सकता है कोरोना

इस गांव में 16 अगस्त तक एक भी मरीज नहीं था पर अब हर चौथा शख्स पॉजिटिव

Read Comments

Post a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *